क्या करें जब आपका घर का इंटरनेट कनेक्शन अंडरपरफॉर्म करे

26

Troubleshooting Slow Internet Connection

Troubleshooting Slow Internet Connection

ब्रॉडबैंड राउटर कॉन्फ़िगरेशन एरर, वायरलेस हस्तक्षेप या कई अन्य तकनीकी समस्याओं में से आपके इंटरनेट कनेक्शन की स्‍पीड और स्‍टैबिलिटी पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। संभावित रूप से महंगी तकनीकी सहायता लेने से पहले अपने स्‍लो इंटरनेट कनेक्शन के कारणों का निदान करें और अपने दम पर ठीक करें।

 

01) बैकग्राउंड में रन हो रहे प्रोग्राम्‍स को बंद करें जो बैंडविड्थ का इस्तेमाल करते हैं

Troubleshooting Slow Internet Connection

कुछ सॉफ़्टवेयर एप्लिकेशन, जैसे विंडोज अपडेट और अन्य सॉफ़्टवेयर अपडेटर, बैकग्राउंड प्रोसेस रन करते हैं जो अन्य ऐप के पीछे छिपे हुए होते हैं या सिस्टम ट्रे में मिनिमाइज़ होते हैं, जहां वे चुपचाप नेटवर्क रिसोर्सेस का उपभोग करते हैं। वॉर्म के विपरीत, इन एप्लिकेशन को उपयोगी काम करने के लिए डिज़ाइन किया गया है और डिवाइस से रिमूव नहीं किया जाना चाहिए।

गेम और अन्य प्रोग्राम जो वीडियो के साथ काम करते हैं, उन्हें बहुत अधिक बैंडविड्थ की आवश्यकता होती है और इसलिए, रन होते समय, उस बैंडविड्थ को सीमित कर देते हैं जो अन्य ऐप के लिए उपलब्ध है।

किसी यूजर के लिए यह भूलना आसान है कि इस तरह की चीजें आपके पीसी पर बैकग्राउंड में रन हो रही हैं। जब आप स्‍लो नेटवर्क स्‍पीड को ट्रबलशूट करते हैं, तो इस तरह कि बैकग्राउंड नेटवर्क एक्टिविटी के लिए अपने कंप्यूटर को चेक करें।

लेकिन अन्य नेटवर्क एक्टिविटी को मत भूलना जो समग्र बैंडविड्थ को प्रभावित कर सकते हैं। यहां तक ​​कि अगर वे सीधे एक दूसरे के साथ कम्‍युनिकेट नहीं कर रहे हैं, तो भी स्मार्ट टीवी पर स्ट्रीमिंग हो रही फिल्में, एक कैमरा का लगातार एचडी वीडियो रिले करना, और म्‍यूजि़क  बजाने वाले स्मार्ट स्पीकर जैसी चीजें, नेटवर्क पर सब कुछ धीमा कर सकती हैं।

कई गेम आटोमेटिकली डाउनलोडर्स रन करते हैं जो आपके द्वारा अतिरिक्त हस्तक्षेप या अनुमोदन के बिना गेम को पैच करते हैं। यदि आपकी डाउनलोड स्‍पीड अचानक स्‍लो लगती है, तो पता करें कि क्या आपका पसंदीदा गेम कुछ गीगाबाइट पैच फ़ाइलों को डाउनलोड कर रहा है।

 

02) सिग्नल इंटरफेरेंस से बचें जो आपके इंटरनेट की गति को धीमा कर देता है

Troubleshooting Slow Internet Connection

वाई-फाई और अन्य प्रकार के वायरलेस कनेक्शन अक्सर सिग्नल हस्तक्षेप के कारण खराब प्रदर्शन करते हैं, जिससे कंप्यूटर को ओवरलैप को दूर करने के लिए मैसेजेज को लगातार पुन: भेजने की आवश्यकता होती है।

