कैसे सुने इयरफ़ोन से म्यूज़िक अपने कानों को नुकसान पहुंचाए बिना?

How To Use Earphones Without Damaging Ears Hindi

हम सभी हमारे इयरफ़ोन से प्यार करते हैं और वे जो प्राइवेसी प्रदान करते हैं। हम हमेशा उनका आनंद लेते हैं, लेकिन साथ ही, हमें इयरफ़ोन में मौजूद खतरों के प्रति जागरूक होना चाहिए। बहुत से लोग अनहेल्‍थी लेवर पर वॉल्‍यूम को बढ़ाते हैं और उनकी सुनने की क्षमता को दीर्घकालिक नुकसान पहुंचाते हैं।

इयरफ़ोन का सबसे ग्रेट एडवांटेज यह हैं कि इसमें हम म्यूज़िक में हर छोटी से छोटी साउंड को सुन सकते है, यही कारण है कि प्रोफेशनल्‍स लाउडस्पीकर के बजाय हेडफ़ोन का उपयोग करते हैं। हेडफ़ोन के साथ, आवाज सीधे ट्रांसड्यूसर से इयरड्रम तक बिना डिस्टॉर्शन के जाती है।

बहुत सारे लोग हर दिन लंबे समय तक इयरफ़ोन का उपयोग करते हैं। रीसर्चर ने दिखाया है कि लंबे समय तक इयरफ़ोन का उपयोग कानों को नुकसान पहुंचा सकता है।

आजकल आपको अधिक से अधिक वयस्कों और किशोरों को इयरबर्ड के उपयोग से सुनने की क्षमता की हानि और डिजिटल डिवाइसेस से जोर से साउंड देख रहे हैं। यह समस्या हर रोज़ बढ़ रही है।

इयरफ़ोन और इयरबड का उपयोग करने के तरीके पर डेटा, विशेष रूप से, आप जो भी सुनते हैं, इसे कैसे सुनते हैं, और आपके कान में एक स्पीकर की क्‍वालिटी जैसी बाते हमेशा के लिए श्रवण हानि का कारण बन सकती है।

मतलब एक बार जब आपके कानों के अंदर के छोटे हेयर सेल को नुकसान पहुंचता हैं, तो वे वापस नहीं बढ़ते।

हमने इस बात को अपनी पुरानी पीढ़ी से सुना है कि इयरफ़ोन आपको बहरा बना सकता है। हालांकि, यह ऐसा कुछ नहीं हो सकता है जो तुरंत होता है लेकिन लंबी अवधि में, इससे नुकसान हो सकता है। आज पाए जाने वाले इयरफ़ोन का सबसे आम प्रकार इयरबड हैं जो आपके कानों के अंदर फिट होते हैं। ये इयरफ़ोन आपके कान कैनल के अंदर कसकर बैठते हैं और एक्‍सटर्नल साउंड का बेहतर इन्सुलेशन प्रदान करते हैं। इसके अतिरिक्त, यह एक क्लियर और शार्प म्यूज़िक सुनने का अनुभव प्रदान करता है।

वर्ल्ड हेल्‍थ ऑर्गनाइज़ेशन ने कहा है कि युवा वयस्कों के बीच हियरिंग प्रॉब्‍लम का मुख्य कारण बड़ी आवाज का म्यूज़िक है।

जब हमारे सुनने की क्षमता की बात आती है, तो क्या आपको इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता?

आज मैं इस बात का जवाब देने की कोशिश करूंगा की लंबे समय तक कानों को नुकसान पहुंचाए बिना इयरफ़ोन का उपयोग कैसे करें। ये सरल टिप्स आपकी सुनने की क्षमता को किसी भी सदा के लिये होने वाली क्षति को रोकने में आपकी मदद कर सकते हैं।

 

इन टिप्‍स के साथ इयरफ़ोन का उपयोग करके आप कान क्षति से खुद को कैसे बचा सकते हैं-

 

1) 85dB की सीमा तक ही साउंड या म्यूज़िक को सुने:

आप किसी भी प्रकार के ईरफ़ोन का उपयोग करके आसानी से कान क्षति से खुद को बचा सकते हैं। वर्ल्ड हेल्‍थ ऑर्गनाइज़ेशन ने एक स्‍टैंडर्ड निर्धारित किया है जो आपके कानों के लिए हानिकारक हो सकता है। 85dB की सीमा से ऊपर की कोई साउंड या म्यूज़िक कान के लिए हानिकारक माना जाती है। यहां तक ​​कि जोर की आवाजें आपके इयरड्रम को स्थायी रूप से तोड़ सकती हैं।

 

2) हमेशा अपने इयरफ़ोन के वॉल्यूम को 60% के निचे रखें

इस एक बात को हमेशा ध्‍यान में रखिए कि म्यूज़िक सुनने के दौरान आपको अपने इयरफ़ोन का वॉल्‍यूम 60% से अधिक  कभी भी नहीं रखना चाहिए।

यह एक गंभीर मुद्दा है कि अधिकांश म्यूज़िक प्‍लेयर्स और यहां तक ​​कि मोबाइल प्लेटफ़ॉर्म ने यूजर्स को हाई लेवल की जोखिम की चेतावनी देना शुरू कर दिया है। जब आप अपने इयरफ़ोन प्लग करते हैं और 60% से ऊपर वॉल्‍यूम को बढ़ाते हैं तो आपको एक चेतावनी का छोटा पॉप दिखाई देता हैं।

कई लोग इसे अनदेखा करते हैं और वॉल्यूम को बढ़ाते हैं, इससे न केवल आपके इयरड्रम को नुकसान हो सकता है बल्कि कान के अंदर तंत्रिका की क्षति भी हो सकती है।

