सोशल मीडिया क्या हैं? सोशल मीडिया के जंगल में आपका गाइड

Social Media Hindi

सोशल मीडिया एक वाक्यांश है जिसे हम इनदिनों बहुत इस्तेमाल करते हैं, अक्सर यह जानने के लिएकि हम फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम,स्नैपचैट और जैसे अन्य साइटों और ऐप्स पर क्या पोस्ट करते हैं।

लेकिन अगर हम इस शब्द का उपयोग फेसबुक जैसी साइट का वर्णन करने के लिए करते हैं, और डिग जैसी साइट, साथ ही विकिपीडिया जैसी साइट, और यहां तक ​​कि एक ऐसा ऐप जिसे व्‍हॉटस्ऐप के नाम से जाना जाता हैं, तो यह और अधिक भ्रमित हो जाना शुरू कर देता है। वैसे भी सोशल मीडिया है क्या?

इस शब्द का प्रयोग इतनी अस्पष्ट रूप से किया जाता है कि इसका उपयोग मूल रूप से आज इंटरनेट पर किसी भी वेबसाइट का वर्णन करने के लिए किया जा सकता है। या शायद नहीं। कुछ लोगों के पास सोशल मीडिया का अधिक प्रतिबंधित दृष्टिकोण होता है, जो इसे सोशल नेटवर्किंग (फेसबुक, ट्विटर इत्यादि) के समान समझा जाता है। अन्य लोग ब्लॉग को सोशल मीडिया श्रेणी के अंतर्गत होने पर विचार नहीं करते।

तो, सोशलमीडिया क्या है?

What is Social Media in Hindi:

सोशल मीडिया क्या है?

सोशल मीडिया उन लोगों के बीच बातचीत केसाधनों को संदर्भित करता है जिनमें वे आभासी कम्युनिटीज और नेटवर्क में इनफॉर्मेशनऔर विचारों का निर्माण, शेयर, और / या एक्‍सचेंज करते हैं। कम्युनिकेशन और मार्केटिंग ऑफिसेस मुख्यफेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, स्नैपचैट, यूट्यूब और वीमियो अकाउंट को मैनेज करते है।

Social Media Kya Hai In Hindi:

सोशल मीडिया उन वेबसाइटों और ऐपलीकेशन को संदर्भित करता है जो लोगों को कंटेंट को त्वरित, कुशलतापूर्वक और वास्तविक समय में शेयर करने की अनुमति देने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं।

अधिकांश लोग सोशल मीडिया को अपने स्मार्टफोन या टैबलेट पर ऐप्स के रूप में परिभाषित करते हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि यह कम्‍युनिकेशन टूल कंप्यूटर के साथ शुरू हुआ। यह गलत धारणा इस तथ्य से उत्पन्न होती है कि अधिकांश सोशल मीडिया यूजर्स ऐप्स के माध्यम से अपने टूल को एक्‍सेस करते हैं।

रीयल-टाइम में फोटो,राय, इवेंट इत्यादि शेयर करने की क्षमता नेजिस तरह से हम रहते हैं और साथ ही, जिस तरह से हम व्यवसायकरते हैं, उसे बदल दिया है। रिटेलर्स जो सोशल मीडिया को अपनीमार्केटिंग रणनीति के अभिन्न अंग के रूप में उपयोग करते हैं, आमतौर पर गौर करने लायक परिणाम देखते हैं। लेकिन सफल सोशल मीडिया की कुंजीइसे अतिरिक्त वस्तु की तरह व्यवहार करना नहीं है, बल्कि इसेअपने सभी मार्केटिंग प्रयासों के समान देखभाल, सम्मान औरध्यान से प्रबंध करना है।

Common Social Media Features in Hindi:

आम सोशल मीडिया विशेषताएं

सोशल मीडिया साइट की कुछ आम विशेषताएं हैं,तो यदि आप इस बात पर सवाल कर रहे हैं कि किसी विशेष साइट को सोशलमीडिया के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है या नहीं, तोइनमें से कम से कम एक विशेषता को देखने का प्रयास करें।

1) User accounts:

