वेब पेज क्या है? वेब पेज का स्‍ट्रक्‍चर कैसा होता हैं?

Web Page Hindi

What is Web Page In Hindi

वेब पेज हिंदी में क्या है

एक वेब पेज या वेबपेज आमतौर पर HTML (Hypertext Markup Language) में लिखा गया एक डॉक्यूमेंट होता है, जो इंटरनेट या अन्य नेटवर्कों के जरिए इंटरनेट ब्राउजर का उपयोग करके एक्‍सेस होता है।

एक वेब पेज को URL एड्रेस को एंटर करके एक्सेस किया जाता है और इसमें अन्य वेब पेजों और फाइलों में टेक्स्ट, ग्राफिक्स और हाइपरलिंक हो सकते हैं। अब आप जो पेज पढ़ रहे हैं, वह भी वेब पेज का एक उदाहरण है।

 

How to open a web page in Hindi:

वेब पेज देखने के लिए इंटरनेट एक्सप्लोरर, एज, सफारी, फ़ायरफ़ॉक्स या क्रोम जैसे ब्राउज़र की आवश्यकता होती है। उदाहरण के लिए, आप ब्राउज़र का उपयोग करके इस वेब पेज को पढ़ रहे हैं। एक ब्राउज़र के एड्रेस बार में URL एंटर करके आप एक वेब पेज ओपन कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, ” https://www.itkhoj.com/ ” टाइप करने से आईटी खोज का पेज ओपन हो जाता है।

Web Address क्या है? यूआरएल कैसे काम करता है?

यदि आप उस वेबसाइट का URL नहीं जानते जिसे आप देखना चाहते हैं, तो आप वेब पेज खोजने के लिए एक Search Engine का उपयोग कर सकते हैं या वेब पेज वाले वेबसाइट पर सर्च का उपयोग कर सकते हैं।

Search Engine क्या हैं? सर्च इंजन वास्तव में कैसे काम करता हैं?

 

पहला वेब पेज कब बनाया गया था?

अब लाखों वेब पेज हैं, लेकिन उनमें से कोई भी 20 साल पहले अस्तित्व में नहीं था।

पहला वेब पेज 6 अगस्त 1991 को लाइव हुआ। यह World Wide Web प्रोजेक्ट की जानकारी के लिए समर्पित था और टिम बर्नर्स-ली द्वारा बनाया गया था। यह न्यूक्लियर रिसर्च के लिए यूरोपीय संगठन CERN में एक नेक्सट कंप्यूटर पर चलता था।

इस साइट का उद्देश्य वर्ल्ड वाइड वेब प्रोजेक्‍ट के बारे में जानकारी देना था, जिसमें वेब का वर्णन किया गया और इसका उपयोग कैसे करें के बारे में जानकारी थी।

बर्नर्स-ली के NeXT कंप्यूटर पर CERN में होस्ट किया गया, साइट का URL – http://info.cern.ch था।

बर्नर्स-ली ने अपने आविष्कार से पैसे कमाने की कोशिश नहीं की और अपनी वेब तकनीक को पेटेंट करने के लिए सर्न के कॉल को खारिज कर दिया। वे चाहते थे कि वेब ओपन और मुक्त हो ताकि इसका विस्तार और तेजी से विकास हो सके।

 

What Is Home Page In Hindi:

होम पेज क्या है:

होमपेज या होम पेज एक वेबसाइट के मुख्य पेज का नाम है जहां विजिटर्स साइट के अन्य पेजेस की हाइपरलिंक खोज सकते हैं। डिफ़ॉल्ट रूप से, सभी वेब सर्वर पर होमपेज index.html है, हालांकि, index.htm, index.php, या जो भी डेवलपर तय करता है, वह भी हो सकता है।

होम पेज एक वेबसाइट का प्रारंभिक पेज है, जो इसमें स्‍टोर सभी इनफॉर्मेशन के लिए “पॉइंट ऑफ एंट्री” होता है। यह एक न्‍यूज़ पेपर के फ्रंट पेज के समान है, लेकिन एक होम पेज में उपलब्ध कंटेंट के चयन (या, कुछ मामलों में, सभी) के लिंक होते हैं।

 

Web pages या तो static या dynamic हो सकते हैं।

A) Static Web Page In Hindi:

स्टेटिक वेब पेज को फ्लैट या स्टेशनरी वेब पेज के रूप में भी जाना जाता है। वे ठीक वैसे ही क्‍लायंट के ब्राउज़र पर लोड किए जाते हैं जैसे वे वेब सर्वर पर स्‍टोर होते हैं। ऐसे वेब पेजों में केवल स्‍टेटिक इनफॉर्मेशन होती है। यूजर्स केवल इस जानकारी को पढ़ सकते है लेकिन कोई भी मॉडिफिकेशन को नहीं कर सकते या इनफॉर्मेशन के साथ कम्‍यूनिकेट नहीं कर सकते।

