आप क्या जानते हैं SSD क्या है? SSD और Hard Disk के बीच क्या अंतर है?

SSD in Hindi

SSD Hindi

हेल्लो दोस्तों, अगर आपने कभी नया लैपटॉप या डेस्कटॉप कंप्यूटर ख़रीदा है तो SSD का नाम तो जरूर सुना होगा क्यूंकि यह आजकल बहुत ही तेजी से पोपुलर हो रही है और कंप्यूटर की स्पीड का एक बड़ा कारण भी बन गयी है। अगर आप नहीं जानते हैं की SSD क्या होती हैं और यह कैसे काम करती है तो इस पोस्ट को आगे पढ़ते रहिये क्योंकि इसमें हम इसी बारे में जानेंगे की यह क्या होती हैं? कैसे काम करती हैं और Hard disk यानी HDD से कैसे अलग है तो आइये जानते हैं।

SSD Full Form:

Full Form of SSD is –

Solid State Drive

 

SSD Full Form in Hindi:

SSD का फुल फॉर्म होता है

Solid State Drive

 

SSD Meaning in Hindi:

SSD (सॉलिड-स्टेट ड्राइव) एक प्रकार का नॉनवॉलेशियल स्टोरेज मीडिया है जो सॉलिड-स्टेट फ्लैश मेमोरी पर लगातार डेटा स्टोर करता है।

 

What is SSD in Hindi:

SSD क्या है?

दोस्तों, SSD का फुल फॉर्म होता है Solid State Drive। यह भी हमारे कंप्यूटर में उपलब्ध Hard disk की तरह ही Data स्टोर करने का ही काम करती है लेकिन Hard Disk की तेज़ काम करती है इसके तेज़ काम करने के पीछे कई रीज़न है लेकिन अगर सीधे शब्दों में कहा जाए तो SSD hard disk का अपडेटेड या नया वर्शन है जिसे नयी technology का इस्तेमाल करके बनाया गया है यह साधारण हार्ड डिस्क के मुकाबले वज़न में हल्की और छोटी होती है और साथ ही मेहेंगी भी।

SSD का अबिष्कार इसीलिए किया गया है ताकि कंप्यूटर को efficient फ़ास्ट और कम पॉवर consume करने वाला बनाया जा सके और यही SSD की ख़ास बाते हैं की यह HDD के मुकाबले बहुत फ़ास्ट efficient और कम power consume करती है। SSD flash storage का ही एक रूप होती है जिस तरह से मेमोरी कार्ड या पेन ड्राइव होते हैं।

 

Types of SSD in Hindi:

SSD के कई टाइप्स होते हैं जिन्हें उनकी कनेक्टिविटी और स्पीड के हिसाब से बाटा गया है जो कुछ इस प्रकार है।

 

1) SATA SSD:

इस तरह की SSD दिखने में एक लैपटॉप Hard Drive की तरह ही होती है जो सिंपल SATA कनेक्टर को सपोर्ट करती है बिलकुल वैसे ही जैसे की Hard Disk। यह SSD का सबसे सिंपल फॉर्म फैक्टर है जिसे आप देखकर ही पहचान सकते हैं। सबसे पहले मार्केट में इसी तरह की SSDs आई थी और अभी भी चलती है। इस तरह की SSD को आजकल चलने वाले किसी भी PC में इस्तेमाल किया जा सकता है।

 

2) mSATA SSD:

 

mSATA यानी micro SATA SSD नार्मल SATA SSD से connectivity और form factor दोनों में अलग होती हैं यह नार्मल SSD से साइज़ में काफी छोटी और दिखने में काफी अलग होती है यह एक तरह से सामान्य RAM स्टिक की तरह दिखाई देती है और इसकी कनेक्टिविटी की बात करें तो इसे हर PC में इस्तेमाल नहीं किया जा सकता इसको इस्तेमाल करने के लिए आपके PC mSATA पोर्ट का होना बहुत जरूरी है इस तरह की SSDs लैपटॉप में इस्तेमाल की जाती है।

 

3) M.2 SSD:

M.2 SSD in Hindi

 

इस तरह की SSDs दिखने में तो mSATA की तरह ही होती हैं लेकिन यह इसका अपडेटेड वर्शन है जो mSATA से फ़ास्ट तो है ही लेकिन छोटी होने के बावजूद भी यह दोनों तरह की कनेक्टिविटी को सपोर्ट करती है यानी इसे आप नार्मल SATA केबल से भी कनेक्ट कर सकते हैं और mSATA से भी mSATA एक PCI-E एक्सप्रेस पोर्ट की तरह ही होता है लेकिन यह थोडा छोटा और specially इस तरह की SSDs को कनेक्ट करने में ही काम में लिए जाता है।