यदि कोई साइट विजिटर्स को अपने स्वयं काअकाउंट बनाने की अनुमति देती है, तो वे लॉग इन कर सकतेहैं, तो यह एक अच्छा संकेत है कि सोशल इंटरैक्‍शन होगा। आप यूजरअकाउंट के बिना किसी जानकारी को वास्तव में शेयर नहीं कर सकते हैं या दूसरों केसाथ ऑनलाइन बातचीत नहीं कर सकते।

2) Profile pages:

चूंकि सोशल मीडिया कम्युनिकेशन के बारे मेंहै,इसलिए एक व्यक्ति को प्रतिनिधित्व करने के लिए अक्सर एक प्रोफाइलपेज आवश्यक होता है। इसमें अक्सर यूजर की इनफॉर्मेशन होती हैं, जैसे प्रोफाइल फोटो, बायो, वेबसाइट,रिसेंट पोस्टों की फीड, सिफारिशें, रिसेंट एक्टिविटी आदि के बारे में जानकारी शामिल होती है।

3) Friends, followers, groups, hashtags and so on:

व्यक्ति अन्य यूजर्स के साथ कनेक्‍ट होने केलिए अपने अकाउंट का उपयोग करते हैं। वे उन्हें कुछ प्रकार की इनफॉर्मेशन कीसदस्यता लेने के लिए भी उपयोग कर सकते हैं।

4) News feeds:

जब यूजर्स सोशल मीडिया पर अन्य यूजर्स केसाथ कनेक्‍ट होते हैं, तो वे मूल रूप से कह रहेहैं, “मैं इन लोगों से जानकारी प्राप्त करना चाहताहूं।” यह जानकारी उनके न्‍यूज़ फ़ीड के माध्यम से रीयल-टाइम में उनके लिएअपडेट की जाती है।

5) Personalization:

सोशल मीडिया साइट्स आमतौर पर यूजर्स को अपनीयूजर सेटिंग्स को कॉन्फ़िगर करने, विशिष्ट तरीके सेदेखने के लिए अपनी प्रोफ़ाइल को कस्टमाइज़ करने, अपनेदोस्तों या फालोअर्स को ऑर्गनाइज़ करने, उनके न्‍यूज़ फ़ीडमें दिखाई देने वाली इनफॉर्मेशन को मैनेज करने और उनके द्वारा किए गए कार्यों पर प्रतिक्रियादेने के लिए लचीलापन देती हैं।

6) Notifications:

कोई भी साइट या ऐप जो विशिष्ट जानकारी केबारे में यूजर्स को सूचित करता है निश्चित रूप से सोशल मीडिया कटैगरी में आता है। यूजर्सके पास इन नोटिफिकेशन्स पर पूर्ण कंट्रोल होता है और वे जो नोटिफिकेशन्स चाहते हैंकेवल उन्हें प्राप्त करना चुन सकते हैं।

7) Information updating, saving or posting:

यदि कोई साइट या ऐप आपको यूजर्स अकाउंट केसाथ या उसके बिना बिल्कुल कुछ भी पोस्ट करने की अनुमति देता है,तो यह सोशल है! यह एक साधारण टेक्‍स्‍ट-बेस मैसेज, एक फोटो अपलोड, एक यूट्यूब वीडियो, एक आर्टिकल या किसी और चीज का लिंक हो सकता है।

8) Like buttons and comment sections:

सोशल मीडिया पर हम सबसे आम दो तरीकों सेबातचीत करते हैं जो बटनों के माध्यम से होते हैं जो “Like” प्लस “Comments”हैं,जहां हम अपने विचार शेयर कर सकते हैं।

9) Review, rating or voting systems:

लाइक और कमेंटस् करने के अलावा,बहुत से सोशल मीडिया साइट्स और ऐप्स कम्युनिटी के सामूहिक प्रयासोंपर भरोसा करते हैं ताकि वे जानकारी के बारे में जान सकें या रेट कर सकें। इस सोशलमीडिया फीचर का उपयोग करने वाली अपनी पसंदीदा शॉपिंग साइट्स या फिल्म समीक्षासाइटों के बारे में सोचें।

Difference Between Social Media and Social Networking in Hindi:

सोशल मीडिया और सोशल नेटवर्किंग के बीच क्या अंतर है?

जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है, बहुत से लोग सोशल मीडिया और सोशल नेटवर्किंग को एक दूसरे के रूप में देखते हैं जैसे कि उनका मतलब एक ही चीज़ है। हालांकि अंतर सूक्ष्म है, लेकिन वे एक वही नहीं हैं। सोशल नेटवर्किंग वास्तव में सोशल मीडिया की एक उपश्रेणी है।

सोशल मीडिया और सोशल नेटवर्किंग के बीच अंतर को समझने का सबसे आसान तरीका अलग-अलग शब्दों “मीडिया” और “नेटवर्किंग” के बारे में सोचकर है। मीडिया उस सूचना को संदर्भित करता है जिसे आप वास्तव में शेयर कर रहे हैं-चाहे वह किसी लेख, वीडियो, एनिमेटेड जीआईएफ, पीडीएफ डयॉक्‍यूमेंट, एक सिंपल स्‍टेटस अपडेट या कुछ और का लिंक हो।

दूसरी तरफ, नेटवर्किंग आपके दर्शकों के साथ क्या करते है और उनके साथ आपके संबंध के बारे हैं। आपके नेटवर्क में दोस्तों, रिश्तेदारों, सहयोगियों, आपके पिछले, वर्तमान ग्राहकों, सलाहकारों और यहां तक ​​कि पूर्ण अजनबियों जैसे लोगों को शामिल किया जा सकता है।

वे निश्चित रूप से ओवरलैप करते हैं, यही कारण है कि यह भ्रमित हो जाता है। उदाहरण के लिए, आप सोशल नेटवर्क से लाइक और कमेंटस् पाने के लिए मीडिया को शेयर कर सकते हैं, जो सोशल नेटवर्किंग का एक रूप हैं।

लेकिन आप Reddit पर एक लिंक भी upvote कर सकते हैं, जो एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है, समुदाय की मदद करने और अन्य यूजर्स के साथ संबंध बनाने के इरादे के बिना आप अपने विचार रख सकते है।

अभी भी उलझन में हैं?सोशल मीडिया को फल के रूप में सोचने की कोशिश करो। सेब, केले, संतरे, अंगूर, जामुन, खरबूजे और अनानस व्यापक फल श्रेणी का हिस्साहैं, सोशल नेटवर्किंग, सोशल न्यूज,सोशल बुकमार्किंग, विकी, ब्लॉग और प्राइवेट वेब मैसेजिंग व्यापक सोशल मीडिया श्रेणी का हिस्सा हैं।

Some Known Issues With Social Media?

सोशल मीडिया के साथ कुछ ज्ञात मुद्दे क्या हैं?

सोशल मीडिया आपके दोस्तों, मशहूर हस्तियों की प्रशंसा करने वाले ब्रांड और आपके द्वारा फालो किए जाने वाले ब्रांडों के साथ केवल एक मजेदार और गेम नहीं है। ऐसी कई सामान्य समस्याएं हैं जो सोशल मीडिया के अपने प्रयास के बावजूद अधिकांश प्रमुख सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पूरी तरह से हल नहीं हुई हैं।

1) Spam:

सोशल मीडिया स्पैमर के लिए आसान बनाता है -असली लोगों और बॉट्स – कंटेंट के साथ अन्य लोगों पर बमबारी करने के लिए। यदि आपकेपास ट्विटर अकाउंट है, तो संभवतः आपने कुछस्पैम्बोट फालो या इंटरैक्शन का अनुभव किया है। इसी प्रकार, यदिआप एक वर्डप्रेस ब्लॉग चलाते हैं, तो आपको स्पैम कमेंट आएहोंगे या आप दो स्पैम फ़िल्टर में फंस गए हो सकते है।

2) Cyberbullying/Cyberstalking:

बच्चे और किशोर साइबर धमकी के लिए विशेष रूपसे अतिसंवेदनशील होते हैं क्योंकि सोशल मीडिया पर पोस्ट करने की बात आने पर वेअधिक जोखिम लेते हैं। और अब जब हम सभी अपने मोबाइल डिवाइसेस के माध्यम से सोशलमीडिया पर इंटरैक्‍ट करते हैं, तो अधिकांश प्रमुखप्लेटफार्म साइबरस्टॉकर्स के लिए दरवाजे खोलने के लिए हमारे लोकेशन को शेयर करनासंभव बनाता है।

3) Self-image manipulation:

