8 कारण आपके घर का वाईफ़ाई स्लो होने के, और इसे कैसे ठीक करें?

715

Reason WiFi Slow Fix Hindi.

Reason WiFi Slow Fix Hindiवाई-फाई इन दिनों बहुत ज्यादा आवश्यक बन गया है। ऐसा इसलिए हैं, क्‍योकि दुनिया का रास्ता अब वाई-फाई से होकर गुजरता हैं। इसी की वजह से आप अपने घर के किसी भी कोने में यूट्यूब, व्हाट्सएप को देख सकते हैं।

लेकिन स्‍लो वाई-फाई की स्‍पीड आपके एक्सपीरियंस और प्रोडक्टिविटी दोनों को कम कर सकती है। मगर वाई-फाई की कम स्‍पीड की वजह का निदान करना हमेशा आसान नहीं होता।

एक अनजान सी बात भी आपके वाई-फाई की स्‍पीड को आधा कर सकती है, इसलिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि जब स्‍पीड कम हो रही हो, तब किस बात पर ध्‍यान देना चाहिए।

यदि आपके इंटरनेट की स्‍पीड अच्‍छी हैं लेकिन वाई-फाई स्‍लो हैं, तो इसे ठीक करने के कुछ तरीके यहां दिए गए हैं।

 

1)Find Stealing Your WiFi in Hindi:

बैंडविड्थ कोई चूरा तो नहीं रहा हैं, इसकी तलाश करें:

वाई-फाई की स्‍पीड को ट्रबलशूट करने से पहले यह चेक करें की आपके वाई-फाई से आपके पड़ोसी या अन्‍य कोई आपकी जानकारी के बिना राउटर से कनेक्‍ट तो नहीं हैं। क्या आप जानते हैं कि कितने डिवाइसेस आपके वाईफाई नेटवर्क से कनेक्ट हैं?

आपके वाईफ़ाई के चारी का पता लगाने के लिए यहां एक तेज तरीका है

 

 

2)How To Better Position Router in Hindi:

राउटर स्थिति को बेहतर बनाएं:

अधिकांश लोग वाई-फाई राउटर के लिए एक अच्छी जगह चुनने को कम महत्व देते हैं। लेकिन, राउटर की पोजिशन में एक छोटा सा बदलाव भी काफी बड़ा हो सकता है।

वाईफ़ाई के बेहतर परिणाम के लिए आपको इन चीजों पर विचार करना होगा –

 

a)Router At High Or Low:

ऊँचाइ पर या निचे:

यदि आप ज्यादातर लोगों की तरह हैं, तो आप शायद अपने नए राउटर को ओपन करते हैं, एक उचित आउटलेट लोकेशन पर रखते हैं और फिर उसे प्लग करते हैं। इसके बाद आप अपने आस-पास की सभी चीज़ो को वैसे ही छोड़ देते हैं जैसे की शेल्फ या डेस्क।

लेकिन क्‍या आप जानते हैं, की राउटर की ऊंचाई से फर्क पड़ता हैं?

इसका अर्थ यह है कि जमीन पर या अन्य वस्तुओं के पीछे अपना राउटर रखने पर आम तौर पर खराब परफॉरमेंस का परिणाम होता है।

इसके बजाय, रेडियो सिग्‍नल की ब्राडकास्टिंग रेंज का विस्तार करने के लिए संभव के रूप में रूटर को ऊंचाई पर रखें। इससे संभावित राउटर को किसी चीज का इंटरफेरन्स भी नहीं होगा।

 

b) Concrete & Metals Disturb WiFi Signal:

कंक्रीट और मेटल्‍स:

Wi-Fi waves को ब्‍लॉक करने के लिए कंक्रीट और मेटल जैसी सामग्री सबसे आगे होती हैं, लेकिन अन्य मटेरियल की वस्तुए भी आपके घर के Wi-Fi के परफॉरमेंस को कम कर सकती हैं।

इसलिए हमेशा यह सुनिश्चित करें कि राउटर के सिग्‍नल को कोई ऑब्जेक्ट ब्‍लॉक तो नहीं कर रहा।

 

c) Distance of Router:

राउटर से डिस्टेंस:

आपके राउटर से आपका पीसी या लैपटॉप जितने दूर होंगे उतना ही वाई-फाई का सिग्नल कमजोर होगा। इसलिए, सबसे अच्छा ऑप्‍शन यहीं हैं, जितना हो सके अपने राउटर को अपने डिवाइसों के करीब रखे।

हालांकि कई बार यह व्यावहारिक नहीं होता, ऐसे में राउटर को अपने घर से सेंटर में रखें। याद रखे की आपका WiFi Router 360 डिग्री में ब्रॉडकास्ट करता है, इसलिए इसे घर के एक साइड में मत रखें।

यदि आपका घर बड़ा है और आपका WiFi Router विक सिग्‍नल का हैं, तो ऐसे में आपको Wi-Fi extenders या repeaters का इस्‍तेमाल करना चाहिए जो की एक खर्चीला ऑप्‍शन हैं।

 

3) Wireless Interference & Noise:

वायरलेस इंटरफेरेंस और नॉइस:

आपने शायद कभी नहीं ध्यान दिया नहीं होगा, लेकिन जहां भी आप जाते हैं, वैसे ही आपके आसपास वायरलेस सिग्नल होते हैं और वे हर समय आप के माध्यम से गुजर रहे हैं। यह सिग्‍नल कहाँ से आते हैं? इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस, वाई-फाई राउटर, सैटेलाइट, मोबाइल टॉवर और अन्‍य।