केवल HTML का उपयोग करके स्टेटिक वेब पेज बनाए जाते हैं। Static web pages का उपयोग केवल तब किया जाता है जब इनफॉर्मेशन को मॉडिफाइड करने की आवश्यकता नहीं होती।

 

b) Dynamic Web Page in Hindi:

Dynamic pages में ऐसे कंटेंट होते है जो हर बार एक्सेस किए जाने पर बदल सकते है। ये पेजेस आमतौर पर PHP, Perl, ASP, या JSP जैसी स्क्रिप्टिंग लैग्‍वेज में लिखे जाते हैं। पेजेस की स्क्रिप्ट्स सर्वर पर फ़ंक्शंस चलाती हैं जो डेट और टाइम और डेटाबेस इनफॉर्मेशन जैसी चीजें रिटर्न करती हैं। सभी इनफॉर्मेशन HTML कोड के रूप में रिटर्न आ जाती है, इसलिए जब पेज आपके ब्राउज़र में एक्‍सेस किया जाता है, तो सभी ब्राउज़र को HTML का ट्रांसलेट करना होता है।

इन पेजेस में “सर्वर-साइड” कोड होता है, जो सर्वर को पेज लोड होने पर हर बार यूनिक कंटेंट उत्पन्न करने की अनुमति देता है। उदाहरण के लिए, सर्वर वेब पेज पर वर्तमान समय और दिनांक प्रदर्शित कर सकता है। यह वेब फॉर्म के आधार पर एक यूनिक प्रतिक्रिया का उत्पादन भी कर सकता है जिसे उपयोगकर्ता ने भरा है। कई डायनेमिक पेज डेटाबेस की जानकारी एक्‍सेस करने के लिए सर्वर-साइड कोड का उपयोग करते हैं, जो डेटाबेस में स्‍टोर इनफॉर्मेशन से पेज के कंटेंट को उत्पन्न करने में सक्षम बनाता है। वे वेबसाइट जो डेटाबेस की जानकारी से वेब पेज उत्पन्न करती हैं, अक्सर डेटाबेस-ऑपरेटेड वेबसाइट कहलाती हैं।

वेब ब्राउजर के URL एड्रेस फील्ड में स्थित पेज की फाइल एक्सटेंशन को देखकर ही आप अक्सर बता सकते हैं कि वे पेज स्‍टैटिक या डायनामिक है। यदि यह “.htm” या “.html” है, तो पेज संभवतः static होता है। यदि एक्सटेंशन “.php,” “.asp,” या “.jsp,” है, तो पेज dynamic है।

 

Examples Of A Web Page In Hindi:

एक वेब पेज के उदाहरण:

जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है, यह पेज जिसे आप अभी पढ़ रहे हैं वह HTML वेब पेज का एक उदाहरण है और इंटरनेट पर एक विशिष्ट वेब पेज कैसा दिखता है इसका भी एक उदाहरण हैं। इस वेब पेज में CSS, images, और JavaScript सहित कई एलिमेंट शामिल हैं।

हालाँकि एक वेब पेज का मुख्य भाग HTML का उपयोग करके बनाया गया है, वह HTML कोड जिसे HTML एडिटर का उपयोग करके बनाया जा सकता है और एक मानव द्वारा लिखित या सर्वर-साइड स्क्रिप्ट या अन्य स्क्रिप्ट का उपयोग करके उत्पन्न होता है। आमतौर पर मानव द्वारा बनाया गया एक वेब पेज एक .htm या .html फ़ाइल एक्सटेंशन होता है। उदाहरण के लिए, इस पेज के फ़ाइल नेम “webpage.htm” है। एक स्क्रिप्ट द्वारा उत्पन्न पेज के .cgi, .php, .pl, और अन्य एक्सटेंशन हो सकते हैं।

 

Structure Of Web Page In Hindi:

हालांकि यह संदर्भ विभिन्न HTML एलिमेंट और उनके संबंधित ऐट्रिब्यूट्स को ब्रेक डाउन करके समझाने का लक्ष्य रखता है, आपको यह भी समझना होगा कि ये आइटम बड़ी तस्वीर में कैसे फिट होते हैं। एक वेब पेज इस प्रकार संरचित है।

1) The Doctype

वेब पेज के सोर्स कोड में प्रदर्शित होने वाला पहला आइटम doctype डिक्लेरेशन है। यह वेब ब्राउज़र (या अन्य यूजर एजेंट) को मार्कअप लैग्‍वेज के प्रकार के बारे में जानकारी प्रदान करता है जिसमें पेज लिखा जाता है, जो ब्राउज़र द्वारा कंटेंट को प्रस्तुत करने के तरीके को प्रभावित कर सकता है या नहीं।