सोशल मीडिया पर जब कोई यूजर अपने बारे में पोस्ट करता हैं, तो यह केवल उसके जीवन का एक छोटा सा हिस्सा होता है। जबकि फालोअर्स किसी ऐसे व्यक्ति को देख सकते हैं जो सोशल मीडिया पर अपनी पोस्ट के माध्यम से खुश और जीवित रहता है, जिससे उन्हें तुलनात्मक रूप से उबाऊ या अपर्याप्त महसूस होता है।

सच्चाई यह है कि यूजर्स पूरी तरह से कंट्रोलकर सकते है कि वे अपने जीवन के कौन से हिस्सों को ब्रॉडकास्‍ट करते हैं और कौनसे हिस्सोंको नहीं।

4) Information overload:

200 से अधिक फेसबुक फ्रैंड या 1,000 से अधिक ट्विटर अकाउंट को फालो करना असामान्य नहीं है। इतने सारे अकाउंट कोफालो करने पर नए कंटेंट को पोस्ट करने वाले बहुत से लोग होते हैं तो ऐसे में इसेबनाए रखना लगभग असंभव है।

5) Fake news:

कई वेबसाइटें ट्रैफिक पाने के लिए सोशलमीडिया पर अपनी पूरी तरह से झूठी न्‍यूज़ स्‍टोरीज के लिंक को बढ़ावा देती हैं। कईयूजर्स को यह पहली बार में पता नहीं चलता कि वे नकली हैं।

6) Privacy/Security:

अच्छी सुरक्षा उपायों के बावजूद कई सोशलमीडिया प्लेटफार्मों को समय-समय पर हैक किया जाता है। कुछ साइट तो प्राइवेसी ऑप्‍शनको भी ऑफर नहीं करते हैं ताकी यूजर्स अपनी इनफॉर्मेशन को प्राइवेट रख सके,जैसा कि वे चाहते हैं।

Benefit Of Social Media In Hindi:

सोशल मीडिया के ऊपर दिए गए कुछ ज्ञात मुद्दों के साथ इसके अपने फायदे भी हैं, जिनपर एक नज़र डालना आवश्यक हैं।

Social Media Ke Fayde In Hindi –

वैसे तो सोशल मीडिया के कई लाभ, जिनमें से निम्न कुछ हैं-

1) Connectivity:

सोशल मीडिया का पहला और मुख्य लाभकनेक्टिविटी है। कहीं से भी लोग किसी के साथ जुड़ सकते हैं,स्थान और धर्म के बावजूद। सोशल मीडिया की सुंदरता यह है कि आप किसीके साथ सीखने और अपने विचारों को शेयर करने के लिए जुड़ सकते हैं।

2) Education:

सोशल मीडिया के छात्रों और शिक्षकों के लिएबहुत सारे फायदे हैं। सोशल मीडिया के माध्यम से विशेषज्ञों और प्रोफेशनल्‍स को लोगोंको शिक्षित करना बहुत आसान है। आप किसी से भी सीखने और किसी भी क्षेत्र के बारेमें अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए किसी को फालो कर सकते हैं। आपके स्थान और शिक्षापृष्ठभूमि के बावजूद आप इसके लिए पेमेंट किए बिना स्वयं को शिक्षित कर सकते हैं।

3) Help:

सहायता और मार्गदर्शन पाने के लिए आप अपने इश्‍युजको समुदाय के साथ शेयर कर सकते हैं। चाहे वह धन या सलाह के रूप में मदद हो,आप इसे उस समुदाय से प्राप्त कर सकते हैं, जिसकेसाथ आप जुड़े हुए हैं।

4) Information and Updates:

सोशल मीडिया का मुख्य लाभ यह है कि आपदुनिया भर में नवीनतम घटनाओं से खुद को अपडेट करते हैं। ज्यादातर समय,टेलीविज़न और प्रिंट मीडिया इन दिनों पक्षपातपूर्ण हैं और सच्चे मैसेजको व्यक्त नहीं करते हैं। सोशल मीडिया की मदद से आप कुछ शोध करके तथ्यों और सच्चीजानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

5) Promotion:

चाहे आपके पास ऑफ़लाइन व्यवसाय हो या ऑनलाइन हो, आप अपने व्यवसाय को सबसे बड़े ऑडियंस के लिए प्रचारित कर सकते हैं। पूरी दुनिया आपके लिए खुली है, और उन्हें बढ़ावा दे सकती है।

