9 सबसे आम वजह जिनसे आपका पीसी वायरस या मैलवेयर से इन्फ्लेक्ट हो सकता हैं

705

Virus Infection Common Cause Hindi

Virus Infection Common Cause Hindiकई अलग अलग थ्रेट है जो आपके कंप्‍यूटर को इन्फ्लेक्ट करते हैं| अगर आपको इस बात की जानकारी हैं की कंप्‍यूटर कैसे इन्फ्लेक्ट होता हैं और साथ में इस बात की सुनिश्चितता की पीसी में एक अच्‍छा एंटीवायरस सॉफ्टवेयर इंस्‍टॉल किया हैं, तो पीसी को मुसीबत से बचाने में मदद हो सकती हैं।

वायसर और मैलवेयर आपके कंप्यूटर में कई तरीकों से प्रवेश कर सकते हैं। यहाँ सबसे आम सिनेरियो है जिसमें वायरस आपके पीसी पर आ सकते हैं:

 

- Advertisement -

1) बिना पढ़े एक्सेप्ट करना:

popup Window - Scenarios In Which Computer get infected with a virusकई बार, जब आप इंटरनेट ब्राउज़िंग कर रहे होते हैं, तो एक युनिक प्लग-इन इंस्‍टॉल करने के लिए कहा जाता है, या एक पॉप-अप विंडो आपको बता रहा प्रतीत होता है कि आपका कंप्यूटर इन्फ्लेक्ट है। कई यूजर आगे बढ़ने से पहले इन्‍हे बिना पढ़े एक्सेप्ट कर देते हैं|

जबकी यह लेटर्स ख़तरे का इशारे दे रहे होते हैं, उन पर क्लिक करने का लोभ नहीं करना चाहिए। किसी भी प्रॉम्‍प्‍ट को एक्सेप्ट करने से पहले या “Yes” पर क्लिक करने से पहले, यह सुनिश्चित करें कि आपने  सब कुछ पढ़ लिया हैं। अगर आपको यह मैसेज समझ नही आ रहा हैं या अजीब लग रहा हैं, तो इसे कभी भी एक्सेप्ट नही करना चाहिए|

इसके अलावा, जब आप कोई प्रोग्राम इंस्‍टॉल करते है, तो Next स्‍क्रीन मे कई बार इस प्रोग्राम के साथ अन्‍य कुछ भी इंस्‍टॉल करने के चेक बॉक्‍स को हमेशा अनचेक करके ही Next को क्लिक करें| क्‍योकि यह अतिरिक्‍त प्रोग्राम पीसी पर आपकी एक्‍शन को मॉनिटर कर सकते है|

 

2) संदिग्ध सोर्स से सॉफ्टवेयर या अन्य प्रोग्राम डाउनलोड करना:

Download from unknown source - Scenarios In Which Computer get infected with a virusइंटरनेट से कुछ भी डाउनलोड मत करें, अगर इनके सोर्स की वैधता पर संदेह हैं। दूसरे शब्दों में, डाउनलोड करने से पहले, यह सुनिश्चित करें कि वह वेबसाइट वैध है।

 

 

3) पायरेटेड सॉफ्टवेयर, म्यूजिक, या मूवीज डाउनलोड करना:

Pirated software - Scenarios In Which Computer get infected with a virusअगर आप या आपके पीसी पर अन्‍य कोई बिट टोरेंट प्रोग्राम या अन्‍य अवैध म्यूजिक, मूवीज या सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर रहे हैं, तो आप खतरे मे हैं| कई बार इन फ़ाइलों और प्राग्रामों में वायरस, स्पाईवेयर या मलिशस सॉफ्टवेयर आपके डाउनलोड के साथ होते हैं|

 

4) अज्ञात या संदिग्ध सोर्स से आए ईमेल लिंक या अटैचमेंट ओपन करना:

Virus from spam mails, linkअगर आपके इनबॉक्‍स में एक ऐसा ईमेल आ जाए जिसकी आपको उम्‍मीद नहीं थी या वह अजीब लग रहा हैं, तो इसे ओपन न करें| इस तरह के ईमेल पर भरोसा नहीं किया जा सकता है, क्योंकि इनमे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज (कोड) हो सकता है कि जो आपके कंप्यूटर को इन्फ्लेक्ट कर सकता हैं। इसके साथ कई बार अटैचमेंट भी होती हैं, जो संभावता पीसी को इन्फ्लेक्ट कर सकती हैं। भले ही यह ईमेल परिचित से आया हो, पर फिर भी कोई भी अटैचमेंट ओपन करने से पहले सावधानी बरतें|