पहली नज़र में यह थोड़ा डरावना लग सकता है, लेकिन अच्छी खबर यह है कि अधिकांश WYSIWYG वेब एडिटर, जब आपके द्वारा डयॉक्‍युमेंट टाइप को सिलेक्‍ट करने के बाद आटोमेटिकली आपके लिए doctype बनाते हैं।

यदि आप एक WYSIWYG वेब एडिटिंग पैकेज का उपयोग नहीं कर रहे हैं, तो आप इस संदर्भ में doctypes की लिस्‍ट को रेफर कर सकते हैं और जिसको आप उपयोग करना चाहते हैं उसे कॉपी कर सकते हैं।

doctype इस तरह दिखता है (किसी भी कंटेंट के बिना एक बहुत ही सरल HTML 4.01 पेज में):

<!DOCTYPE HTML PUBLIC “-//W3C//DTD HTML 4.01//EN” “http://www.w3.org/TR/html4/strict.dtd”>

<html>

<head>

<title>Page title</title>

</head>

<body>

</body>

</html>

ऊपर दिए गए उदाहरण में, doctype HTML 4.01 Strict से संबंधित है। इस संदर्भ में, आपको HTML 4.01 के उदाहरण और XHTfML 1.0 और 1.1 भी दिखाई देंगे, जिन्हें इस प्रकार पहचाना जाता है। हालांकि कई एलिमेंट और ऐट्रिब्यूट्स के समान नाम हो सकते हैं, HTML और XHTML के विभिन्न वर्शन के बीच कुछ अलग-अलग वाक्य रचना संबंधी अंतर हैं।

 

2) Document Tree

वेब पेज को एक डयॉक्‍युमेंट ट्री के रूप में माना जा सकता है जिसमें कितने भी नंबर्स की ब्रांचेस हो सकती हैं। यह इस बात के नियम हैं कि प्रत्येक ब्रैंच में कौन से आइटम हो सकते हैं (और ये “Contains” और “Contected by” सेक्‍शन में प्रत्येक एलिमेंट के संदर्भ में विस्तृत हैं)। डॉक्यूमेंट ट्री की अवधारणा को समझने के लिए, इसके ट्री व्यू के साथ, विशिष्ट कंटेंट फीचर्स के साथ एक साधारण वेब पेज पर विचार करना उपयोगी है।

यदि हम इस तुलना को देखें, तो हम देख सकते हैं कि html एलिमेंट में वास्तव में दो एलिमेंट हैं: head और body। Head के दो सब-ब्रैंच हैं- एक meta element और एक title। body element में कई headings, paragraphs, and block quote शामिल हैं।

ध्यान दें कि टैग ओपन और क्‍लोज करने के तरीके में कुछ समरूपता है।

3) html

doctype के तुरंत बाद html element आता है – यह डयॉक्‍यूमेंट ट्री का रूट एलिमेंट है और यह जिसे भी फालो करता हैं वह उसका रूट एलिमेंट है।

यदि root element एक ऐसे डयॉक्‍यूमेंट के संदर्भ में मौजूद है, जिसे XHTML के रूप में इसके doctype द्वारा पहचाना जाता है, तो html एलिमेंट के लिए एक xmlns (XML Namespace) ऐट्रिब्यूट्स की आवश्यकता होती है (यह HTML डाक्यूमेंट्स के लिए आवश्यक नहीं है):

<html xmlns = “http://www.w3.org/1999/xhtml”>

यहाँ XHTML ट्रांज़िशनल पेज का एक उदाहरण दिया गया है:

<!DOCTYPE html PUBLIC “-//W3C//DTD XHTML 1.0 Transitional//EN””http://www.w3.org/TR/xhtml1/DTD/xhtml1-transitional.dtd”><html xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”><head><title>Page title</title></head><body></body></html>

 

Html एलिमेंट डयॉक्‍यूमेंट को दो मुख्य सेक्‍शन में ब्रेक करता है: head और body

a) head

head एलिमेंट में मेटाडेटा-जानकारी है जो डयॉक्‍यूमेंट का वर्णन करती है, या इसे संबंधित रिसोर्सेस से जोड़ता है, जैसे scripts और style sheets कहां जाता हैं।

नीचे दिए गए सरल उदाहरण में अनिवार्य title एलिमेंट शामिल है, जो डयॉक्‍यूमेंट के title या name का प्रतिनिधित्व करता है-अनिवार्य रूप से, यह पहचानता है कि यह डयॉक्‍यूमेंट क्या है। title के अंदर के कंटेंट का उपयोग एक heading प्रदान करने के लिए किया जा सकता है जो ब्राउज़र के टाइटल बार में दिखाई देता है, और जब यूजर इस पेज को favorite के रूप में सेव करता है।

