Homeसवाल आईटी के..कंप्यूटर के बारें में सब कुछ जानने का आसान गाइड

कंप्यूटर के बारें में सब कुछ जानने का आसान गाइड

Computer Parts in Hindi – कंप्यूटर पार्ट्स इन हिंदी

Parts of Computer in Hindi – पार्ट्स ऑफ कंप्यूटर इन हिंदी

दोस्तों, हम हर दिन अपने ऑफिस या घर पर कंप्यूटर का उपयोग करते हैं। लेकिन यह कंप्यूटर कैसे काम करता हैं, इसके कितने पार्टस् होते हैं और वे क्या काम करते हैं? इन सभी बातों की जानकारी हम आज इस आर्टिकल में लेने वाले हैं।

Computer Parts in Hindi - कंप्यूटर पार्ट्स इन हिंदी

आजकल कंप्यूटर के बिना जीवन की कल्पना करना असंभव है। हम अपना काम करते हैं, अपना मनोरंजन करते हैं और कंप्यूटर के माध्यम से यह पता लगाते हैं कि हमें क्या जानना है। कभी-कभी हम भूल जाते हैं कि स्मार्टफोन हमारे डेस्कटॉप पीसी का सिर्फ एक हथेली के आकार का वर्शन है।

तो असल में कंप्यूटर हैं क्या चीज़? आइए आज इसके बारे में जानते हैं।

What is Computer – कंप्यूटर क्या है?

एक कंप्यूटर एक मशीन या उपकरण है जो एक सॉफ्टवेयर या हार्डवेयर प्रोग्राम द्वारा प्रदान किए गए निर्देशों के आधार पर प्रक्रिया, गणना और संचालन करता है।

Computer Kya Hai in Hindi:

What is Computer in Hindi – कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो इनफॉर्मेशन को प्रोसेस करता हैं – दूसरे शब्दों में, यह एक इनफॉर्मेशन प्रोसेसर हैं

[यह भी पढ़े: Full Form Of “Computer”]

कंप्यूटर एक छोर से कच्ची इनफॉर्मेशन (या डेटा) लेता है, इसे स्टोर करता है फिर इस इनफॉर्मेशन पर प्रक्रिया करता हैं और तब रिजल्‍ट दूसरे छोर पर निकलते हैं।

कंप्‍यूटर लैग्‍वेज में कहां जाए तो इनफॉर्मेशन लेने को इनपुट, इनफॉर्मेशन मेमोरी में स्‍टोर होती हैं, इनफॉर्मेशन पर प्रक्रिया करता हैं जिसे प्रोसेसिंग कहां जाता हैं और इसके रिजल्‍ट को आउटपुट कहां जाता हैं।

एक बार जब आप समझ जाएंगे कि कंप्यूटर कैसे इनपुट लेता हैं, मेमोरी में स्‍टोर करता हैं, इसपर प्रोसेसिंग करता हैं और आउटपुट देता हैं, तो आपके लिए आसान हो जाएगा।

निचें कि इमेज से आप यह आसानी से समझ सकते हैं।

What is computer In Hindi

Computer Parts in Hindi – कंप्यूटर पार्ट्स इन हिंदी

Parts of Computer in Hindi – पार्ट्स ऑफ कंप्यूटर इन हिंदी

कंप्यूटर के इनपुट, स्‍टोरेज, प्रोसेसिंग और आउटपुट इन चारों प्रोसेस में किसी भी कंप्यूटर सिस्टम के सभी मुख्य भाग शामिल हैं-

Input: जब भी आप किबोर्ड से टाइप करते हैं या माउस से क्लिक करते हैं, तब आप कंप्‍यूटर को इनपुट दे रहे होते हैं, जिसपर वह प्रोसेसिंग करता हैं। माइक्रोफ़ोन से भी आप कंप्‍यूटर को इनपुट दे सकते हैं।