इससे व्यवसाय लाभदायक और कम महंगे होते हैं,क्योंकि व्यवसाय पर किए गए अधिकांश खर्च विज्ञापन और प्रचार के लिएहोते हैं। सही ऑडियंस से जुड़ने के लिए सोशल मीडिया पर लगातार और नियमित रूप सेशामिल होने से इसे कम किया जा सकता है।

6) Noble Cause:

सोशल मीडिया का उपयोग महान कारणों के लिए भीकिया जा सकता है। उदाहरण के लिए, एक गैर सरकारी संगठन,सामाजिक कल्याण गतिविधियों और जरूरतमंद लोगों के लिए दान को बढ़ावादेना। लोग ज़रूरतमंद लोगों के लिए दान के लिए सोशल मीडिया का उपयोग कर रहे हैं औरयह ऐसे लोगों की मदद करने का एक त्वरित तरीका हो सकता है।

7) Awareness:

सोशल मीडिया जागरूकता पैदा करता है और लोगोंके जीवन के तरीके को नवाचार करता है। यह सोशल मीडिया है जिसने लोगों को नई औरअभिनव कंटेंट खोजने में मदद की है जो व्यक्तिगत जीवन को बढ़ा सकते हैं। किसानों सेशिक्षकों तक, छात्रों से वकीलों तक, सोसायटी के सभी व्यक्ति सोशल मीडिया से लाभ पा सकते हैं  इसके जागरूकता फैक्‍टर से लाभ हो सकता है।

8) Helps Govt and Agencies Fight Crime:

यह सोशल मीडिया के फायदों में से एक है कियह अपराधों से लड़ने के लिए अपराधियों को जासूसी करने और पकड़ने के लिए सरकारों औरसुरक्षा एजेंसियों की सहायता करता है।

9) Improves Business Reputation:

जैसे कि यह किसी भी व्यावसायिक प्रतिष्ठा कोबर्बाद कर सकता है, यह व्यापार की बिक्री औरप्रतिष्ठा में भी सुधार कर सकता है। एक कंपनी के बारे में सकारात्मक कमेंट और शेयरिंगउन्हें बिक्री और सद्भावना में मदद कर सकता है। चूंकि लोग सोशल मीडिया पर जो चाहेंशेयर करने के लिए स्वतंत्र हैं, इसलिए अच्छे शब्दों को शेयर करतेसमय सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

10) Helps in Building Communities:

चूंकि हमारी दुनिया में विभिन्न धर्म और विश्वास हैं। सोशल मीडिया अपने धर्म के समुदाय में निर्माण और भाग लेने में मदद करता है और इसके बारे में चर्चा करने और ज्ञान पाने में मदद करता है।

इसी तरह, विभिन्नसमुदायों के लोग संबंधित चिजों पर चर्चा और शेयर करने के लिए जुड़ सकते हैं।उदाहरण के लिए गेम प्रेमी गेम से संबंधित समुदायों में शामिल हो सकता है, कार प्रेमी कारों से संबंधित समुदायों में शामिल हो सकता है और इसी तरह।

Effect Of Social Media On Youth In Hindi:

युवाओं पर सोशल मीडिया का प्रभाव:

सोशल मीडिया आज हमारे समाज में इस तरह से शामिल हो गया है कि यदि आप किसी सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म में नहीं हैं, तो लोगों के लिए आपको गंभीरता से लेना असंभव है।

हर कोई सोशल मीडिया में है- युवा, बूढ़े, समृद्ध, गरीब इत्यादि। जब ऑनलाइन सामाजिक करण की बात आती है तो हर कोई हमेशा उन्माद में रहता है। यहां तक ​​कि कॉर्पोरेट दुनिया बैंडविगॉन में कूद गई है और कंपनियां ऑनलाइन सक्रिय हैं, पोस्ट अपडेट कर रही हैं और सवालों का जवाब दे रही हैं।

चुनने के लिए कई सोशल नेटवर्क्स हैं; कुछ लोकप्रिय में फेसबुक, ट्विटर, स्नैपचैट और इंस्टाग्राम शामिल हैं। चूंकि सोशल मीडिया की लोकप्रियता पूरी दुनिया में फैली है, इसलिए इन नेटवर्कों के बारे में मिश्रित भावनाएं हुई हैं की वे युवाओं को कैसे प्रभावित करते हैं। तो, सोशल मीडिया युवाओं को कैसे प्रभावित करता है?

