Home सवाल आईटी के.. HTML Hindi में! HTML क्या है? HTML Tags Hindi में

HTML Hindi में! HTML क्या है? HTML Tags Hindi में

HTML Hindi.

 HTML Hindi

Meaning of HTML in Hindi:

हिंदी में एचटीएमएल का अर्थ:

HTML एक संक्षिप्त शब्द है जो Hyper Text Markup Language के लिए है।

 

HTML Full Form:

Full Form of HTML is –

Hypertext Markup Language

 

HTML Full Form in Hindi:

HTML का लॉंग फॉर्म हिंदी में –

हाइपर टेक्‍स्‍ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल हैं / Hypertext Markup Language

 

What is HTML in Hindi?

हिंदी में HTML क्या है?

Hypertext Markup Language (HTML) वेब पेज और वेब ऐप्‍लीकेशन बनाने के लिए स्‍टैंडर्ड मार्कअप लैग्‍वेज है।

 

What Is Hyper Text And What Is Markup Language?

HyperText

देखते हैं हाइपर टेक्स्ट क्या है और मार्कअप लैंग्वेज क्या है?

HyperText ऐसी मेथड है जिसके द्वारा आप वेब पर मूव करते हैं – विशेष टेक्स्ट पर क्लिक करके जिसे हाइपरलिंक्स कहां जाता हैं, जो आपको अगले पेज पर ले जाते हैं।

फैक्‍ट यह है कि हाइपर का कोई सीधा मतलब नहीं है – यानी जब आप लिंक पर क्लिक करते हैं तो आप इंटरनेट पर किसी भी जगह जा सकते हैं – इसमें कुछ करने के लिए कोई सेट ऑर्डर नहीं है।

Markup वह हैं जो HTML टैग करते है। वे इसे एक निश्चित प्रकार के टेक्‍स्‍ट के रूप में चिह्नित करते हैं (उदाहरण के लिए इटैलिकेड टेक्स्ट)।

एक HTML डयॉक्‍युमेंट कई HTML टैग से बना होता है और प्रत्येक HTML टैग में अलग-अलग कंटेंट होते है।

HTML एलिमेंट HTML पेजेस के बिल्डिंग ब्लॉक हैं। HTML वेब पेजेस निर्माण करने के लिए कई ऑब्‍जेक्‍ट का इस्‍तेमाल करता हैं।

यह हेडिंग्स, पैराग्राफ, लिस्‍ट, लिंक्स, कोट्स और अन्य आइटम्‍स के लिए टेक्‍स्‍ट को स्ट्रक्चरल सिमैन्टिक्स करके स्ट्रक्चरल डयॉक्‍युमेंट बनाता हैं।

 

How does HTML Work in Hindi?

HTML कैसे काम करता है?

HTML में टेक्‍स्‍ट-फाइल में टाइप किए गए शॉर्ट कोड की एक श्रृंखला होती है – ये टैग होते हैं। टेक्‍स्‍ट को फिर एक HTML फ़ाइल के रूप में सेव जाता है, और इसे एक ब्राउज़र, जैसे इंटरनेट एक्सप्लोरर या क्रोम में ओपन किया जाता हैं।

ब्राउज़र इन फ़ाइल को पढ़ते है और टेक्स्ट को किसी विज़िबल रूप में तब्दील कर देता है।

 

History of HTML in Hindi:

एचटीएमएल का इतिहास:

1980 के दशक के उत्तरार्ध में, एक भौतिक विज्ञानी, टिम बर्नर्स-ली, जो CERN में कांट्रैक्टर थे, ने CERN रिसर्चर्स के लिए एक सिस्‍टम का प्रस्ताव रखा। 1989 में उन्होंने एक इंटरनेट आधारित हाइपरटेक्स्ट सिस्टम के प्रस्ताव का एक मेमो लिखा था।

टिम बर्नर्स-ली को HTML के पिता के रूप में जाना जाता है। HTML का पहला उपलब्ध डिस्क्रिप्शन 1991 के अंत में टिम द्वारा प्रस्तावित “”HTML Tags” नामक एक डयॉक्‍यूमेंट में था।

 

HTML Versions Timeline in Hindi:

1991

  • SGML के हाइब्रिड के रूप में HTML 1.0 डेब्यूट जिसमें टेक्‍स्‍ट मार्कअप लैंग्‍वेज में “href” टैग शामिल किया, जो डयॉक्‍युमेंट को लिंक करता था।
  • मूल रिलीज़ में केवल 20 एलिमेंट्स शामिल थे, जिनमें से 13 अभी भी HTML 4.01 का हिस्सा हैं।

 