Memory/storage: जब आप कोई भी डॉक्‍युमेंट बनाते हैं, तो पहले वह रैम में स्‍टोर रहती हैं, जो कि टेंपररी मेमोरी हैं। जब आप डॉक्‍युमेंट सेव करते हैं तब वह परमनंट मेमोरी जैसे हार्ड ड्राइव पर स्‍टोर हो जाती हैं।

Processing: आपके कंप्यूटर का प्रोसेसर (कभी-कभी यह CPU- Central Processing Unit के रूप में जाना जाता है) एक माइक्रोचिप होती हैं, जो मदरबोर्ड पर स्थित होती है।

Output: कंप्‍यूटर के आउटपुट को आप अपने मॉनिटर पर देख सकते हैं या प्रिंट करते हैं। मॉनिटर और प्रिंटर आउटपुट डिवाइसेस हैं।

[यह भी पढ़े: Computer Ke Prakar | कंप्यूटर के प्रकार कितने हैं?]

Main Parts of Computer in Hindi

कंप्यूटर में कुछ बेसिक पार्ट होते हैं, जिनका अलग अलग रोल होता हैं और वे कंप्‍यूटिंग में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

1. Computer Case

Computer Cabinet-What is computer In Hindi

कंप्यूटर केस धातु और प्लास्टिक का बॉक्स होता है जिसमें कंप्यूटर के मुख्य कंपोनेंट्स होते है, जिसमें मदरबोर्ड, सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (सीपीयू), हार्ड ड्राइव और पॉवर सप्‍लाई युनिट शामिल है।

कंप्यूटर केस के सामने आमतौर पर एक ऑन/ऑफ़ बटन और ऑप्टिकल ड्राइव होते हैं।

कंप्यूटर केस अलग अलग शेप और साइज में आते हैं।

एक डेस्कटॉप केस एक डेस्क पर सपाट होता है, और मॉनिटर आमतौर पर उसके ऊपर बैठता है। एक टावर केस लंबा होता है और मॉनिटर के बगल में या फर्श पर बैठता है। ऑल-इन-वन कंप्यूटर मॉनिटर में निर्मित इंटरनल कंपोनेंट्स के साथ आते हैं, जो एक अलग केस की आवश्यकता को समाप्त करता है।

कंप्यूटर केस साइज की लिस्‍ट (फॉर्म फैक्टर के रूप में जाना जाता है):

बहुत छोटा फॉर्म फैक्टर: Mini ITX मदरबोर्ड को सपोर्ट करता है

छोटा फॉर्म फैक्टर: Micro ATX मदरबोर्ड को सपोर्ट करता है।

स्‍टैंडर्ड फॉर्म फैक्टर: Standard ATX मदरबोर्ड को सपोर्ट करता है।

बड़ा फॉर्म फैक्टर: ATX और XL-ATX मदरबोर्ड को सपोर्ट करता है।

कंप्यूटर केस के पीछे

कंप्यूटर केस के पीछे कनेक्शन पोर्ट होते हैं जो विशिष्ट डिवाइसेस को फिट करने के लिए बनाए जाते हैं। प्लेसमेंट कंप्यूटर से कंप्यूटर में अलग-अलग होगा, और कई कंपनियों के पास विशिष्ट डिवाइसेस के लिए अपने विशेष कनेक्टर होते हैं। कुछ पोर्ट को कलर कोडित किया जा सकता है ताकि आप यह निर्धारित कर सकें कि किसी विशेष डिवाइस के साथ किस पोर्ट का उपयोग किया जाता है।

कंप्यूटर केस के पीछे कई पोर्ट होते हैं, जैसे जैसे फायरवायर, थंडरबोल्ट और HDMI

2. Monitor

Computer Monitor-What is computer In Hindi

Monitor कंप्यूटर केस के अंदर स्थित वीडियो कार्ड के साथ काम करता है और स्‍क्रीन पर टेक्‍स्‍ट, इमेजेस और वीडियो डिस्‍प्‍ले करता हैं।

अधिकांश मॉनिटर में कंट्रोल बटन होते हैं जो आपको अपने मॉनिटर की डिस्‍प्‍ले सेटिंग्स को बदलने की अनुमति देते हैं, और कुछ मॉनिटर में इनबिल्‍ट स्पीकर भी होते हैं।