इस सवाल का जवाब देने के लिए, हमें युवाओं पर सोशल मीडिया के सकारात्मक और नकारात्मक दोनों प्रभावों को देखना होगा। पहले के साथ जाकर, सोशल मीडिया ने दुनिया को वैश्विक गांव में बदने का काम कर दिया है। युवा बटन के बस एक क्लिक से पृथ्वी के अन्य हिस्सों के लोगों के साथ बातचीत कर सकते हैं।

इन बातचीत के माध्यम से, युवा विचार शेयर कर सकते हैं, सूचना प्राप्त कर सकते हैं और कई अवसरों को एक्‍सपोज भी कर सकते हैं। दूसरा, सोशल मीडिया उन्हें नए दोस्तों को बनाने का अवसर प्रदान करता है और उन्हें अपने पुराने दोस्तों को बनाए रखने की अनुमति देता है।

सोशल मीडिया के साथ, वे अपने पूर्व दोस्तों को बस अपना नाम टाइप करके या सिर्फ उस स्कूल को इंडिकेट करके देख सकते हैं जिसमें उन्होंने भाग लिया था। फिर, नेटवर्क सभी काम करेगा और उन सभी लोगों को लिंक करेगा जिनके साथ वे स्कूल गए थे।

सिर्फ सामाजिक करण के अलावा, सोशल नेटवर्क कॉर्पोरेट दुनिया के लिए अपने सामान और सेवाओं का विज्ञापन करने के लिए सरहद बन गए हैं। वे या तो सीधे इसे कर सकते हैं या उनके प्रॉडक्‍ट का विज्ञापन करने के लिए हस्तियों को पेमेंट कर सकते हैं। इसलिए, सोशल मीडिया युवाओं के लिए अवसरों की एक श्रृंखला प्रदान करता है। लोकप्रिय युवाओं को निगमों द्वारा ऑनलाइन अपने ब्रांड एंबेसडर होने के लिए किराए पर लिया जा सकता है।

इसके अलावा, वे पॉडकास्ट और vlogs चलाकर काफी धन कमा सकते हैं। सोशल मीडिया एक एवेन्यू भी है कि वे अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए उपयोग कर सकते हैं। युवा सोशल मीडिया के माध्यम से व्यवसाय चला सकते हैं। वे जो सामान और सेवाएं प्रदान करते हैं, उन्हें  दोस्तों और समूहों में और व्यापक कवरेज के लिए, वे शेयर कर सकते हैं, वे अधिकतर लोगों तक पहुंचने के लिए अपनी पोस्ट प्रायोजित कर सकते हैं।

यह एक ऐसा एवेन्यू भी है जहां लोग अपनी ईमानदार राय व्यक्त कर सकते हैं। जो लोग स्वाभाविक रूप से शर्मीले होते हैं वे इन सार्वजनिक मंचों पर गंभीर असर के डर के बिना कुछ भी कह सकते हैं।

यह कम्युनिकेशन का एक सस्ता साधन भी है। केवल इंटरनेट बैंडविड्थ और कुछ कीस्ट्रोक की आवश्यकता है और यूजर्स पृथ्वी पर लगभग किसी के साथ संवाद कर सकते हैं। सोशल मीडिया ने लोगों के लिए धरती पर कहीं से भी काम करना संभव बना दिया है। इसे आभासी टीमिंग के रूप में जाना जाता है। हालांकि एक ही ऑर्गनाइजेशन में हाइअर किया जाता है, लेकिन ये वर्चुअल वर्क ग्रुप पृथ्वी के विभिन्न हिस्सों से संचालित होते हैं। हालांकि, उनका संचार ऑनलाइन किया जाता है।

सिक्के के दूसरे पहलू में, इंटरनेट एक अनियमित दुनिया है जिसमें पालन करने के लिए नैतिकता या कानून का कोई रूप नहीं है। युवाओं को हत्या पीड़ितों, दुर्घटनाओं, बलात्कार के मामलों या यहां तक ​​कि बंदूक शूटिंग, हिंसा, मौखिक विस्फोट, नग्नता और स्पष्ट यौन सामग्री के वीडियो फुटेज से एक्‍सेपोज किया गया है। ये सभी भयानक कंटेंट युवाओं के डोमेन में हैं और जब लंबे समय वे इनके साथ रहते है तो गंभीर मानसिक ब्रेकडाउन का कारण बन सकता है।

