डेटा कैसे लॉस्‍ट होता है? डाटा रिकवरी क्या है? और यह कैसे काम करता है?

Data Lost Recovery Hindi

किसी समय हम में से कई डेटा खो जाने की स्थिति से गुजरे हांगे| वायरस, करप्‍ट या अॅक्‍सेस ना होनेवाले डेस्‍कटॉप, लॅपटॉप या अन्‍य एक्‍सटर्नल स्‍टोरेज से हमारा डेटा नष्‍ट हुआ है| इस पोस्‍ट में सबसे आम डेटा नष्‍ट होने की स्थिती का वर्णन है और डेटा रिकवरी के बारे में जानकारी है|

 

Data Recovery:

सरल भाषा में डेटा रिकवरी याने नष्‍ट हुआ डेटा रिस्‍टोर करने की प्रोसेस है| यह डेटा रिकवरी प्रोसेस डेटा नष्‍ट होने की परिस्थितियों के आधार पर भिन्न हो सकती हैं|

इनकी जानकारी लेते है –

Accidentally delete of File or folder:

जब आप कोई फाइल को डिलीट करते है, तो इसे ड्राइव से तुरंत हटाया नही जाता, लेकिन डिलीट का मार्क लगा दिया जाता है और वे ड्राइव में ही रहते है जबतक किसी अन्‍य फाइल व्‍दारा ओवरराइट नही किया जाता| इस दौरान मूल फाइल कई बार डिस्कनेक्टिड फ्रैग्मन्ट के रुप में फाइल वैसेही रहती है और रिकवर हो सकती है|

इस मामले आप इन फाललों की जगह नया डेटा ओवरराइट होने से पहले अच्‍छे डेटा रिकवरी सॉफ्टवेयर से डेटा को आसानी से रिकवर कर सकते है| यह सॉफ्टवेयर मास्‍टर फाइल टेबल (MFT)से डिलीटेड एंन्‍ट्रीज को खोजने के लिए के लिए पुरा ड्राइव स्‍कॅन करते है| और फिर इन डिलीटेड एंन्‍ट्रीज के लिए रिकवरी के लिए क्‍लस्‍टर चेन को डिफाइन करते है और फिर इन क्‍लस्‍टर से डेटा को नये में कापी करते है| लेकिन डेटा रिकवरी सॉफ्टवेयर का प्रयोग करने से पहले आपको फाइल सिस्‍टम के बारे में मालूम होना चाहिए|

 

Damage File system format:

फाइल सिस्‍टम डिस्‍क या पार्टीशियन में फाइल्‍स का ट्रैक रखने के लिए ऑपरेटींग सिस्‍टम की एक मेथड और डेटा स्ट्रक्चर है| इसे वायरस या गलत निर्देश से नुकसान पहंच सकता है| विंडोज ऑपरेटींग सिस्‍टम में दो फाइल सिस्‍टम होते है NTFS और FAT| जब आप ड्राइव को फॉरमॅट करते है, तो यह नया फाइल सिस्‍टम रंरचना बनाता है और इसे ओवरराइट करता है|

सक्षम डेटा रिकवरी सॉफ्टवेयर क्रैश फाइल सिस्‍टम से डैमज्ड पार्टिशन से डेटा रिकवर कर सकते है, जो उपलब्‍ध अलोकेशन जानकारी और क्षति की स्थिती पर निर्भय है| कई बार जब वही फाइल सिस्‍टम से फॉरमॅट किया हो तो डेटा रिकवरी की संभावना अधिक होती है|

 

Corrupt partitions:

कुछ मामलों में, हार्ड ड्राइव का डेटा डैमेज पार्टीशियन टेबल के कारण से अनरिडेबल होता है| यह एक फाइल सिस्‍टम सें दूसरे फाइल सिस्‍टम में रुपांतरण करते वक्‍त, वायरस का संक्रमण या तीसरे पक्ष के टूल सें नया पार्टीशियन टूल बनाने से हो सकता है|

कई मामलों में यह रिकवरी सॉफ्टवेयर की मदद से डिलीट और क्षतिग्रस्त लॉजिकल ड्राइव और पार्टीशियन से डेटा रिकवरी संभव है|

 

Overwritten data:

जब डेटा फिज़िकली पिछले डेटा पर ओवरराइट होता है, तब आप पुराना डेटा खो देते है| दुर्भाग्‍य से ऐसे ओवरराइट होने के बाद डेटा रिकवरी संभव नही है|

 

Physical damage:

हार्ड ड्राइव के फेल होने के कई कारण है, जैसे हार्डवेयर ओवरहिटींग, बिजली प्रवाह या नमी| इस मामले में आप को ड्राइव को विशेष डेटा रिकवरी प्रयोगशाला मे ले जाना चाहिए|

 

 

अगर आपने कभी आपका डेटा खोया है तो इसका अनुभव शेयर करें|

 

 

Data Lost Recovery Hindi

डेटा कैसे लॉस्‍ट होता है? डाटा रिकवरी क्या है? और यह कैसे काम करता है?

How Data Lost? What Is Data Recovery? And How It Works? – in Hindi

Data Lost Recovery Hindi. Sometime many of us gone through the situation of data lost. We lost data due to several reasons like accidentally deleted, virus, damaged, corrupted or inaccessible storage from desktop, laptop, server or external storage. This post describes most common data loss situations and gives information as to data recovery perspectives. Data Lost Recovery Hindi

1 COMMENT

Comments are closed.