नए मॉनिटर में आमतौर पर LCD (लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले) या LED (लाइट-एमिटिंग डायोड) डिस्प्ले होते हैं। इन्हें बहुत पतला बनाया जा सकता है, और इन्हें अक्सर फ्लैट-पैनल डिस्प्ले कहा जाता है। पुराने मॉनिटर CRT (कैथोड रे ट्यूब) डिस्प्ले का उपयोग करते हैं। CRT मॉनिटर बहुत बड़े और भारी होते हैं, और वे अधिक डेस्क स्थान लेते हैं।

[यह भी पढ़े: Monitor in Hindi: कंप्यूटर मॉनीटर क्या हैं, कैसे काम करता हैं?]

3. Keyboard

Keyboard- What is computer In Hindi

हालांकि कई प्रकार के इनपुट डिवाइस हैं, लेकिन विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम में किबोर्ड ही किसी भी कंप्यूटर में सबसे अधिक इस्‍तेमाल किए जाने वाला इनपुट डिवाइस Keyboard हैं।

कंप्यूटर के साथ कम्यूनिकेट करने के लिए किबोर्ड एक मुख्य तरीका है। कई अलग-अलग प्रकार के कीबोर्ड हैं, जैसे Standard, Multimedia, Portable और Foldable.

[यह भी पढ़े: Mechanical Keyboard in Hindi: मैकेनिकल कीबोर्ड क्या है?]

4. Mouse

Mouse- What is computer In Hindi

कंप्यूटर के साथ कम्यूनिकेट करने के लिए Mouse भी एक महत्वपूर्ण टूल है। आमतौर पर इसे एक पॉइंटिंग डिवाइस के रूप में जाना जाता है, इसे आप स्क्रीन पर ऑब्जेक्ट्स को पॉइंट करने के लिए इस्‍तेमाल करते है, उन पर क्लिक करते हैं, और उन्हें मूव करते हैं।

माउस के तीन मुख्य प्रकार हैं: ऑप्टिकल, मैकेनिकल और वायरलेस। मैकेनिकल अब पूराना टाइप हैं।

माउस के विकल्प

ऐसे अन्य डिवाइसेस हैं जो माउस के समान कार्य कर सकते हैं। बहुत से लोगों को उनका उपयोग करना आसान लगता है, और उन्हें पारंपरिक माउस की तुलना में कम डेस्क स्थान की भी आवश्यकता होती है। सबसे आम माउस विकल्प नीचे हैं।

  • ट्रैकबॉल: ट्रैकबॉल में एक बॉल होता है जो स्वतंत्र रूप से घूम सकता है। डिवाइस को माउस की तरह घुमाने के बजाय, आप पॉइंटर को हिलाने के लिए बॉल को अपने अंगूठे से घुमा सकते हैं।
  • टचपैड: एक टचपैड—जिसे ट्रैकपैड भी कहा जाता है—एक स्पर्श-संवेदनशील पैड है जो आपको अपनी उंगली से ड्राइंग गति बनाकर पॉइंटर को कंट्रोल करने देता है। लैपटॉप कंप्यूटर पर टचपैड आम हैं।

Components of Computer in Hindi

सबसे बुनियादी कंप्यूटर सेटअप में आमतौर पर कंप्यूटर केस, मॉनिटर, कीबोर्ड और माउस शामिल होते हैं, लेकिन आप अपने कंप्यूटर पर कई अलग-अलग प्रकार के डिवाइसेस को अतिरिक्त पोर्ट में प्लग कर सकते हैं। इन डिवाइसेस को पेरिफेरल्स कहा जाता है। आइए कुछ सबसे आम पेरिफेरल्स पर एक नज़र डालें।

