RAM Hindi में? एक अल्टिमेट गाइड़ रैम के बारे में सब कुछ जानने के लिए

RAM Hindi.

 RAM Hindi

RAM Kya Hai in Hindi:

Random Access Memory, या RAM, कंप्यूटर के मदरबोर्ड पर स्थित एक फिजिकल हार्डवेयर है जो टेम्‍पररी डेटा स्‍टोर करता है और कंप्यूटर की “वर्किंग” मेमोरी के रूप में सेवा करता है।

RAM आमतौर पर मदरबोर्ड पर होती है।

 

RAM Full Form:

Full Form of RAM is –

Random Access Memory

 

RAM Full Form in Hindi:

RAM ka Full Form – रैम का मतलब –  रैंडम एक्‍सेस मेमोरी (Random Access Memory) हैं

 

RAM Meaning in Hindi:

RAM- Random Access Memory

RAM को Main Memory, Internal Memory, Primary Storage, Primary Memory के रूप में भी जाना जाता है।

 

What is RAM in Hindi?

रैम क्या है?

RAM डेटा को रैंडम ऑर्डर में एक्‍सेस कर सकता है, जिससे किसी विशेष इनफॉर्मेशन के पार्ट को खोजना इसके लिए बहुत फास्‍ट बन जाता है।

जबकि स्‍टोरेज के अन्य टाइप में डेटा का रैंडम-एक्‍सेस नहीं होता। उदाहरण के लिए, एक हार्ड डिस्क ड्राइव और सीडी में डेटा को एक पूर्व निर्धारित क्रम में रिड और राइट किया जाता हैं। इन डिवाइसों के मैकेनिकल डिज़ाइन निर्धारित करते हैं कि डेटा एक्सेस सलग है। इसका मतलब यह है कि विशिष्ट जानकारी प्राप्त करने के लिए जो समय लगता है, वह इस बात पर निर्भर करता है कि यह डिस्क पर कहाँ स्थित है।

RAM को कंप्‍यूटर सिस्‍टम में मुख्य मेमोरी के रूप में उपयोग किया जाता है। RAM को volatile memory माना जाता है, जिसका अर्थ है कि कंप्यूटर बंद होने पर RAM में स्‍टोर सभी इनफॉर्मेशन नष्ट हो जाती है। इसलिए, RAM का उपयोग सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (सीपीयू) द्वारा किया जाता है। जब कोई कंप्यूटर इनफॉर्मेशन स्‍टोर करने के लिए रन होता है, जिसे इसे बहुत तेज़ी से इस्तेमाल करने की आवश्यकता है, लेकिन यह किसी भी इनफॉर्मेशन को स्थायी रूप से स्‍टोर नहीं करता।

वर्तमान-दिन के रैम, डिवाइस इनफॉर्मेशन स्‍टोर करने के लिए इंटीग्रेटेड सर्किट का उपयोग करते हैं। यह स्‍टोरेज का एक अपेक्षाकृत महंगा प्रकार है और स्‍टोरेज की लागत प्रति यूनिट हार्ड ड्राइव जैसे डिवाइसेस की तुलना में काफी अधिक है।

हालांकि, रैम के डेटा एक्‍सेस करने का समय इतना फास्‍ट है कि इसके कारण रैम के लागत में बढ़ोतरी हुई है। इसलिए, कंप्यूटर, फास्ट-एक्सेस, इनफॉर्मेशन का टेम्‍पररी स्‍टोरेज और हार्ड डिस्क ड्राइव की तरह परमानेंट स्‍टोरेज के लिए एक निश्चित मात्रा में रैम का उपयोग करता है।

रैम के कुछ लोकप्रिय टाइप में Kingston, Transcend, Hynix, Samsung, Lenovo, HP आदि शामिल हैं।

 

आपके कंप्यूटर को जल्दी से डेटा का उपयोग करने के लिए रैम की आवश्यकता है

आसान भाषा में समझने के लिए, रैम का उद्देश्य एक स्टोरेज डिवाइस पर क्विकली रिड और राइट एक्‍सेस प्रदान करना है। आपका कंप्यूटर, डेटा लोड करने के लिए रैम का उपयोग करता है क्योंकि यह एक हार्ड ड्राइव से सीधे उसी डेटा को रन करने में बहुत फास्‍ट है।

इसे एक उदाहरण से समझते हैं, आप अपने ऑफिस के डेस्क पर बैठे हैं और आपके डेस्‍क पर डयॉक्‍युमेंटस्, पेन, कैल्‍युलेटर और अन्‍य सामान रखा हैं ताकि आप उन्‍हे जल्‍दी से हासील कर सकें।

यदि आप इन सामान को अपने डेस्‍क पर न रखकर हर एक चीज़ को अपनी जगह पर रखेंगे जैसे फाइलों को कैबिनेट में, लिखने के सामान को ड्रॉवर में, तो आपको इन्हें एक्‍सेस करने के लिए ज्‍यादा समय लगेगा।

जिसका मतलब है कि आपके रोजमर्रा के कार्यों को पूरा करने में अधिक समय लगेगा, क्योंकि आपको लगातार इन स्टोरेज डिब्बों तक पहुंचने की आवश्यकता होती है, और आपको अतिरिक्त समय खर्च करना होगा।