1995

  • HTML 2.0 पहला ऑफिशियल HTML का स्‍टैंडर्ड बना – एक बेस स्‍टैंडर्ड जिसके द्वारा सभी ब्राउज़रों को HTML 3.2 तक मापा गया था।
  • वेब एक्स्प्लोश़न के दौरान HTML 2.0 को बेंचमार्क के रूप में इस्तेमाल किया गया था।
  • 1993 में जारी किए गए अन्य ब्राउज़रों में Cello, Arena, Lynx, tkWWW और Mosaic शामिल थे।

 

1996

  • HTML टेबल को सपोर्ट करने लगा था, जिससे इनफॉर्मेशन को टैब्‍युलर फॉर्म पर प्रेजेंट किया जा सकता था।
  • HTML “क्लाइंट साइड इमेज मैप्स” को भी सपोर्ट करता है, जो Uniform Identifier (URI) द्वारा स्पेसिफ़िएड विभिन्न नेटवर्क रिसोर्सेसे को संदर्भित करने के लिए एक इमेज के विभिन्न एरियाज पर क्लिक करने की अनुमति देता है।
  • पहले CSS स्पेसिफिकेशन एक आधिकारिक W3C रिकमेन्डेशन बन गया। और पूरा होने के बावजूद भी वेब ब्राउज़र को इसके स्पेसिफिकेशन के पूर्ण इम्प्लीमेंटेशन के लिए 3 साल से अधिक समय लग गया।

 

14 जनवरी, 1997

  • HTML 3.2 को W3C रिकमेन्डेशन के रूप में पब्लिश किया गया। यह पहला वर्जन था जिसे W3C द्वारा विशेष रूप से डेवलप और स्टैन्डर्डाइज़्ड किया गया, जैसा कि IETF ने 12 सितंबर 1996 को अपने HTML वर्किंग ग्रुप को बंद कर दिया था।

 

18 दिसंबर, 1997

  • HTML 4.0 को W3C रिकमेन्डेशन के रूप में पब्लिश किया गया।

 

24 अप्रैल, 1998

  • HTML 4.0 को वर्जन नंबर में वृद्धि किए बिना मामूली एडिटिंग के साथ फिर से जारी किया गया था।

 

24 दिसंबर, 1999

  • HTML 4.01 को W3C रिकमेन्डेशन के रूप में पब्लिश किया गया।

 

मई 2000

  • ISO/IEC 15445:2000 (“ISO HTML”, HTML 4.01 पर आधारित) को ISO/IEC इंटरनैशलन स्‍टैंडर्ड के रूप में पब्लिश किया गया।
  • HTML और XML दोनो जॉइन होने पर XHTML बनता हैं।

 

2002

  • टर्म “टेबललेस डिज़ाइन” पेजेस पर HTML एलिमेंट को स्थान देने के लिए लेआउट टेबल के बजाय CSS का उपयोग दर्शाता है।
  • वेब पेजों के भीतर टेबल में इनफॉर्मेशन को प्रेजेंट करते समय HTML टेबल में अभी भी उनका वैध स्थान है।
  • यह वह समय था जब शेयरींग और Weblogs और RSS जैसे कंटेंट को एक्‍सचेंज करने के लिए नई आडियाज को ग्रहण किया और इसे “Web 2.0” कहा गया।

 

28 अक्टूबर 2014

  • HTML 5 को W3C रिकमेन्डेशन के रूप में पब्लिश किया गया।

 

November 1, 2016

  • HTML 5.1 को W3C रिकमेन्डेशन के रूप में पब्लिश किया गया।

 

HTML Files:

हर वेब पेज वास्तव में एक HTML फ़ाइल है। प्रत्येक HTML फ़ाइल सिर्फ एक प्‍लेन-टेक्‍स्‍ट फ़ाइल होती है, लेकिन यह .txt के बजाय .html फ़ाइल एक्सटेंशन कि होती है। यह कई HTML टैग्स से बनी होती है साथ ही साथ वेब पेजेस के लिए कंटेंट भी होते हैं।

एक HTML डयॉक्‍युमेंटस् कई HTML टैग से बनते है और प्रत्येक HTML टैग में अलग-अलग कंटेंट होते है।

 

HTML फ़ाइल का उदाहरण:

चलो HTML का एक सरल उदाहरण देखें

<!DOCTYPE>

<html>

<body>

<h1>This is My First Heading</h1>

<p>This is My First Paragraph.</p>

</body>

</html>

 