पेरिफेरल्स जो आप अपने कंप्यूटर के साथ उपयोग कर सकते हैं

Peripherals You Can Connect To Your Computer

पेरिफेरल्स जो आप अपने कंप्यूटर के साथ उपयोग कर सकते हैं-

कंप्‍यूटर के साथ आप कई प्रकार के डिवाइसेस को प्‍लग करते हैं। इन्‍हे पेरिफेरल्स कहां जाता हैं। चलो सबसे आम पेरिफेरल्स में से कुछ पर एक नज़र डालें।

1. Printers

Printer- What is computer In Hindi

Printer एक आउटपुट डिवाइसेस हैं, जिसे हम डॉक्‍यूमेंटस्, फोटो या कुछ भी प्रिंट करने के लिए उपयोग करते हैं।

प्रिंटर का उपयोग डयॉक्‍यूमेंट डयॉक्‍यूमेंट, फ़ोटो और आपकी स्क्रीन पर दिखाई देने वाली किसी भी चीज़ को प्रिंट करने के लिए किया जाता है।

इंकजेट, लेजर और फोटो प्रिंटर सहित कई प्रकार के प्रिंटर हैं। यहां तक ​​कि ऑल-इन-वन प्रिंटर भी हैं, जो डयॉक्‍यूमेंट को स्कैन और कॉपी भी कर सकते हैं।

Dot-Matrix Printers, Daisy-wheel printers, Line printers, Drum printer, Ink-jet printers, Laser printers, Multifunction Printer आदि प्रिंटर्स के टाइप हैं।

2. Scanner

Scanner - What is computer In Hindi

स्कैनर इनपुट डिवाइस हैं। इमेजेस या डॉक्‍युमेंट स्‍कैन कर पीसी में आप इन्‍हे सेव कर सकते हैं।

Flatbed, Sheet-fed, Handheld, और Drum scanners स्कैनर के टाइप हैं।

3. Speakers/Headphones

Speaker - What is computer In Hindi

स्पीकर और हेडफ़ोन आउटपुट डिवाइस होते हैं। इनसे आप कंप्‍यूटर में प्‍ले हो रहे साउंड को सुन सकते हैं।

4. Microphones

Microphone- What is computer In Hindi

माइक्रोफ़ोन एक इनपुट डिवाइस का टाइप है। कंप्‍यूटर में अपनी साउंड को रिकॉर्ड करने या किसी के साथ बात करने के लिए एक माइक्रोफ़ोन कनेक्ट कर सकते हैं।

कई लैपटॉप इंटरनल माइक्रोफोन के साथ आते हैं।

5. Web Cameras

Webcam -What is computer In Hindi

वेब कैमरा या वेबकैम-एक इनपुट डिवाइस है जो वीडियो रिकॉर्ड कर सकता है और इमेज कैप्‍चर कर सकता है। रियल टाइम में वीडियो रिकॉर्ड करने या वीडियो चैट या वीडियो कॉन्फरसिंग करने के लिए इनका इस्‍तेमाल किया जाता हैं।

Computer Hindi.

Computer Parts Inside a Computer

कंप्यूटर के अंदर कौन से पार्ट्स होते हैं?

Inside Computer

क्या आपने कभी कंप्यूटर केस के अंदर देखा है? इसके छोटे पार्ट कॉम्प्लिकेटेड लग सकते हैं, लेकिन कंप्यूटर केस के अंदर वास्तव में यह सब रहस्यमय नहीं है। यहां पर आप कुछ बुनियादी पार्ट के बारें में थोड़ा और अधिक समझेंगे।

1. Motherboard

Motherboard

Motherboard कंप्यूटर का मुख्य सर्किट बोर्ड है। यह एक पतली प्लेट है जिसमें सीपीयू, मेमोरी, हार्ड ड्राइव और ऑप्टिकल ड्राइव के लिए कनेक्टर्स, वीडियो और ऑडियो को कंट्रोल करने के लिए एक्सपेंशन कार्ड, और आपके कंप्यूटर के पोर्ट (जैसे यूएसबी पोर्ट्स) के कनेक्शन हैं। मदरबोर्ड कंप्यूटर के हर कंपोनेंट्स को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कनेक्‍ट करता है।