घरेलू उपकरण और आपके पड़ोसी के वायरलेस नेटवर्क आपके कंप्यूटर में हस्तक्षेप कर सकते हैं। बेहतर प्रदर्शन के लिए अपने राउटर को बदलें और अपना वाई-फाई चैनल नंबर बदलें। सामान्य तौर पर, आपका डिवाइस राउटर के जितना करीब होगा, वाई-फाई कनेक्शन उतना ही बेहतर होगा।

यह पुष्टि करने के लिए कि क्या वायरलेस हस्तक्षेप स्‍लो इंटरनेट कनेक्शन का कारण है, यह मापने के लिए कंप्यूटर को वाई-फाई से कनेक्ट करें कि यह कितना अच्छा प्रदर्शन करता है। फिर, उसी कंप्यूटर को वायर्ड नेटवर्क से कनेक्ट करें और प्रदर्शन में किसी भी बदलाव पर ध्यान दें।

यदि केबल बेहतर कनेक्शन की अनुमति देता है, तो समस्या वायरलेस कनेक्शन में हो सकती है। राउटर को स्थानांतरित करने के बजाय, आप एक मेश नेटवर्क सेटअप या सिग्नल रिपीटर का विकल्प चुन सकते हैं।

फायरप्लेसेस जैसे बड़े, घने ऑब्जेक्ट दीवारों से अधिक वाई-फाई सिग्नल को ब्लॉक करते हैं। एक डिवाइस जो एक राउटर के करीब है, लेकिन एक बैरियर द्वारा ब्‍लॉक है, सफलतापूर्वक कनेक्ट नहीं हो सकता।

 

03) सुनिश्चित करें कि आपका राउटर और अन्य नेटवर्क डिवाइसेस काम कर रहा है

Troubleshooting Slow Internet Connection

जब राउटर, मॉडेम या केबल में खराबी होती है, तो वे पूरी स्‍पीड से नेटवर्क ट्रैफ़िक को ठीक से सपोर्ट नहीं करते। नेटवर्क डिवाइसेस में कुछ तकनीकी गड़बड़ियां परफॉर्मेंस को नकारात्मक रूप से प्रभावित करती हैं, हालांकि कनेक्शन अभी भी किए जा सकते हैं।

संभावित रूप से दोषपूर्ण डिवाइसेस का निवारण करने के लिए, विभिन्न कॉन्फ़िगरेशन के साथ प्रयोग करते समय अपने गियर को अस्थायी रूप से पुनर्व्यवस्थित और पुन: कॉन्फ़िगर करें। सिस्टम के एक विशिष्ट कंपोनेंट में स्‍लो परफॉर्मेंस को अलग करने के लिए व्यवस्थित रूप से राउटर को बायपास करने, केबलों को बदलने और कई डिवाइसेस के साथ परीक्षण करने का प्रयास करें। फिर, तय करें कि क्या इसे अपग्रेड, रिपेयर या रिप्‍लेस किया जा सकता है।

 

04) वॉर्म और अन्य मैलवेयर से सावधान रहें

इंटरनेट वर्म एक दुर्भावनापूर्ण सॉफ़्टवेयर प्रोग्राम है जो कंप्यूटर नेटवर्क के माध्यम से डिवाइस से डिवाइस तक फैलता है। यदि आपका कोई कंप्यूटर किसी इंटरनेट वर्म या अन्य मैलवेयर से संक्रमित हो जाता है, तो वे अनायास ही आपके ज्ञान के बिना नेटवर्क ट्रैफ़िक उत्पन्न कर सकते हैं, और आपके इंटरनेट कनेक्शन स्‍लो होने का कारण बन सकते हैं।

वायरस और अन्य मैलवेयर के लिए नियमित रूप से स्कैन करें।

वॉर्म और मैलवेयर को पकड़ने और हटाने के लिए अप-टू-डेट एंटी-वायरस सॉफ़्टवेयर ऑन रखें।

मैलवेयर रिमूवेबल टूल आज़माएं।

 

