Home सवाल आईटी के.. फ्लॉपी डिस्क क्या है? – डेफिनेशसन, एडवांटेज और डिस-एडवांटेज

फ्लॉपी डिस्क क्या है? – डेफिनेशसन, एडवांटेज और डिस-एडवांटेज

Floppy Disk Hindi

Floppy Disk In Hindi Meaning

डेटा स्‍टोरेज के लिए एक फ्लेक्सिबल रिमूवेबल मैग्‍नेटिक डिस्क (आमतौर पर एक हार्ड प्लास्टिक खोल में लगाया जाता है)।

 

What Is a Floppy Disk in Hindi?

फ्लॉपी डिस्क क्या है?

फ्लॉपी डिस्क कंप्यूटर सिस्टम के लिए एक मैग्नेटिक स्‍टोरेज मेडियम है।

इसे वैकल्पिक रूप से फ्लॉपी या फ्लॉपी डिस्क, फ्लॉपी डिस्केट के रूप में जाना जाता है

 

Floppy Disk Kya Hai In Hindi:

फ्लॉपी डिस्क एक स्क्वायर प्लास्टिक से बने कैरीअर में सील एक पतली, लचीली चुंबकीय डिस्क होती है। फ्लॉपी डिस्क से डेटा रिड और राइट के लिए, कंप्यूटर सिस्टम में Floppy Disk Drive (FDD) होना चाहिए। फ्लॉपी डिस्क को फ्लॉपी के रूप में भी संदर्भित किया जाता है।

पर्सनल कंप्यूटिंग के प्रारंभिक दिनों के बाद से, फ्लॉपी डिस्क का व्यापक रूप से सॉफ़्टवेयर डिस्ट्रीब्यूट करने, फ़ाइलों को ट्रांसफर करने और डेटा की बैक-अप कॉपीज बनाने के लिए उपयोग किया जाता था। जब तक हार्ड ड्राइव बहुत महंगे थे, तो फ्लॉपी डिस्क का इस्तेमाल कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम को स्टोर करने के लिए भी किया जाता था।

 

Floppy Disk History In Hindi:

फ्लॉपी डिस्क ड्राइव (एफडीडी) का आविष्कार 1967 में एलन शुगार्ट द्वारा IBM में किया गया था। पहली फ्लॉपी ड्राइव ने 8 इंच की डिस्क का इस्तेमाल किया (जिसे बाद में “डिस्केट” कहा जाता था क्योंकि यह छोटा हो गया था), जो 5.25 इंच की डिस्क में विकसित हुआ था जिसे अगस्त 1981 में पहले आईबीएम पर्सनल कंप्यूटर पर इस्तेमाल किया गया। 5.25 इंच की डिस्क में आज के 3.5-इंच डिस्केट की 1.44 MB क्षमता की तुलना में 360 KB थे।

5.25-इंच डिस्क को “फ्लॉपी” कहा जाता था क्योंकि डिस्केट पैकेजिंग एक बहुत लचीला प्लास्टिक मटेरियल था।

1980 के दशक के मध्य तक, मैग्नेटिक रिकॉर्डिंग मीडिया में सुधार के साथ-साथ रिड/राइट हेड के बेहतर डिज़ाइनों ने कम-लचीला, 3.5-इंच, 1.44-मेगाबाइट (MB) क्षमता FDD का उपयोग किया। कुछ सालों तक, कंप्यूटरों में FDD साइज (3.5 इंच और 5.25 इंच) दोनों थे। लेकिन 199 0 के मध्य तक, 5.25 इंच का वर्शन लोकप्रियता से बाहर हो गया था, लेकिन आंशिक रूप से क्योंकि डिस्केट की रिकॉर्डिंग सतह खुली होने से यह आसानी से फिंगरप्रिंट द्वारा दूषित हो सकती थी।

 

Parts of a Floppy Disk Drive in Hindi:

फ्लॉपी डिस्क एक कैसेट टेप की तरह है:

Floppy Disk Hindi

दोनों लौह ऑक्साइड के साथ लेपित एक पतली प्लास्टिक बेस मटेरियल का उपयोग करते हैं। यह ऑक्साइड एक फेरोमैग्नेटिक मटेरियल है, जिसका अर्थ है कि यदि आप इसे चुंबकीय क्षेत्र में एक्‍सपोज करते हैं तो इसे क्षेत्र द्वारा स्थायी रूप से चुंबकीय बना दिया जाता है।