उदाहरण के लिए, उनमें असली दुनिया के हमलों और डर आना शुरू हो जाता हैं। जो कुछ भी वे देखते हैं वह उनके दिमाग में रिजस्‍टर होता है और उनका मानना ​​है कि दुनिया एक बुरी जगह है, लेकिन यह पूरी तरह से सच नहीं है। पृथ्वी के 90% से अधिक इतने सारे अप्रत्याशित अवसरों के साथ एक सुरक्षित आश्रय है।

बहुत ज्यादा सोशल मीडिया भी व्यसन का कारण बनता है। सोसायटी आज एक-दूसरे के बगल में बैठे लोगों से भरा है, लेकिन बात किसी के साथ नहीं हो रही है, केवल एक फोन से दूसरे फोन पर घूम रही है।

युवा अपने सोशल मीडिया दोस्तों के साथ, अपने परिवारों और प्रियजनों के मुकाबले अधिक समय बिता रहे हैं। जब वे जागते हैं, तो पहली बात वे करते हैं की वे अपने सोशल मीडिया अकाउंट को चेक करते हैं। सोने से पहले, आखिरी चीज भी वे करते हैं की वे अपडेट को चेक करते हैं।

काम पर, उत्पादकता कम हो जाती है क्योंकि लोग सोशल मीडिया पेजेस के माध्यम से काम करने के घंटों में व्यस्त रहते हैं। बहुत अधिक डिस्ट्रक्शंस के साथ, वे अपने कार्यों पर पूरी तरह से ध्यान केंद्रित नहीं कर सकते। एक दिन के लिए सोशल मीडिया बंद कर दिया जाएं तो प्रभाव दिखना शुरू होने लगेगा। नशीली दवाओं के नशे की तरह, वे एकांतिक और अत्यधिक थके हुए जा जाएंगे।

यह अनियंत्रित जुनून की भी ओर जाता है। लोग लाइक और कमेंटस् से ग्रस्त हैं और वे उन्हें हर दिन प्राप्त करने के लिए कुछ भी करेंगे। वे जो भी करते हैं, वे उन्हें सोशल मीडिया पर पोस्‍ट कर देते हैं, ताकि अजनबियों से कुछ अनुमोदन प्राप्त किया जा सकते।

कुछ लोग दुनिया को दिखाने के लिए नकली व्यक्तित्व अपनाते हैं कि उन्होंने इसे बनाया है। वे लोगों को प्रभावित करने के लिए ऐसी चीजें करते हैं जिन्हें वे वास्तविक जीवन में करने की कभी हिम्मत नहीं करेंगे।

वे केवल दिखाने के लिए नवीनतम सामान को खरीदने, महंगे भोजन खाने और विदेशी स्थानों पर जाने के लिए अथक रूप से काम करते हैं। चूंकि वे सोशल मीडिया के समान अपने वास्तविक जीवन में प्यार प्राप्त नहीं कर सकते, इसलिए वे अपने जीवन को सोशल नेटवर्क पर पूरी तरह से समर्पित करते हैं। हालांकि सब कुछ अलग हो जाता है जब उनकी लोकप्रियता खत्म हो जाती है और वे अवसाद जैसे गंभीर मनोवैज्ञानिक समस्याओं में पड़ सकते हैं।

ये सामाजिक प्लेटफार्म रिस्कि और खतरनाक हैं और अपराध के लिए सरहद हो सकते हैं। जब हम सोशल मीडिया के बारे में बात करते हैं तो पहला अपराध साइबर धमकी होता है। सोशल मीडिया में ज्यादातर लोग की अपने व्यक्तित्व और व्यक्तिगत जानकारी दोनों नकली होती हैं। फिर ऐसे लोग हैं जो वास्तव में सोशल मीडिया में हैं।

अधिकतर समय से, नकली लोग असली लोगों को धमकाते हैं और अपमानित करते हैं। जबकि कई लोग तर्क दे सकते हैं कि यह गंभीर नहीं है और युवा सिर्फ मजाक कर रहे हैं। इस मामले की सच्चाई यह है कि कुछ लोग प्रभावित होते हैं, खासकर जब उनका दिखावा, धर्म या सोशल स्‍टेटस पर अपमान, असुरक्षा जैसी स्थिति के आसपास घूमते हैं।