HTML फ़ाइल के इस उदाहरण में –

DOCTYPE: यह डयॉक्‍यूमेंट टाइप को डिफाइन करता है।

html: HTML टैग के बीच के टेक्‍स्‍ट वेब डयॉक्‍यूमेंटस् को डिस्क्राइब करते है।

body : body टैग के बीच के टेक्‍स्‍ट वेब पेजेस कि बॉडी कंटेंट को  डिस्क्राइब करते है। इस body टैग के बीच के कंटेंट एंड यूजर को दिखाई देते हैं।

h1 : h1 टैग के बीच के टेक्‍स्‍ट वेबपेज के हेडिंग को डिस्क्राइब करते है।

p : p टैग के बीच के टेक्‍स्‍ट वेबपेज के पैराग्राफ को डिस्क्राइब करते है।

Features of HTML in Hindi:

हिंदी में HTML की विशेषताएं:

1) यह एक बहुत आसान और सरल भाषा है। इसे आसानी से समझा जा सकता है और मॉडिफाइ किया जा सकता है।

2) HTML के साथ इफेक्टिव प्रेजेटेंशन बनाना बहुत आसान है क्योंकि इसमें बहुत सारे फॉर्मेटिंग टैग हैं।

3) यह एक मार्कअप लैंग्वेज है, इसलिए यह टेक्‍स्‍ट के साथ वेब पेजों को डिज़ाइन करने का एक लचीलापन तरीका प्रदान करता है।

4) यह प्रोग्रामर को वेब पेजेस पर लिंक एड करने की सुविधा देता है (html anchor टैग द्वारा), इसलिए यह ब्राउज़िंग में यूजर के इंटरेस्‍ट को बढ़ाता है।

5) यह प्लेटफॉर्म इन्डिपेन्डन्ट है क्योंकि इसे विंडोज, लिनक्स और मैकिन्टोश जैसे किसी भी प्लेटफॉर्म पर डिस्‍प्‍ले किया जा सकता है।

6) यह प्रोग्रामर को वेब पेज पर ग्राफिक्स, वीडियो और साउंड एड करने के लिए सुविधा देता है, जो इसे अधिक आकर्षक और इंटरैक्टिव बनाता है।

 

 

HTML Tags in Hindi:

हिंदी में एचटीएमएल टैग:

HTML टैग में तीन मुख्य भाग होते हैं: opening tag, content और closing tag। लेकिन कुछ HTML टैग unclosed टैग भी होते हैं।

जब कोई वेब ब्राउज़र HTML डयॉक्‍यूमेंट पढ़ता है, तो ब्राउज़र इसे ऊपर से नीचे तक और बाएं से दाएं को पढ़ता है।

HTML टैग्स का इस्तेमाल HTML डयॉक्‍यूमेंटस् बनाने के लिए किया जाता है। प्रत्येक HTML टैग्स में विभिन्न प्रॉपर्टीज होती हैं।

Syntax

<tag> content </tag>

 

HTML Tag Examples in Hindi

एचटीएमएल टैग उदाहरण-

नोट: HTML टैग हमेशा लोअरकेस लेटर्स में लिखा जाता है। बेसिक HTML टैग नीचे दिए गए हैं:

<p> Paragraph Tag </p>

<h2> Heading Tag </h2>

<b> Bold Tag </b>

<i> Italic Tag </i>

<u> Underline Tag</u>

Unclosed HTML Tags-

कुछ एचटीएमएल टैग क्‍लोज नहीं होते, उदाहरण के लिए br और hr

<br> Tag: br का मतलब ब्रेक लाइन। यह कोड की लाइन को ब्रेक करता है।

<hr> Tag: hr हॉरिजॉन्टल रूल के लिए है। इस टैग को वेबपेज पर एक हॉरिजॉन्टल लाइन के लिए प्रयोग किया जाता है।

 

HTML Meta Tags-

DOCTYPE, title, link, meta और style

HTML Text Tags

<p>, <h1>, <h2>, <h3>, <h4>, <h5>, <h6>, <strong>, <em>, <abbr>, <acronym>, <address>, <bdo>, <blockquote>, <cite>, <q>, <code>, <ins>, <del>, <dfn>, <kbd>, <pre>, <samp>, <var> and <br>

HTML लिंक टैग-

<a> और <base>

 

HTML इमेज और ऑब्जेक्ट टैग-

<img>, <area>, <map>, <param> और <object>

 

HTML लिस्‍ट टैग-

<ul>, <ol>, <li>, <dl>, <dt> और <dd>

 

HTML टेबल टैग-

table, tr, td, th, tbody, thead, tfoot, col, colgroup और caption

 

एचटीएमएल फॉर्म टैग-

form, input, textarea, select, option, optgroup, button, label, fieldset और legend

 

HTML फ़ॉर्मेटिंग:

