छोड़ दे अन्य मेसिजिंग ऐप्स: क्यों अब आपको Signal का उपयोग करना चाहिए

361

Signal Private Messenger Hindi.

जब आप खुशी से अपने फोन या अपने वेब ब्राउज़र में चैट कर रहे होते हैं, तो क्या आपने कभी भी सोचा हैं कि उन सभी 1s और 0s के साथ क्या होता है जिन्हें आप डिजिटल ईथर में भेज रहे हैं?

चाहे यह दखलंदाजी देने वाला कोई हैकर हो या आपके पास कॉफी शॉप के पीछे बैठा कोई व्यक्ति है, वहां ऐसे लोग हैं जो आपके मैसेजेस पर झांकना चाहते हैं-और कुछ ऐप्स दूसरों की तुलना में इस प्रकार की साज़िश आसान बनाते हैं।

Signal को इस्तेमाल करें! यह सबसे सुरक्षित मैसेजिंग ऐप हैं, जो आप अपने फोन के लिए प्राप्त कर सकते हैं।

आज यहां इस बात पर फोकस करेंगे कि क्यों Whatsapp या Facebook Messanger की तुलना में यह अधिक सिक्योर क्यों हैं और आपको इसे क्यों इस्तेमाल करना चाहिए, और कैसे स्‍टार्ट करें।

 

Signal क्या है?

Signal Private Messenger Hindi

सिग्नल एक WhatsApp या iMessage या Facebook Messenger की तरह एक मैसेजिंग ऐप है, जो कि प्यारे इमोजी स्टिकर की बजाए प्राइवेसी और सिक्योरीटी की ओर अग्रसर है।

वास्तव में, इसके सुरक्षा उपाय इतने अच्छे है कि एक्‍सपर्ट भी इसकी सिफारिश करते है- क्योंकि उन्हें पता होता हैं कि अवांछित गुप्तचर रोक के लिए कौनसे ऐप्स सबसे बेस्‍ट हैं।

Signal उपयोग करने के लिए पुरी तरह से नि:शुल्क हैं, और यह Android, iOS, और Chrome(एक ब्राउज़र एक्सटेंशन जो आपके फोन से लिंक करता है) के लिए उपलब्ध है।

अतिरिक्त सुरक्षा प्रोटोकॉल के साथ में, इसमें सभी बेसिक मैसेज टूल शामिल हैं जिनकी आपको आवश्यकता होगी। इसमें रिड रिसीट्स भी शामिल है, इमोजी सपोर्ट, चैट ग्रुप, और वॉइस और वीडियो कॉल भी शामिल हैं।

WhatsApp कि तरह, Signal आपको अपने कॉन्टेक्ट्स से पहचान करने के लिए आपके मोबाइल नंबर का उपयोग करता है, इसलिए याद रखने के लिए कोई नया यूजरनेम या पासवर्ड नहीं हैं।

एंड्रॉइड पर, जिन कॉन्टेक्ट्स में यह ऐप इंस्टॉल नहीं होगा उन्हें आप सामान्य SMS और MMS मैसेजेस भेजने के लिए भी Signal का उपयोग कर सकते हैं। लेकिन इन मैसेजेस में सिक्योरिटी प्रोटेक्‍शन नहीं होगी।

Google Play से डाउनलोड करें: Signal Private Messenger

 

इस ऐप के फीचर्स की लिस्‍ट लंबी हैं, जैसे डिलीवरी रिपोर्ट (रिड रिसीट्स के समान), कान्वर्सैशन को म्यूट करना, कॉन्टेक्ट्स को ब्लॉक करना, नोटिफिकेशन सेट करना, कस्टमाइज़ कर सकते हैं कि क्या आटोमेटिक डाउनलोड होना चाहिए, अपना लोकेशन भेज सकते हैं, GIF एड कर सकते हैं और ब्रॉडकास्ट मैसेज भेज सकते हैं।

 

Signal प्रोटोकॉल:

प्राइवेसी और सिक्योरिटी के मोर्चे पर, जब तक दोनों पार्टियां ऐप से कम्युनिकेटिंग करती हैं, तब तक सभी मैसेजेस को एन्क्रिप्ट किया जाता हैं ताकि प्रत्येक चैट के कंटेंट प्राइवेट हो और कोई अन्य व्यक्ति इन्हें न देखने पाए।

ऐप के माध्यम से किए जाने वाले कॉल भी एन्क्रिप्ट किए जाते हैं ताकि कोई भी इन्हें सुन न सकें।