यह सर्च इंजन के लिए पेज का एक सार्थक सारांश प्रदान करने के संदर्भ में बहुत महत्वपूर्ण जानकारी है, जो सर्च रिजल्‍ट में टाइटल कंटेंट को डिस्‍प्‍ले करता है। यहाँ title है:

<!DOCTYPE html PUBLIC “-//W3C//DTD XHTML 1.0 Transitional//EN””http://www.w3.org/TR/xhtml1/DTD/xhtml1-transitional.dtd”><html xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”><head><title>Page title</title></head><body></body></html>

 

title एलिमें के अलावा, head में भी यह एलिमेंट होते है:

i) base

पेज पर लिंक या रिसोर्सेस के लिए base URL को परिभाषित करता है, और विंडो को टार्गेट करता हैं, जिनमें वह कंटेंट ओपन होते है।

 

ii) link

किसी प्रकार के सोर्स को संदर्भित करता है, जो अक्सर एक स्टाइल शीट के लिए होता है जो वेबपेज पर विभिन्न एलिमेंट को कैसे स्टाइल करना है, इसके बारे में निर्देश प्रदान करता है।

 

iii) meta

पेज के बारे में अतिरिक्त जानकारी प्रदान करता है; उदाहरण के लिए, कौन सा कैरेक्‍टर एन्कोडिंग का उपयोग करता है, पेज कंटेंट का सारांश, सर्च इंजन के लिए इंस्‍ट्रक्‍शन कि केंटेंट को इंडेक्‍स करना हैं या नहीं और आदि।

 

iv) object

मीडिया ऑब्जेक्ट के लिए एक सामान्य, बहुउद्देशीय कंटेनर का प्रतिनिधित्व करता है।

 

v) script

शामिल या बाहरी स्क्रिप्ट को संदर्भित करने के लिए उपयोग किया जाता है।

 

vi) style

एम्बेडेड (पृष्ठ-विशिष्ट) CSS styles को परिभाषित करने के लिए एक क्षेत्र प्रदान करता है।

ये सभी एलिमेंट वैकल्पिक हैं और head के भीतर किसी भी क्रम में दिखाई दे सकते हैं। ध्यान दें कि यहां लिस्‍टेड कोई भी एलिमेंट वास्तव में प्रदान किए गए पेज पर दिखाई नहीं देते हैं, लेकिन उनका उपयोग पेज पर कंटेंट को प्रभावित करने के लिए किया जाता है, जो सभी इन एलिमेंट के अंदर परिभाषित होते हैं।

 

b) body

यह वह जगह है जहाँ पेज के कंटेंट होते है। सब कुछ जो आप ब्राउज़र विंडो में देख सकते हैं इस एलिमेंट के अंदर समाहित है, जिसमें पैराग्राफ, लिस्‍ट, लिंक, पिक्‍चर, टेबल, और बहुत कुछ शामिल है। Body एलिमेंट के अपने कुछ विशिष्ट ऐट्रिब्यूट्स हैं, लेकिन इसके अलावा, इस एलिमेंट के बारे में कहने के लिए बहुत कम है। पेज कैसा दिखता है यह पूरी तरह से उस कंटेंट पर निर्भर करेगा जिसे आप इसे भरने का निर्णय लेते हैं।

 

संक्षेप में-

<! DOCTYPE html> – कोड का एक टुकड़ा जो ब्राउज़र को बताता है कि उसे किस प्रकार की जानकारी मिल रही है, ताकि वह आपके वेब पेज को ठीक से डिस्‍प्‍ले कर सके।

<html> – आपके सभी कोड टैग इसके बीच होने चाहिए।

<head> – अपने वेब पेज के बारे में सिन के पिछे कि इनफॉर्मेशन यहां पर होती हैं, जैसे पेज का टाइटल और CSS स्‍टाइलशीट कि लिंक।

<title> –  title टैग के बीच के कंटेंट वेब पेज पर दिखाई नहीं देते है, लेकिन आप इसे सर्च इंजन रिजल्‍ट और ब्राउज़र टैब में देखेंगे।

<body> – वह सब कुछ जो ब्राउज़र में डिस्‍प्‍ले होता है – header, navigation, images, content – सभी body टैग के बीच होता है।

 

Web Page Hindi.

Web Page Hindi, What is Web Page in Hindi.

सारांश
आर्टिकल का नाम
Web Page in Hindi
लेखक की रेटिंग
51star1star1star1star1star