HTML फॉर्मेटिंग वेब पेजेस के बेहतर लुक और फील के लिए टेक्‍स्‍ट को फॉर्मेट करने कि प्रोसेस है।

HTML में कई फॉर्मेटिंग टैग हैं। इन टैग का उपयोग टेक्स्ट को बोल्ड, इटलाइज्ड, या अंडरलाइन करने के लिए किया जाता है।

 

यहां, हम 7 HTML फ़ॉर्मेटिंग टैग सीखने जा रहे हैं।

1) Bold Text

यदि आप <b> ………… </ b> एलिमेंट के भीतर कुछ लिखते हैं, तो वह बोल्ड अक्षरों में दिखाया जाएगा।

उदाहरण:

<p> <b>I am Bold Text</ b> </ p>

 

2) Italic Text

यदि आप <i> ………… </ i> एलिमेंट के भीतर कुछ लिखते हैं, तो वह इटैलिक अक्षरों में दिखाया जाएगा।

उदाहरण:

<p> <i> I am Italic Text</ i> </ p>

 

3) HTML Marked formatting:

यदि आप टेक्‍स्‍ट को मार्क या हाइलाइट करना चाहते हैं, तो आपको <mark> ……… </ mark> के भीतर कंटेंट लिखने चाहिए।

उदाहरण:

<h2> I am Marked Text </ h2>

 

4) Underlined Text:

यदि आप <u> ……… </ u> एलिमेंट के भीतर कुछ लिखते हैं, तो उसे अंडरलाइन टेक्‍स्‍ट में दिखाया जाएगा।

उदाहरण:

<p> <u>I am Underline Text</ u> </ p>

 

5) Strike Text:

<strike>…………………..</strike> एलिमेंटके अंदर लिखी गई कोई भी चीज़ स्ट्राइकथ्रू के साथ डिस्‍प्‍ले की जाती है।

उदाहरण:

<p> <strike>I am A Strikethrough Text</strike>.</p>

 

6) Superscript Text:

यदि आप <sup> ………….. </ sup> एलिमेंट के अंदर कंटेंट लिखते हैं, तो वे सुपरस्क्रिप्ट में दिखाए जाएंगे।

उदाहरण:

<p>1 <sup>st</sup> January 2018</p>

 

7) Subscript Text:

यदि आप <sub> ………….. </ sub> एलिमेंट के अंदर जो भी केंटेंट लिखते हैं, तो वह सबस्क्रिप्ट में दिखाया जाएगा।

उदाहरण:

<p>H <sub>2</sub>O</p>

 

HTML Heading:

HTML हेडिंग या HTML h टैग को एक टाइटल या सबटाइटल के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जिसे आप वेबपेज पर डिस्‍प्‍ले करना चाहते हैं।

जब आप हेडिंग टैग्स <h1> ……… </ h1> के भीतर टेक्स्ट लिखते हैं, तो यह ब्राउज़र पर बोल्ड फॉर्मेट में डिस्‍प्‍ले किया जाता है और टेक्‍स्‍ट कि साइज हेडिंग की संख्या पर निर्भर होती है।

छह अलग HTML हेडिंग हैं जो <h1> से <h6> टैग के साथ डिफाइन किए जाते हैं-

h1 सबसे बड़ा हेडिंग वाला टैग है और h6 सबसे छोटा है। इसलिए h1 सबसे महत्वपूर्ण हेडिंग के लिए उपयोग किया जाता है और h6 कम से कम महत्वपूर्ण के लिए उपयोग किया जाता है।

उदाहरण:

See this example:

<h1> I am Heading no. 1</h1>

<h2> I am Heading no. 2</h2>

<h3> I am Heading no. 3</h3>

<h4> I am Heading no. 4</h4>

<h5> I am Heading no. 5</h5>

<h6> I am Heading no. 6</h6>

 

HTML Paragraph:

HTML पैराग्राफ या HTML p टैग का इस्तेमाल वेबपेज में पैराग्राफ को डिफाइन करने के लिए किया जाता है।

आइए देखें कि यह कैसे काम करता है। यह एक महत्वपूर्ण पॉइंट है कि एक ब्राउज़र स्वयं पैराग्राफ से पहले और बाद में एक एम्‍प्‍टी लाइन एड करता है।

उदाहरण:

<p>I am first paragraph.</p>

<p> I am second paragraph.</p>

<p> I am third paragraph.</p>

 

HTML Hindi.

HTML In Hind, HTML Hindi, Feature of HTML in Hindi.

सारांश
आर्टिकल का नाम
HTML in Hindi
लेखक की रेटिंग
51star1star1star1star1star