इसी प्रकार, आपके कंप्यूटर (या स्मार्टफोन, टैबलेट आदि) पर सक्रिय रूप से उपयोग किए जाने वाले सभी डेटा को टेम्पररी रैम में स्‍टोर किया जाता है।

इस तरह इस अनैलॉजी में रैम एक डेस्क की तरह हैं, जो हार्ड ड्राइव की तुलना में अधिक फास्‍ट रिड / राइट टाइम प्रदान करता है। रोटेशन स्पीड जैसे फिजिकल सीमाओं के कारण अधिकांश हार्ड ड्राइव, रैम की तुलना में काफी स्‍लो हैं।

 

History Of RAM in Hindi:

RAM कि हिस्‍ट्री:

1940 के दशक में सबसे पहले कंप्‍यूटर्स में रैम का इस्‍तेमाल किया गया। मैग्‍नेटिक-कोर मेमारी मैग्‍नेटिक रिंग के एरे पर निर्भर थी। प्रत्येक रिंग को मैग्नेटिकेट करके डाटा को स्‍टोर किया जाता था। हर एक रिंग में एक बिट डेटा स्‍टोर होता था और मैग्नेटिज़ेशन कि डायरेक्शन झीरो या वन को इंडिकेट करते थें।

टेक्नोलॉजिकल प्रगति के परिणामस्वरूप छोटे डिवाइस सामने आए जो अधिक इनफॉर्मेशन स्‍टोर कर सकते थे, लेकिन उसी सिद्धांत पर भरोसा कर सकते थे।

कंप्यूटर मेमोरी के लिए वास्तविक सफलता 1970 के दशक में इंटिग्रेटेड सर्किट में सॉलीड-स्‍टेट मेमोरी के आविष्कार से आई थी। इसमें बहुत छोटे ट्रांजिस्टर का उपयोग किया जाता था, जिससे यह बहुत छोटे एरिया पर बहुत अधिक इनफॉर्मेशन को स्‍टोर करना संभव हो गया। हालांकि, मेमोरी डेनसिटी में यह वृद्धि अस्थिरता की कीमत पर आई: प्रत्येक ट्रांजिस्टर की स्थिति बनाए रखने के लिए एक निरंतर बिजली की आपूर्ति की आवश्यकता होती है।

1990 के दशक की शुरुआत में, क्‍लॉक स्‍पीड को रैंडम एक्सेस मेमोरी के साथ सिंक्रनाइज़ किया गया।

SDRAM अपनी सीमा पर जल्दी पहुंचा, क्योंकि यह सिंगल डेटा रेट में इसे ट्रांसफर करता है।

वर्ष 2000 के आसपास, Double Data Rate Random Access Memory (DDR RAM) डेवलप किया गया था। यह एक क्‍लॉक साइकल में दुगना डेटा ट्रांसफर कर सकता था। DDR RAM की शुरूआत ने SDRAM की परिभाषा को भी बदल दिया है, क्योंकि कई सोर्स अब इसे सिंगल डाटा रेट रैम के रूप में परिभाषित करते हैं।

DDR RAM तीन बार विकसित हुआ है, DDR2, DDR3 और DDR4 के माध्यम से। प्रत्येक पुनरावृत्ति में डेटा की स्‍पीड और कम बिजली उपयोग में सुधार हुआ। हालांकि, प्रत्येक वर्जन पिछले वाले के साथ कम्पेटिबल नहीं है।

 

कितने रैम की आवश्यकता है?

बस एक सीपीयू और हार्ड ड्राइव कि तरह ही आपके पीसी के लिए कितनी रैम कि आवश्यकता हैं यह आपके द्वारा उपयोग किए जाने पर पूरी तरह निर्भर करता है।

उदाहरण के लिए, यदि आप बड़े गेमिंग के लिए कंप्यूटर खरीद रहे हैं, तो आपको स्मूथ गेमप्ले को सपोर्ट करने के लिए पर्याप्त रैम की आवश्यकता होगी। कम से कम 4 जीबी की सिफारिश करने वाले गेम के लिए सिर्फ 2 जीबी रैम उपलब्ध होने पर गेम बहुत स्‍लो परफॉर्मेंस देंगे, या फिर आप गेम खेलने में पूर्ण असमर्थ होंगे।

दूसरे छोर पर, यदि आप अपने कंप्यूटर को सिर्फ इंटरनेट ब्राउज़िंग और प्रेजेंटेशन के लिए उपयोग करना चाहते हैं तो आपके लिए 2 जीबी रैम पर्याप्त हैं।

आम तौर पर आप कंप्यूटर या लैपटॉप को खरीदने से पहले पता लगा सकते हैं कि कोई विशिष्ट प्रोग्राम या गेम के लिए कितनी रैम की आवश्यकता होगी।

 

What is RAM Hindi में? रैम क्या है?

RAM Hindi, RAM in Hindi, What is RAM in Hindi, RAM meaning in Hindi. RAM Full Form in Hindi. RAM Kya Hai in Hindi.

सारांश
आर्टिकल का नाम
RAM in Hindi
लेखक की रेटिंग
51star1star1star1star1star