दोनों तुरंत जानकारी रिकॉर्ड कर सकते हैं।

दोनों को मिटाया जा सकता है और कई बार पुन: उपयोग किया जा सकता है।

दोनों बहुत सस्ती और उपयोग करने में आसान हैं।

एक कैसेट टेप की तरह एक फ्लॉपी डिस्क, दोनों तरफ एक मैग्‍नेटिक मटेरियल के साथ लेपित प्लास्टिक के पतले टुकड़े से बनी होती है। हालांकि, इसे एक लंबे पतले रिबन की बजाय डिस्क की तरह आकार दिया जाता है। ट्रैक को कन्सेन्ट्रिक रिंग में अरेंज किया जाता है ताकि सॉफ़्टवेयर 2-18 नंबर तक की फाइलों में फास्‍ट फॅारवर्ड किए बिना “file 1” से “file 19” पर सीधे जंप कर सके। डिस्केट एक रिकॉर्ड की तरह स्पिन करता है और हेड सही ट्रैक पर जाते हैं, जो डाइरेक्‍ट एक्‍सेस स्‍टोरेज के रूप में जाना जाता है।

 

Types Of Floppy Disk In Hindi:

फ्लॉपी डिस्क के प्रकार:

कई प्रकार के फ्लॉपी डिस्क विकसित किए गए हैं। फ्लॉपी का आकार छोटा हो गया, और स्‍टोरेज कैपेसिटी में वृद्धि हुई। हालांकि, 1990 के दशक में, हार्ड डिस्क ड्राइव, ज़िप ड्राइव, ऑप्टिकल ड्राइव और यूएसबी फ्लैश ड्राइव समेत अन्य मीडिया, फ्लॉपी डिस्क को प्राइमरी स्टोरेज माध्यम के रूप में रिप्‍लेस करने लगे।

बाजार में आने वाली पहली फ्लॉपी डिस्क व्यास में 8 इंच (200 मिमी) थीं। डिस्क एक लचीला प्लास्टिक जैकेट द्वारा संरक्षित किया गया था। 1970 के दशक के अंत में 8 इंच की डिस्क 1MB डेटा स्टोर कर सकती थी। इसके तुरंत बाद उसी डिजाइन के एक छोटे वर्शन, 5.25-इंच (133 मिमी) फ्लॉपी के बाद, जो हाइ डेनसिटी मीडिया और रिकॉर्डिंग तकनीकों का उपयोग करके समान मात्रा में जानकारी स्टोर कर सकता था।

 

1) 8″ Floppy Disk:

Floppy Disk Hindi - 8 inch Floppy Disk

पहली डिस्क 1971 में पेश की गई थी। डिस्क एक चुंबकीय कोटिंग के साथ व्यास में 8 इंच की थी, जो 1MB की क्षमता वाले कार्डबोर्ड केस में अटैच थी। हार्ड ड्राइव के विपरीत, हेड, कैसेट या वीडियो प्लेयर की तरह डिस्क को टच होता था।

 

2) 5.25 Inch Floppy Disk Drive:

Floppy Disk Hindi - 5.25 Inch Floppy Disk

5.25 इंच फ्लॉपी डिस्क पर डेटा रिड और राइट करने के लिए पुराने सिस्टम 5.25 इंच फ्लॉपी डिस्क ड्राइव का उपयोग करते थे। ड्राइव में डिस्क डालने के बाद फ्लॉपी डिस्क को लॉक करने के लिए ड्राइव के सामने एक लीवर है जो घड़ी की दिशा में बंद होना चाहिए। ड्राइव से फ्लॉपी डिस्क को हटाने के लिए आपको लीवर को घड़ी की उलट दिशा में बदलना होगा।

 

3) 3.5 Inch Floppy Disk Drive:

