Pen Drive Hindi में! पेन ड्राइव क्या हैं और यह कैसे काम करता है

4358

Pen Drive Hindi.

एक पेन ड्राइव, एक पोर्टेबल डेटा स्टोरेज डिवाइस है। यह एक यूएसबी फ्लैश ड्राइव के रूप में भी जाना जाता है।

What Is Pen Drive In Hindi?

Pen Drive Hindi

यह आमतौर पर रिमूवेबल, रिराइटेबल और ऑप्टिकल डिस्क से बहुत छोटा होता है। अधिकांश वजन 30 ग्राम से कम होता है।

- Advertisement -

Universal Serial Bus मास स्टोरेज स्‍टैंडर्ड के आधार पर, यूएसबी फ्लैश ड्राइव सभी ऑपरेटिंग सिस्टम और BIOS द्वारा सपोर्टेड हैं। ऑप्टिकल डिस्क ड्राइव और फ्लॉपी डिस्क की तुलना में, यूएसबी फ्लैश ड्राइव अधिक डेटा स्टोर कर सकते हैं और इसे फास्‍ट स्‍पीड से ट्रांसफर कर सकते हैं।

एक छोटी इलेक्ट्रॉनिक चिप जिसे एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में इनफॉर्मेशन ट्रांसफर और स्‍टोरेज के माध्यम के रूप में उपयोग किया जाता है, उसे फ्लैश ड्राइव कहा जाता है, जबकि पेन ड्राइव एक छोटी ड्राइव होती है जिसका उपयोग कई सिस्‍टम के बीच इनफॉर्मेशन के आदान-प्रदान के लिए किया जाता है।

पेन ड्राइव अप्रैल 1999 में आमिर बान, डोव मोरन और ओरोन ऑर्गन द्वारा प्रस्तुत किया गया था। नाम, स्वाभाविक रूप से, इसकी कलम के समान दिखने से आया है। इसका उपयोग किसी भी सिस्टम और यूएसबी पोर्ट द्वारा किया जा सकता है। यह फ्लॉपी ड्राइव की तुलना में काफी अधिक सहायक और लाभकारी है। किसी भी तरह का रिकॉर्ड या जानकारी आसानी से पेन ड्राइव में डाली जा सकती है। इसने एक बड़ी लोकप्रियता भी हासिल की थी क्योंकि इसने डेटा बैकअप का अवसर प्रदान किया था। शुरुआत में इसकी स्‍टोरेज लिमिटेशन 8 MB थी, जिसे वर्तमान में जनवरी 2013 तक 1 TB तक अपडेट कर दिया गया है। कुल मिलाकर, पेन ड्राइव का उपयोग पोर्टेबल यूएसबी स्टोरेज टूल के रूप में किया जाता है, जबकि फ्लैश ड्राइव डेटा स्‍टोरेज सर्विसेस की एक विस्तृत श्रृंखला होती है।

पेन ड्राइव एक पोर्टेबल स्टोरेज स्पेस डिवाइस के अलावा कुछ भी नहीं है जो आपकी स्टोरेज आवश्यकताओं का ख्याल रखने में सक्षम है।

बेशक, पहले के दिनों में, ये डिवाइस सौ से अधिक मेगाबाइट्स स्‍टोर करने में सक्षम नहीं थे, लेकिन अब, जैसे ही तकनीक बढ़ी है और यह अधिक से अधिक कॉम्‍प्‍लेक्‍स हो रही है, एक पेन ड्राइव आसानी से 120 जीबी और इससे भी अधिक तक डेटा स्टोर कर सकता है।

सबसे प्रभावशाली बात यह है कि आपको बड़ी एक्‍सटर्नल हार्ड ड्राइव को ले जाने की आवश्यकता नहीं होगी – आप इस इनफॉर्मेशन को प्लास्टिक के टुकड़े पर स्‍टोर कर सकते हैं जो आपके अंगूठे की नाखून जितना बड़ा है।

अब, यह भी उल्लेखनीय है कि अधिकांश पेन ड्राइव फ्लैश तकनीक का उपयोग करने जा रहे हैं। फ्लैश पेन ड्राइव क्या है? यह एक यूएसबी स्टोरेज डिवाइस है जो non-volatile डिवाइस का लाभ उठाता है जो पावर सोर्स न होने पर भी आपके डेटा को स्‍टोर करके रखने में सक्षम है।