इसके अलावा, किसी भी व्यक्ति को उनकी सोशल मीडिया जानकारी, जैसे लोकेशन, स्कूल में भाग लिया और काम की जगह का उपयोग करके पता लगाने में काफी आसान है। इसलिए, यदि कोई आपराधिक व्यक्ति किसी पर लक्षित करना चाहता हैं, तो वह सबसे पहले एक ही जगह पर जानकारी की तलाश करेगा और वह हैं – सोशल मीडिया।

सोशल प्‍लैटफॉर्म भी यूजर्स के लिए गंभीर स्वास्थ्य खतरे पैदा करते हैं। पीसी पर लंबे समय तक बैठने से आंखों की समस्याएं पैदा हो सकती हैं। इसके अलावा, सक्रिय यूजर्स अपने जीवन में निष्क्रियता और मूवमेंट की कमी को बनाए रखता है। इसलिए वे मोटापा से पीड़ित होने की संभावना होती है और मोटापे से संबंधित बीमारियों, जैसे हृदय रोग, मधुमेह, उच्च रक्तचाप और स्ट्रोक से उन्हें लगातार खतरा होता हैं। इसके अलावा, वे सामाजिक रूप से अक्षम हो जाते हैं। वे वार्तालाप शुरू नहीं कर सकते हैं या लोगों के साथ बातचीत नहीं कर सकते।

अंत में, सोशल मीडिया अपने यूजर्स से सहानुभूति छिन लेता है। हम लोगों को परेशानी में पड़े देखते हैं, लेकिन उपस्थित लोग मदद करने के बजाय, वे रिकॉर्ड करते हैं और सोशल मीडिया पर फुटेज को पोस्ट करते हैं। इस पोस्ट को लाइक और कमेंट की अपेक्षा कि जाती है, जबकि अन्य लोगों द्वारा फ़ील्ड दिवस मनाया जाता है, जो रिकॉर्ड किए गए व्यक्ति का मजाक करते है।

ऐसे कई उदाहरण हैं जहां लोग चुनौतियों की घोषणा करते हैं। यह बीमारी हो सकती है या किसी प्रियजन या टूटे रिश्ते को खोने के बारे में हो सकता है। हम लोगों को उनके इन पोस्ट को अच्छा महसूस करने के लिए अपनी शोक या सांत्वना संदेश पोस्ट करते हुए देखते हैं। इस मामले की वास्तविकता यह है कि उन्हें किसी भी प्रकार का पछतावा नहीं लगता है।

इन नेटवर्क के रचनाकारों ने यह अनुमान नहींलगाया कि उनकी रचनाएं अपराध और सामाजिक क्षय के केंद्र होंगे। सोशल मीडिया से दूररहना समाज के लिए व्यावहारिक या फायदेमंद नहीं हो सकता है।

सोशल मीडिया मार्केटिंग अस्थिर है

सोशल मार्केटिंग के शुरुआती दिनों में, डॉलर के लिए बहुत कम प्रतियोगिता थी-आज नहीं। उदाहरण के लिए, आप एक फेसबुक विज्ञापन अभियान पर हजारों डॉलर खर्च कर सकते हैं और कभी-कभी, अपने निवेश पर कोई वापसी नहीं हो सकती।

अपनी प्रकृति से, सोशल मीडिया एक छोटा सा ध्यान देने वाला मीडिया है-किसी को ट्वीट के साथ किसी का ध्यान आकर्षित करना बहुत कठिन होता है, तो फिर किसी को अख़बार विज्ञापन के साथ ध्यान पाना जरूरी होता हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि एड हेडलाइन और कॉपी ट्विटर या इंस्‍ट्राग्राम पर लिखना कठिन है।

Social Media Hindi

Social Media Hindi, What is Social Mediain Hindi, Social Media Kya Hai In Hindi, Effect Of Social MediaOn Youth In Hindi, Benefit Of Social Media In Hindi, Social Media In HindiEssay, Social Media Ke Fayde In Hindi, Social Media Essay In Hindi Pdf, SocialMedia Ke Labh Aur Hani In Hindi

सारांश
आर्टिकल का नाम
Social Media in Hindi
लेखक की रेटिंग
51star1star1star1star1star