यह एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन सिग्नल प्रोटोकॉल का उपयोग करके प्राप्त किया जाता है जो इंस्टेंट मैसेजिंग एप्लिकेशन के लिए बनाया गया एक ओपन एन्क्रिप्शन एल्गोरिदम है। यह Open Whisper Systems, एक नॉन-प्राफिट कंपनी के द्वारा डेवलप किया गया हैं जो इस मैसेजिंग ऐप को मेंटेन करती है।

यह एन्क्रिप्शन प्रोटोकॉल न केवल Signal मैसेंजर पर बल्कि अन्य चैट ऐप्स जैसे कि Facebook Messenger, WhatsApp और Google Allo पर भी इस्तेमाल किया जा रहा है ताकि आपके कान्वर्सैशन के लिए सुरक्षित एंड-एंड-एंड एन्क्रिप्शन उपलब्ध हो सके।

 

Signal का उपयोग क्यों करें?

आप सोच रहे होंगे हैं कि Signal का उपयोग क्यों करना चाहिए, जबकि अन्य मैसेजिंग ऐप भी कान्वर्सैशन को एन्क्रिप्ट करने के लिए उसी प्रोटोकॉल का उपयोग कर रहे हैं।

यहां याद रखना महत्वपूर्ण बात यह है कि इन अन्य चैट एप्लिकेशन (Facebook और Google) के पीछे की कंपनियां केवल आपको विज्ञापन बेचने के लिए आपके बारे में इनफॉर्मेशन कलेक्‍ट करने में रुचि रखते हैं।

यह तथ्य यह है कि Facebook Messenger और Google Allo डिफ़ॉल्ट रूप से आपके कान्वर्सैशन के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन एनेबल नहीं कर रहे हैं।

WhatsApp डिफ़ॉल्ट रूप से एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन को एनेबल करता है जो सुनिश्चित करता है कि आपके कान्वर्सैशन प्राइवेट रहें, लेकिन फेसबुक के स्वामित्व वाला मैसेजिंग ऐप अब भी ऐप के भीतर आपकी एक्टिविटी को स्टोर कर सकता है।

इन एक्टिविटी रिकॉर्ड में आप किसके साथ बात कर रहे हैं और कितनी बार, डिवाइस-विशिष्ट जानकारी (जैसे आपका IP Address या फोन मॉडल) और आपके सभी कॉन्टेक्ट्स के फोन नंबर की पहचान शामिल हो सकती है।

दूसरी तरफ Signal, आपके द्वारा रजिस्टर्ड नंबर को छोड़कर आपके निजी डेटा को स्‍टोर नहीं रखता और जब आप अपने सर्वर पर लॉग-इन करते हैं तो यह आपकी पिछली एक्टिविटी को केवल एक दिन तक रिकॉर्ड कर के रखता हैं।

Signal कुछ अच्छे इन-ऐप सेटिंग भी प्रदान करता है जो इस ऐप की सिक्योरिटी में सुधार करते है।

सबसे पहले, आपको “Disappearing messages” को एनेबल करना चाहिए, जो मददगार होता है यदि आप चाहते हैं कि मैसेजेस को पढ़ने के बाद वह हमेशा के लिए गायब हो जाए।

आपके पास मैसेज को पढ़े जाने के बाद एक सेकंड से पांच सेकंड तक मैसेज को self-destruct करने के लिए बाध्य करने का ऑप्‍शन होता है।

सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण, क्योंकि यह आपके चैट की सुरक्षा करता है। जो भी आप भेजते या प्राप्त करते हैं वह एन्क्रिप्टेड होता है, जो किसी भी व्यक्ति के लिए डेटा को पढ़ने के लिए बहुत मुश्किल बनाता है।

सबसे बड़ी बात यह हैं कि Signal किसी भी यूजर डेटा को स्‍टोर नहीं करता है, इसलिए गवर्नमेंट्स और अन्य एजेंसियां ​​इसके लिए रिक्वेस्ट कर सकती हैं, लेकिन यह आपके डेटा को लीक नहीं कर सकता।

आपके पास पासफ़्रेज़ के साथ ऐप को लॉक करने का ऑप्‍शन भी है ताकि आपके फोन का उपयोग करने वाले व्यक्ति आपकी बातचीत पर नजर नहीं रख सकें।

सिग्नल आपको एप के भीतर स्क्रीनशॉट को ले जाने से रोकता है। इससे आपके कान्वर्सैशन को कैप्चर करना कठिन बनाता है।

 

Signal Private Messenger Hindi.

Signal Private Messenger Hindi, Signal Private Messenger in Hindi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.