हालांकि इन डिवाइसेस की तुलना में आपका वाई-फाई डिवाइस अलग फ्रीक्वेंसी पर होता हैं, लेकिन फिर भी रेडियो सिग्‍नल नॉइस इसमें इंटरफेरेंस उत्‍पन्‍न करते हैं।

वाई-फाई में इंटरफेरेंस उत्‍पन्‍न करने वाले डिवाइसेस में शामिल हैं –

 

a)Microwave:

क्या आप जानते हैं कि माइक्रोवेव ओवन आपके वाई-फाई नेटवर्क के साथ इंटरफेरेंस कर सकता हैं? खासकर पुराने राउटर के साथ।

इसका कारण यह है कि माइक्रोवेव ओवन 2.45 GHz, की फ्रीक्वेंसी पर काम करते हैं, जो कि राउटर के 2.4 GHz वाई-फाई बैंड के करीब है।

विशेष रूप से 2.4 GHz वाई-फाई बैंड वास्तव में 2.412 GHz और 2.472 GHz के बीच ब्रॉडकास्ट होता है। ऐसे समय कई बार माइक्रोवेव फ्रीक्वेंसी वाई-फाई फ्रीक्वेंसी के साथ ओवरलैप हो सकती है – और ऐसा होने पर, वाई-फाई सिग्‍नल डिस्टर्ब हो जाता है।

अधिकांश माइक्रोवेव को ठीक से शील्डेड किया होता हैं, इसलिए ओवन के बाहर कोई वेव जा नहीं सकती, लेकिन फॉल्टी डिवाइस में यह हो सकता है।

 

b) Bluetooth Devices:

यह पता चला है कि एक और पसंदीदा प्रकार का वायरलेस कनेक्शन – ब्लूटूथ – 2.4 GHz पर ऑपरेट होता है।

सिद्धांतीक रूप से, एक उचित रूप से डिजाइन किए गए डिवाइस को इस तरह से टेस्‍ट किया जाना चाहिए, जो इंटरफेरेंस को रोकता है।

इसके अलावा, फ्रीक्वेंसी में टकराव को रोकने के लिए, कई ब्लूटूथ मैन्युफैक्चरर्स फ्रीक्वेंसी हॉपिंग का उपयोग करते है, जहां यह सिग्नल 70 अलग-अलग चैनलों के बीच रोटेट होता है और प्रति सेकंड 1600 बार बदलता है।

नए ब्लूटूथ डिवाइसों में “बैड” या वर्तमान में उपयोग हो रहे चैनलों की पहचान करने और उनसे बचने की कैपेसिटी भी हो सकती है।

लेकिन फीर भी इंटरफेरेंस हो सकता है, इसलिए यह देखने के लिए कि यह आपकी परेशानियों का कारण क्‍या है, राउटर को ब्लूटूथ डिवाइस से दूर रखने का प्रयास करें (या कम से कम ब्लूटूथ डिवाइसेस को बंद करें)।

 

c) Crismas Lights:

अजीब बात है, क्रिसमस लाइट्स (या फेयरी लाइट्स) आपके वाई-फाई को स्‍लो कर सकती है, क्योंकि ये लाइट्स एक इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड का उत्सर्जन कर सकती है जो आपके वाई-फाई बैंड से संपर्क करती है। यह विशेष रूप से बुरा होता है जब इन लाइटिंग में फ्लैश करने की क्षमता हो।

आप आधुनिक एलईडी लाइट्स के साथ भी सुरक्षित नहीं हैं क्योंकि उनमें से कुछ में फ्लशिंग चिप्‍स हो सकती हैं जो इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड बनाते हैं।

हकीकत में, अन्य सभी प्रकार की लाइट्स इस तरह इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड का उत्सर्जन करके इंटरफेरेंस का कारण बन सकती है, लेकिन अधिकांश मामलों में इसका इफेक्‍ट नगण्य के करीब होता है।

लेकिन आपको हमेशा अपने राउटर को इलेक्ट्रिक लाइटस् से दूर रखना चाहिए।

 

d) Your Neighbor:

आधुनिक दुनिया की एक सच्चाई यह है कि हर घर का अपना वाई-फाई नेटवर्क होता है, जिससे चैनल ओवरलैप के मुद्दे पैदा हो सकते हैं।

यह विशेष रूप से अपार्टमेंट्स में प्रोब्लेमैटिक है, जहां कई राउटर आस पास होते हैं।

यदि दो राउटर एक ही फ्रीक्वेंसी पर ब्रॉडकास्ट कर रहे हैं, तो इससे समस्‍या आ सकती हैं।

यही कारण है कि यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने राउटर की सेटिंग्स में एक अच्छा चैनल चुनें।

आधुनिक राउटर आटोमेटिक आपके लिए चैनल चुन सकते हैं, लेकिन कभी-कभी खुद ही चैनल ढूंढना बेहतर होता है।

 

तो क्‍या आप इन तरीको का इस्‍तेमाल कर अपने घर के वाई-फाई के सिग्‍नल को बढ़ाने में कामयाब हुए हैं? या फिर आपने इसके अलावा अन्‍य कौनसे तरीकों का इस्‍तेमाल किया? कमेंटस् में जरूर बाताएं।

 

सिर्फ पांच मिनट में अपने घर के वाई-फाई सिग्नल को करें बुस्ट

भूला हुआ Wi-Fi पासवर्ड पुनः प्राप्त कैसे प्राप्त करे?

 

Reason WiFi Slow Fix Hindi.

Reason WiFi Slow Fix Hindi,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.