हालांकि, यह भी ध्यान देने योग्य है कि वर्तमान में उत्पादित पेन ड्राइव का अधिकांश हिस्सा फ्लैश स्टोरेज तकनीक का लाभ उठा रहा है।

आज विशेष तकनीकी कंपनियां पेन ड्राइव को बेहतर बनाने के लिए काम कर रही हैं और इसके उपयोग को सीमित करने वाले मुद्दों को खत्म करने की कोशिश कर रही हैं।

बेसिक यूएसबी ड्राइव में कई सुधार किए गए हैं। हम आजकल यूएसबी 3.0 पेन ड्राइव का इस्तेमाल कर सकते है, हालांकि यूएसबी 2.0 की पिछली कम्पेटिबिलिटी बनी हुई है, और सैद्धांतिक रूप से 640 Mbps तक डाटा ट्रांसफर रेट होता है जो यूएसबी 2.0 की तुलना में दस गुना फास्‍ट है।

120 Mbps तक की स्‍पीड के साथ व्यावहारिक रूप से यूएसबी 3.0 पेन ड्राइव बाजार में आसानी से उपलब्ध है। हालांकि छोटी फाइलों के लिए, यह इसकी वास्तविक स्‍पीड 10% तक सीमित है।

Best Pen Drives in Hindi | बेस्ट पेन ड्राइव भारत में खरीदने के लिए

पेन ड्राइव की परिभाषा क्या हैं?

Pen Drive Definition In Hindi:

एक यूएसबी फ्लैश ड्राइव, जिसे थंब ड्राइव, पेन ड्राइव, फ्लैश ड्राइव, मेमोरी स्टिक, यूएसबी स्टिक या यूएसबी मेमोरी के रूप में भी जाना जाता है, एक डाटा स्टोरेज डिवाइस है जिसमें एक इंटिग्रेटेड यूएसबी इंटरफेस के साथ फ्लैश मेमोरी शामिल है।

पेन ड्राइव के क्या उपयोग है?

Uses of Pen Drive in Hindi

यूएसबी फ्लैश ड्राइव अक्सर उसी प्रयोजनों के लिए उपयोग किया जाता है जिसके लिए फ्लॉपी डिस्क या सीडी का इस्तेमाल किया जाता था; यानी स्‍टोरेज, डेटा बैक अप और कंप्यूटर फ़ाइलों के ट्रांसफर के लिए।

वे छोटे, फास्‍ट होते हैं, हजारों गुना अधिक कैपेसिटी होती हैं, और अधिक टिकाऊ और भरोसेमंद होते हैं क्योंकि उनमें कोई मुविंग पार्ट नहीं होता।

यूएसबी पेन ड्राइव का उपयोग-

  1. Transport: यूएसबी पेन ड्राइव का सबसे आम उपयोग डयॉक्‍युमेंट, पिक्‍चर और वीडियो जैसे पर्सनल फाइलों को ट्रांसपोर्ट या स्टोर करना है।
  2. Computer Repair: पीसी रिपेयर क्षेत्र में यूएसबी पेन ड्राइव का काफी उपयोग किया जाता हैं, जैसे कि पीसी पर एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर इंस्‍टॉल करने, विंडोज रिकवरी, ट्रबलशुटींग आदी।
  3. Carry Applications: यूएसबी पेन ड्राइव का उपयोग इंस्टॉलेशन की आवश्यकता के बिना होस्ट कंप्यूटर पर रन होने वाले ऐप्‍लीकेशन को कैरी करने के लिए किया जाता है। इसके साथ ही एजूकेशन के कई ऐप्‍लीकेशन पेन ड्राइव से ही डिस्‍ट्रीब्‍युट किए जाते हैं।
  4. As Audio Players: कई कंपनियां सॉलीड स्‍टेट डिजिटल ऑडियो प्लेयर को एक छोटे फार्म फैक्‍टर में बनाती हैं। एमपी 3 प्लेबैक फ़ंक्शन यूएसबी पेन ड्राइव के लिए सबसे लोकप्रिय है। उनमें से कुछ में ट्रैक को ब्राउज़िंग करने के लिए एलसीडी डिस्प्ले और ऑडियो इनपुट जैक और रिचार्जेबल बैटरी भी होती है।
  5. Boot Operating Systems: आज अधिकांश पीसी फर्मवेयर एक यूएसबी ड्राइव से बूटिंग की अनुमति देते है, जिससे आप अपने पेन ड्राइव से पूसी को बूट कर सकते हैं। रिकवरी मीडिया बनाकर ओएस रिकवरी भी कर सकते हैं।
  6. Operating system installation: पेंड्रिव से कई ऑपरेटिंग सिस्टम इंस्‍टॉल किए जा सकते हैं। आप पेन ड्राइव से विंडोज 7, विंडोज 8, लिनक्स, मैक ओएस आदि इंस्‍टॉल कर सकते हैं।
  7. Backup: आज पेन ड्राइव का उपयोग बैकअप के रूप में भी किया जाता है।