05) अपने कनेक्शन को गति देने के लिए अपनी राउटर सेटिंग्स को चेक करें

एक नेटवर्क के केंद्र बिंदु के रूप में, एक ब्रॉडबैंड राउटर स्‍लो इंटरनेट कनेक्शन के लिए जिम्मेदार हो सकता है अगर यह अनुचित तरीके से कॉन्फ़िगर किया गया हो। उदाहरण के लिए, किसी राउटर के MTU को अनुचित रूप से सेट करने पर परफॉर्मेंस समस्याएँ होती हैं यदि यह बहुत अधिक या बहुत कम सेट हो।

सुनिश्चित करें कि आपके राउटर की सेटिंग्स मैन्युफैक्चरर के डयॉक्‍युमेंटेशन और आपके इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर की सिफारिशों के अनुरूप हैं।

राउटर के कॉन्फ़िगरेशन में आपके द्वारा किए गए किसी भी परिवर्तन को रिकॉर्ड करें ताकि यदि आवश्यक हो तो आप उन्हें बाद में पूर्ववत कर सकें।

 

06) चेक करें कि क्या आपके नेटवर्क की स्‍पीड स्‍लो है

कभी-कभी अपने इंटरनेट कनेक्शन की क्‍वालिटी को चेक करने के लिए स्‍पीड टेस्‍ट रन करें। इन परीक्षणों से पता चलता है कि आपके लोकल कंप्यूटर का आउटबाउंड कनेक्शन बिगड़ा हुआ है या नहीं। यदि आप स्‍पीड टेस्‍ट पर डिसेंट थ्रूपुट प्राप्त करते हैं, लेकिन आपके कंप्यूटर का कनेक्शन अभी भी स्‍लो लगता है, तो समस्या आपके कंप्यूटर (जैसे, एक्टिव डाउनलोड सेशन या आपके डिवाइस पर मेमोरी, डिस्क, या CPU का अधिकतम उपयोग) में हो है।

यदि आपका कंप्यूटर सिस्टम मेमोरी, डिस्क इनपुट / आउटपुट, या सीपीयू साइकिलिंग के लिए 80 प्रतिशत से अधिक निरंतर उपयोग करता है, तो कंप्यूटर इष्टतम प्रदर्शन बनाए रखने के लिए संघर्ष कर सकता है। नेटवर्क स्लोडाउन होता है – इसलिए नहीं कि नेटवर्क समस्याग्रस्त है, बल्कि इसलिए कि कंप्यूटर पर अधिक भार डाला गया है।

विंडोज 10 में नेटवर्क परफॉर्मेंस को प्रभावित कर रहा है या नहीं, यह निर्धारित करने के लिए रिलेटिव रिसोर्सेस उपयोग की जांच करने के लिए, Start बटन पर राइट-क्लिक करें, Task Manager को सिलेक्‍ट करें और Performance को चुनें।

 

07) अपने इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर को कॉल करें

इंटरनेट की स्‍पीड अंततः सर्विस प्रोवाइडर पर निर्भर करती है। आपका ISP अपने नेटवर्क कॉन्फ़िगरेशन को बदल सकता है या तकनीकी कठिनाइयों का सामना कर सकता है जो अनजाने में आपके स्‍लो इंटरनेट कनेक्शन का कारण बनता है। ISP जानबूझकर आपके नेटवर्क के परफॉर्मेंस को कम करने वाले नेटवर्क पर फिल्टर या कंट्रोल इंस्‍टॉल कर सकता है।

अपने सर्विस प्रोवाइडर से संपर्क करने में संकोच न करें यदि आपको संदेह है कि यह आपके स्‍लो इंटरनेट कनेक्शन के लिए जिम्मेदार है।

विभिन्न प्रकार के इंटरनेट कनेक्शन अलग-अलग ट्रेड-ऑफ पेश करते हैं। यदि आपके पास DSL कनेक्शन है और पीक अवर्स जैसे शाम और सप्ताहांत की अवधि के दौरान स्‍लो-डाउन का अनुभव करते हैं, तो हो सकता है कि कई कनेक्‍टेड घर आपके पड़ोस में समान एक्‍सेस पॉइंट का उपयोग कर रहे हों।

11 छुपे हुए कारण जिनकी वजह से आपका इंटरनेट इतना स्‍लो है