ईमेल मे लिंक भी होती हैं, अगर आपको इस लिंक के बारे मे यक़ीन नही है, तो बेहतर है जोखिम से बचे और इसे ओपन करने से परहेज करे।

इसलिए यहीं बेहतर हैं की क्लिक करने के बाद बहुत देर हो जाएं उससे पहले, ऐसे लिंक जो संदेह जनक लग रही है उस पर क्लिक करने से पहले वह सुरक्षित है यह चेक करें| लिंक या वेबसाइट जो आप ओपन करने जा रहें हैं वह सेफ है या नही यह चेक करने के लिए पिछला पोस्‍ट देखे “अगर आपने लिंक को क्लिक करने से पहले सेफ होने का चेक नहीं किया, तो आप आप मुसीबत में पड़ सकते हैं”

 

5) ऑनलाइन विज्ञापन:

Popup ads -Scenarios In Which Computer get infected with a virusआजकल सिर्फ वेब सर्फिंग करना भी बहुत खतरनाक हो गया है। अधिकांश मैलवेयर वैध वेबसाइटों से आता है, क्योंकि पासवर्ड या सॉफ्टवेयर मे खामिया होती हैं। उदाहरण के लिए, malvertisements – यह एक ऑनलाइन एड है, जिसके अंदर मलिसयस कोड छिपा होता हैं और यह ऑनलाइन विज्ञापन के साथ मैलवेयर का प्रसार करने का एक लोकप्रिय तरीका हैं। ऐसे एड को फालो करने से आपका पीसी इन्फ्लेक्ट हो सकता हैं|

 

6) सेाशल मीडिया:

Social media - Scenarios In Which Computer get infected with a virusतीन-चौथाई से अधिक मैलवेयर और कंप्यूटर वायरस सोशल मीडिया के जरिए कंप्यूटर में प्रवेश कर जाते है। लोगों को स्वाभाविक ही सोशल मीडिया पर भरोसा है क्योंकि दोस्‍तो से और परिचित ब्रांडों से मैसेज प्राप्‍त हो रहे हैं, तो यह स्वाभाविक हो जाता है की इनकी लिंक पर बिना सन्देह क्लिक किया जाता हैं| सोशल मीडिया अब दुनिया का सबसे बड़े हमले का एक माध्‍यम बन गया हैं|

 

7) इन्फ्लेक्टेड डिस्क या ड्राइव को इनसर्ट करना:

external usb drive -Scenarios In Which Computer get infected with a virusध्यान दें कि, अपने कंप्यूटर में कुछ भी एक्‍सटर्नल हार्ड डिस्‍क, डीवीडी या यूएसबी ड्राइव प्‍लग करने से संभवतः वायरस से पीसी इन्फ्लेक्ट हो सकता हैं| इसलिए हमेशा इन्‍हे प्‍लग करने के तुरंत बाद अच्‍छे एंटीवायरस से स्‍कैन कर ले| इसके साथ ही विंडोज का autorun फीचर डिसेबल कर दे|

 

 

 

8) अपने कंप्यूटर को अपडेट न रखना:

update - Scenarios In Which Computer get infected with a virusअपकी ऑपरेटिंग सिस्टम मे हमेशा अपडेट आते हैं, जिनमें कई तो सिक्युरिटी से संबंधीत होते हैं, तो समझदारी इसेमें है, की पीसी को हमेशा अपडेट रखे|

 

 

 

9) पीसी मे अच्‍छा एंटीवायरस न होना:

anti-virus- Scenarios In Which Computer get infected with a virusआपके पीसी पर एक अच्‍छा एंटीवायरस और स्पाईवेयर या मैलवेयर इंस्‍टॉल होना ही चाहिए| अगर आपके पीसी पर एंटीवायरस और स्पाईवेयर या मैलवेयर नही हैं तो आप मुसीबत को आमंत्रण दे रहे हैं|

 

 

आप वायरस से बचने के लिए क्या कर सकते है:

स्मार्ट काम करे , तेजी से नहीं। कंप्यूटर इन्फ्लेक्‍शन होने का सबसे बड़ा रहस्य यह है कि लोग बुनियादी सर्वोत्तम प्रथाओं का पालन नहीं करते|

 

Virus Infection Common Cause Hindi

9 सबसे आम वजह जिनसे आपका पीसी वायरस या मैलवेयर से इन्फ्लेक्ट हो सकता हैं

9 Most Common Cause Through Which Computer Get Infected With A Virus Or Spyware in Hindi

Virus Infection Common Cause Hindi. Viruses and other malware can enter your computer in any number of ways. Here are the most common scenarios in which a virus can make it onto your computer: Virus Infection Common Cause Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.