 

3) हर मिनट 60 मिनट के लिए इयरफ़ोन का उपयोग करने का समय सीमित करें:

क्या आपको लंबे समय तक म्यूज़िक सुनने की आदत है? अब आपकी आदत बदलने और यह सुनिश्चित करने का समय है कि आप इयरफ़ोन के उपयोग को लिमिटेड कर दें।

बहुत ही सामान्य नियम का आप अनुसरण कर सकते हैं और वह हैं 60/60 नियम है। इसका मतलब है कि एक बार में 60 मिनट के लिए 60% वॉल्यूम पर इयरफ़ोन का उपयोग करें।

इससे यह सुनिश्चित होगा कि आपके पास इयरफ़ोन से किसी भी कान की क्षति से ऑप्टिमम प्रोटेक्‍शन है।   यदि आप वास्तव में यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि आप सुरक्षित हैं, तो विशेषज्ञों का सुझाव है कि इयरफ़ोन का उपयोग करके म्यूज़िक सुनने के लिए दिन में केवल 60 मिनट तक ही म्यूज़िक सुनना चाहिए।

यह आदत बनाना आपके कानों पर दबाव को खत्म कर देगा और नुकसान की संभावनाओं को कम करेगा।

 

4) अच्छी क्‍वालिटी और Noise Cancellation ईरफ़ोन खरीदें:

एक्टिव या पैसिव नॉइस कैंसलेशन वाले हेडफ़ोन को खरीदना ही समझदारी है। नॉइस कैंसलेशन वह तकनीक है जो इयरफ़ोन को बाहरी शोर को काटने की अनुमति देती है। यह बैकग्राउंड नॉइस के हस्तक्षेप के बिना कम वॉल्‍युम में बेहतर साउंड और म्यूज़िक प्राप्त करने में आपकी सहायता करेगा।

नॉइस कैंसलेशन के बिना सामान्य इयरफ़ोन हमेशा आपको स्पष्ट म्यूज़िक के लिए वॉल्यूम बढ़ाने के लिए प्रेरित करेंगे। हालांकि, नॉइस कैंसलेशन इयरफ़ोन भी कम वॉल्‍यूम में हाई क्‍वालिटी वाली साउंड प्रदान कर सकते है।

इस तरह आपको अपने वॉल्यूम को क्रैंक करने के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा, और आप म्यूज़िक का आनंद भी लें पाएंगे।

 

5) सुनिश्चित करें कि आपके ईरफ़ोन आपके कानों के लिए बिल्कुल सही फ़िट हैं:

कान के विभिन्न आकार वाले लोगों के लिए इयरफ़ोन विभिन्न आकारों में आते हैं। नॉइस कैंसलेशन वाले इयरफ़ोन का उपयोग करने के लाभ के समान, बेहतर फिटिंग इयरफ़ोन होने से बेहतर म्यूज़िक आउटपुट सुनिश्चित होगा।

एक ढीला फिट ईरफ़ोन साउंड को रिसाव कर सकता है और म्यूज़िक का आनंद लेने के लिए वॉल्यूम लेवल को बढ़ाने के लिए आपको लुभा सकता है। यदि आप हाई वॉल्‍यूम लेवल पर म्यूज़िक सुन रहे हैं तो यह आपके कानों को नुकसान पहुंचाएगा।

आप ज्यादातर विभिन्न साइज के अपने हेडफ़ोन के साथ कुछ सुझाव प्राप्त करते हैं। उन सभी को आजमाएं और देखें कि कौन सा आपको पूरी तरह से फिट करता है और किसी भी साउंड लिक का कारण नहीं बनता है।

 

6) इयर हेडफ़ोन का उपयोग करें:

विशेषज्ञों ने कमेंटस् की है कि इयर हेडफ़ोन का उपयोग कान के कैनल के अंदर गहरे बैठे इयरफ़ोन की तुलना में एक अंतर बना सकते है। ईयरफ़ोन आम तौर पर कान के अंदर घुसे होते हैं जहां स्पीकर या हेडफ़ोन कान के ऊपर अच्छी तरह से फिट होते है।

कान पर, मॉडल हेडफ़ोन हेडबैंड के साथ आपके कानों पर फिट होते हैं। वे अधिक सुरक्षित होते हैं क्योंकि इसका इयरड्रम पर कोई प्रत्यक्ष प्रभाव नहीं पड़ता।

इसके अतिरिक्त, बेहतर हेडफ़ोन प्रदान करने के लिए बड़े हेडफ़ोन बड़े ड्राइवरों के साथ बड़े होते हैं। यह उन लोगों के लिए आदर्श हो सकते है जो उनके कान की सुरक्षा के साथ सर्वश्रेष्ठ म्यूज़िक सुनने का अनुभव ढूंढ रहे हैं।

 

अंतिम फैसला:

तो, कानों को नुकसान पहुंचाए बिना इयरफ़ोन का उपयोग करने के तरीके पर कुछ सुझाव दिए गए हैं। अपने कान और सुनने की क्षमताओं को किसी भी नुकसान से रोकने के लिए इन्हें अपनी दैनिक आदत में शामिल करें। हमारे सुझाव और अनुभव के आधार पर हम हर दिन 60 मिनट से कम समय के लिए 60% से कम वॉल्यूम लेवल पर हेडफ़ोन या इयरफ़ोन का उपयोग करने की अत्यधिक अनुशंसा करेंगे।

 

How To Use Earphones Without Damaging Ears Hindi.

How To Use Earphones Without Damaging Ears Hindi, How To Use Earphones Without Damaging Ears in Hindi. How to listen music, Health tips while using Android

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.