पेन ड्राइव के अंदर क्या है?

पेन ड्राइव में आमतौर पर एक यूएसबी कनेक्टर, पावर सर्किट्री और कई इंटिग्रेटेड सर्किट (IC) के साथ एक पीसीबी (printed circuit board) होता है। PCB पर इन IC में से एक मेमोरी और यूएसबी कनेक्टर के बीच एक इंटरफेस प्रदान करता है।

आईसी के आगे एक NAND फ्लैश मेमोरी होती है जहां सभी फाइलें स्‍टोर की जाती हैं। पेन ड्राइव या यूएसबी फ्लैश ड्राइव यूएसबी से डेटा और पावर को ट्रांसफर करने के साधन के रूप में पीसीबी का उपयोग करता है। कंट्रोलर चिप को पेन ड्राइव का ब्रेन माना जाता है। नीचे दिया गया पिक्‍चर यूएसबी फ्लैश ड्राइव की आंतरिक संरचना दिखाता है।

Pen Drive Hindi

1) USB Connector:

यह NAND फ्लैश मेमोरी चिप और कंप्यूटर जिस पर पेन ड्राइव प्लग किया गया है, के बीच एक इंटरफ़ेस के रूप में कार्य करता है।

यूएसबी कनेक्टर आमतौर पर एक रिमूवेबल कैप द्वारा संरक्षित किया जाता है। अधिकांश पेन ड्राइव एक स्‍टैंडर्ड टाइप A USB कनेक्शन का उपयोग करते है जो किसी पीसी पर पोर्ट के साथ कनेक्शन की अनुमति देता है। पेन ड्राइव यूएसबी कनेक्टर के माध्यम से कंप्यूटर की बिजली का उपयोग करता है।

2) USB Mass Storage Controller (Controller Chip):

यह चिप पेन ड्राइव से इनफॉर्मेशन को रिट्रीव करने में मदद करती है और यह NAND फ्लैश मेमोरी पर इनफॉर्मेशन रिकॉर्डिंग / रिड करने में मदद भी करता है। यह मूल रूप से ऑन-चिप RAM  और ROM के साथ एक माइक्रोक्रोनरोलर है।

3) Test points:

वे इलेक्ट्रिक पिन हैं जो असेंबली प्रोसेस के दौरान पेन ड्राइव को stimulate करने के लिए उपयोग किए जाते हैं।

4) NAND Flash Memory Chip:

यह फाइलों और सभी डेटा के स्‍टोरेज में मदद करता है। इसके अलावा यह इनफॉर्मेशन को मिटाने की इजाजत देता है ताकि हम फाइलों को डिलीट कर सकें और नई फाइलें पेन ड्राइव पर सेव कर सकें।

5) Crystal Oscillator:

यह क्वार्ट्ज क्रिस्टल का एक टुकड़ा है जो एक बहुत ही विशेष फ्रीक्वेंसी पर vibrate करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

6) LED:

LED यह इंडिकेट करता हैं कि फ्लैश ड्राइव ठीक से काम कर रहा है या नहीं।

7) Write-protect switch:

फ्लैश ड्राइव पर सेव कि गई इनफॉर्मेशन की सुरक्षा के लिए उपयोग किया जाने वाला एक ऑप्‍शनल कंपोनेंट।

8) Space to put a second NAND flash memory chip:

अतिरिक्त स्लॉट एक और मेमोरी चिप डालने के लिए जो स्‍टोरज कैपेसिटी को बढ़ा सकता है।

Create Bootable USB Drive-विंडोज के लिए बूटेबल यूएसबी ड्राइव बनाने का आसान तरीका

पेन ड्राइव के फायदे क्या हैं?