 

4) SSHD:

SSHD को पूरी तरह से SSD नहीं कहा जा सकता क्यूंकि यह Solid State Drive और Hard Disk दोनों को मिलाकर बनाई जाती है इसमें कुछ मेमोरी SSD की होती है और कुछ Hard Disk की यानी यह Hard Disk और SSD दोनों के बीच की चीज़ होती है इसे आजकल के Laptops में इस्तेमाल किया जाता है।

 

SSD कैसे काम करती है?

जैसा की आप जानते ही हैं की Hard Disk में एक मैग्नेटिक disk होती है जिसके घुमने की बजह से Hard Disk में data ट्रान्सफर और एक्‍सेस हो पता है। लेकिन SSD में ऐसा नहीं होता इसमें सारा काम सेमीकंडक्टर के द्वारा होता है इसमें कई सारी cheaps लगी होती हैं बिलकुल RAM की तरह और क्यूंकि सेमीकंडक्टर मैगनेट से ज्यादा अच्छे से आपस में कम्यूनिकेट कर लेते हैं इसीलिए यह इतनी फ़ास्ट होती है।

कंप्यूटर हार्ड ड्राइव के बारे में सब कुछ जो आपको पता होना चाहिए

 

Difference Between SSD and HDD in Hindi:

SSD और HDD में अंतर

  • SSD की स्पीड Hard Disk से फ़ास्ट होती है जबकि Hard Disk SSD से बहुत ज्यादा स्लो होती है।
  • अगर पॉवर की बात करें तो Hard Disk के मुकावले काफी कम पॉवर लेती है।
  • SSD एक नार्मल Hard Disk के मुकाबले साइज़ में भी छोटी होती है और क्यूंकि Hard Disk एक mechenical ड्राइव होती है जो disk के घुमने से चलती है इसलिए यह थोडा नॉइज़ भी करती है जबकि SSD एक Flash Storage deivce होता है जिसमे चिप्स लगे होते हैं इसलिए यह बिलकुल भी नॉइज़ नहीं करती।
  • SSD, Hard Disk के मुकाबले काफी मेहेंगी होती है अगर आप 120 GB SSD ड्राइव लेते हैं तो यह आपको लगभग 4,000 रुपये तक पड़ सकती है जबकि इसी प्राइस की अगर आप Hard Disk खरीदते हैं तो आप 1TB तक की storage वाली Hard Disk खरीद सकते हैं।

यह सब तो ठीक है लेकिन अब बात करते हैं की हमारे लिए क्या बेटर है।

Magnetic Disk Hindi में! मैग्नेटिक डिस्क क्या हैं?

 

मुझे अपने पीसी में कौनसी हार्ड लगानी चाहिए?

दोस्तों, इस सवाल का जवाब totally हमारी जरूरत पर depend करता है की हम अपने PC को किस काम के लिए इस्तेमाल करेंगे। अगर आपको बहुत ही ज्यादा अच्छी परफॉरमेंस वाला PC बनाना है तो आप SSD की तरफ जा सकते हैं लेकिन अगर आपको एक सिंपल PC बनाना है जिसको आप अपने पर्सनल use में लेना चाहते हैं तो आप Hard Disk का इस्तेमाल बड़ी ही आसानी से कर सकते है और अगर आप काहे तो एक लिमिटेड साइज़ की SSD खरीद कर Operating System उसमे लोड कर सकते हैं।

दोस्तों, मुझे पूरी उम्मीद है की आपको मेरे द्वारा दी गयी यह छोटी सी जानकारी पसंद आई होगी और आपको SSD क्या है और कैसे काम करती है इसके बारे में थोडा बहुत जानने को मिला होगा। अगर आपका इस विषय में कोई भी सवाल या सुझाव है तो हमें निचे कमेंट में जरूर बताएं।

 

लेखक: इस आर्टिकल को हरिओम वर्मा ने लिखा हैं, जो कि www.techtofact.com के co-founder हैं। वे technology और internet से संबंधित जानकारी को अपने ब्‍लॉग के माध्यम से देते हैं।

 

SSD Hindi.

SSD Hindi, SSD in Hindi, Solid State Storage In Hindi, SSD Kya Hai, SSD Means In Hindi.

2 COMMENTS

Comments are closed.