Floppy Disk Hindi - 3.5 Inch Floppy Disk

3.5 इंच फ्लॉपी डिस्क ड्राइव 3.5 इंच फ्लॉपी डिस्क पर डेटा रिड और राइट कर सकते है। 3.5 इंच फ्लॉपी ड्राइव प्रति मिनट 300 रोटेशन की स्‍पीड से फ्लॉपी डिस्क स्पिन करती है। यह फ्लॉपी को डिस्क के प्रत्येक साइड पर 80 ट्रैक के साथ फॉर्मेटेड करने में सक्षम बनाता है। प्रत्येक ट्रैक 18 सेक्‍टर में डिवाइड है। यह सेक्‍टर 512 बाइट को होल्‍ड कर सकता हैं। 3.5 इंच फ्लॉपी डिस्क ड्राइव में एक इजेक्‍ट बटन भी है जिसका उपयोग ड्राइव से फ्लॉपी डिस्क को निकालने के लिए किया जाता है।

3.5 इंच फ्लॉपी में हाई डेनसिटी हैं और इसमें 720 KB डेटा होल्‍ड हो सकता था। फ्लॉपी डिस्क को तब बेहतर किया गया था और हाई डेनसिटी वाली फ्लॉपी डिस्क बनाने के लिए वृद्धि हुई जो 1.44 MB डेटा स्‍टोर कर सकती थी। 3.5 इंच फ्लॉपी डिस्क को तब बेहतर किया गया था और डबल-साइडेड फ्लॉपी डिस्क बनाई गई थी जो फ्लॉपी डिस्क के दोनों साइड पर डेटा को डेटा स्टोर कर सकती थी।

3.5 इंच फ्लॉपी डिस्क में डिस्क के नीचे दो छेद हैं। एक छेद, फ्लॉपी डिस्क ड्राइव को डेनसिटी कम या हाई हैं यह पहचानने में सक्षम बनाता है। दूसरा फ्लॉपी डिस्क का राइट प्रोटेक्‍टेड टैब है। यह टैब हमें फ्लॉपी डिस्क पर डेटा को गलती से मॉडिफाइ या डिलिट करने से बचाने में सक्षम बनाता है। इस स्विच को स्लाइडिंग डाउन करने पर फ्लॉपी डिस्क केवल रिड होगी। फ़्लॉपी डिस्क पर डेटा को रिड और राइट करने के लिए आपको स्विच ऊपर की तरफ स्लाइड करना होगा।

 

फ्लॉपी डिस्क कैसे इस्तेमाल किए गए थे?

प्रारंभिक कंप्यूटरों में सीडी-रोम ड्राइव या यूएसबी नहीं थे, और फ्लॉपी डिस्क कंप्यूटर पर एक नया प्रोग्राम इंस्‍टॉल करने या आपकी जानकारी का बैकअप लेने का एकमात्र तरीका था। यदि प्रोग्राम छोटा था (3.5 “फ्लॉपी डिस्क के लिए 1.44 MB से कम) तो प्रोग्राम को एक फ्लॉपी डिस्क से इंस्‍टॉल किया जा सकता था। हालांकि, अधिकांश प्रोग्राम 1.44 MB से बड़े थे, इसलिए अधिकांश प्रोग्रामों में एकाधिक फ्लॉपी डिस्केट्स की आवश्यकता होती थी। उदाहरण के लिए, विंडोज 95 का वर्शन 13 DMF डिस्केट पर आया और एक समय में एक डिस्क को इंस्‍टॉल करना पड़ा।

 

क्या फ्लॉपी डिस्केट्स आज भी उपयोग किए जाते हैं?

अभी भी कुछ मरने वाले लोग हैं जो अभी भी फ्लॉपी डिस्केट्स का उपयोग कर रहे हैं, कुछ सरकारें अभी भी 8 “फ्लॉपी डिस्केट्स का उपयोग करती हैं। हालांकि, 2000 के दशक के शुरुआती कंप्यूटरों में फ्लॉपी डिस्क ड्राइव लगाना बंद हो गया था, क्योंकि यूजर्स सीडी-आर और ज़िप ड्राइव को इस्तेमाल करने लगे थे। माइक्रोसॉफ्ट विंडोज के सभी लैटेस्‍ट वर्शन में अब फ्लॉपी ड्राइव के लिए सपोर्ट नहीं है।

 

Floppy Disk Hindi.

Floppy Disk Hindi, Floppy Disk in Hindi.

सारांश
आर्टिकल का नाम
Floppy Disk in Hindi
लेखक की रेटिंग
51star1star1star1star1star