Advantages of pen drives in Hindi:

चूंकि सभी जानते हैं कि पेन ड्राइव और यूएसबी फ्लैश ड्राइव आईटी वर्ल्ड पर कुछ शानदार फीचर्स के कारण कैसे आक्रमण कर रहे हैं, इसने पारंपरिक डिवाइसेस को बदल दिया है जो डाटा स्टोरेज मीडिएम के लिए इस्तेमाल किए गए थे। नीचे मैंने पेन ड्राइव के कुछ फायदों का उल्लेख करने की कोशिश की है।

  • पोर्टेबल और लाइटवेट।
  • मजबूत।
  • 64 MB से 128 GB तक की विशाल डेटा कैपेसिटी।
  • एक कॉम्पैक्ट डिज़ाइन जो उन्हें पोर्टेबल बनाता है।
  • इन्हें बूटेबल मीडिया के रूप में उपयोग किया जा सकता है।
  • अन्य कंप्यूटर डिवाइसेस की तुलना में एक फास्‍ट डेटा ट्रांसफर रेट है।
  • वे डेटा को परमानेटली स्‍टोर कर सकते हैं और इसे सेकंडरी स्टोरेज डिवाइस भी कहा जा सकता है।
  • पेन ड्राइव या यूएसबी फ्लैश ड्राइव विभिन्न साइज़ में आते हैं और आसान ट्रांसपोर्टेशन के लिए जेब में रखा जा सकता है।
  • सीडी और डीवीडी की तरह खरोंच के कारण वे क्षतिग्रस्त नहीं होते।

WinSetupFromUSB के साथ कई विंडोज वर्जन के लिए एक बूटेबल फ्लैश ड्राइव बनाए

पेन ड्राइव के नुकसान क्या हैं?

Disadvantages of pen drives in Hindi:

  • यह पेन ड्राइव या यूएसबी फ्लैश ड्राइव इतने छोटे होते हैं कि वे आसानी से खो सकते है।
  • वे कंप्यूटर वायरस फैलाने के लिए प्राइमरी सोर्स हैं और कॉन्‍टैक्‍ट में आने पर अन्य कंप्यूटर को आसानी से संक्रमित कर सकते हैं।
  • हार्ड डिस्क की तरह हाई स्‍टोरेज कैपेसिटी नहीं है।

आपके पूरे पीसी का बैकअप लेने का एक ऑटोमेटिक, फूलप्रूफ और नि: शुल्क बैकअप सोल्‍यूशन

पेन ड्राइव के प्रसिद्ध निर्माता कौन हैं?

Famous manufacturer of Pen drives

  • Transcend
  • Kingston
  • SanDisk
  • Tohiba
  • HP

पेन ड्राइव पर अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

इसे पेन ड्राइव क्यों कहते हैं?

चूंकि यह एक गोलाकार डिस्क नहीं हैं, बल्कि एक छोटी सी स्टिक जैसी आकृति थी। फिर पेन ड्राइव शब्द आया क्योंकि यह पेन की तरह पोर्टेबल था और टोपी के साथ लगभग समान आकार का था। इसलिए एक आम आदमी (कंप्यूटर प्रौद्योगिकियों से संबंधित नहीं) के लिए, वह इसे सामान्य उपयोग की वस्तुओं से जोड़ना चाहता है, इसलिए इसे बोलचाल का नाम मिला।

क्या USB पेनड्राइव की तरह ही है?

मुख्य अंतर: पेन ड्राइव, जिसे मेमोरी स्टिक या यूएसबी स्टिक के रूप में भी जाना जाता है, का उपयोग कंप्यूटर से डेटा, रिकॉर्ड या किसी भी जानकारी को संग्रहीत करने के लिए किया जाता है। यूनिवर्सल सीरियल बस के लिए संक्षिप्त रूप में यूएसबी, उपकरण है जिसे 1990 के दशक में विकसित किया गया था। पेन ड्राइव और यूएसबी ड्राइव एक ही चीज है। शब्दों का प्रयोग कभी-कभी एक दूसरे के स्थान पर किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.