2. CPU/Processor

CPU - What is computer In Hindi

Central Processing Unit (CPU),जिसे प्रोसेसर भी कहा जाता है, कंप्यूटर के केस में मदरबोर्ड पर स्थित होता है। इसे कंप्यूटर का ब्रेन कहा जाता है। यह इनपुट कि गई इनफॉर्मेशन पर प्रोसेस कर आउटपुट प्रोडयुस करता हैं।

सीपीयू आमतौर पर एक सिलिकॉन चिप के साथ दो इंच सिरेमिक स्क्वायर होता है। यह चिप मदरबोर्ड के सीपीयू सॉकेट में फिट बैठती है, जिसे हिट सिंक से कवर किया जाता है, जो सीपीयू से गर्मी को सोख लेता है।

जैसा कि आप सोच सकते हैं, सीपीयू की स्‍पीड और परफॉरमेंस ही वह सबसे महत्वपूर्ण फैक्‍टर है जो निर्धारित करता है कि कंप्यूटर कैसे काम करेगा।

प्रोसेसर की स्‍पीड को Megahertz (MHz) या Gigahertz (GHz) में मापा जाता है। फास्‍टर प्रोसेसर इंस्‍ट्रक्‍शन को अधिक तेजी से एक्सीक्यूट कर सकता हैं।

What Is Processor In Hindi? समझें कि प्रोसेसर्स और कोर क्या है

3. RAM (Random Access Memory)

RAM

रैम आपके सिस्टम की शॉर्ट-टर्म मेमोरी है। कंप्‍यूटर में रन हो रहे सभी प्रोसेस को टेंपररी रूप से रैम में स्‍टोर किया जाता है।

कंप्यूटर में जितनी अधिक कैपेसिटी की रैम होगी, उतने ही अधिक एप्लिकेशन पर आप एक साथ काम कर सकते हैं।

कंप्यूटर बंद होने पर यह शॉर्ट-टर्म मेमोरी गायब हो जाती है। यदि आप किसी वर्ड, स्प्रैडशीट, या अन्य प्रकार की फ़ाइल पर काम कर रहे हैं, तो आपको इसे खोने से बचने के लिए इसे सेव करना होगा। जब आप कोई फ़ाइल सेव करते हैं, तो यह डेटा हार्ड ड्राइव पर स्‍टोर होता है, जो परमानेंट स्‍टोरेज के रूप में कार्य करता है।

रैम की स्‍पीड Megabytes (MB) या Gigabytes (GB) में होती हैं। आपके पास जितनी अधिक रैम होती है, उतनी ही अधिक चीजें कंप्यूटर एक ही समय में कर सकते हैं।

[यह भी पढ़े: एक अल्टिमेट गाइड़ रैम के बारे में सब कुछ जानने के लिए]

4. Hard Drive

Hard Drive

हार्ड ड्राइव डेटा का परमानेंट स्‍टोरेज हैं। आपके कंप्‍यूटर का सारा डेटा इसी पर स्‍टोर होता हैं।

हार्ड डिस्‍क या HDD के IDE Hard drives, SATA Hard drives और SCSI Hard drives मुख्‍य प्रकार हैं।

आज पर्सनल कंप्‍यूटर में हार्ड डिस्‍क 80GB, 120GB, 160GB, 250GB, 320GB, 500GB, 1TB और 2TB कैपेसिटी की होती हैं।

[यह भी पढ़े: मैग्नेटिक डिस्क क्या हैं?]

5. Optical Drive

Optical Drive

अधिकांश डेस्कटॉप और नोटबुक कंप्यूटर ऑप्टिकल ड्राइव के साथ आते हैं, जो कि एक CD/DVD या ब्लू-रे डिस्क होती हैं।

[यह भी पढ़े: Optical Disk Hindi में! वे क्या हैं और वे कैसे काम करते हैं?]

6. Power Supply Unit

SMPS

Switched-Mode Power Supply (SMPS) वॉल आउलेट से AC इनपुट लेता है, पॉवर फैक्‍टर करेक्‍शन करता हैं और फिर आउटपुट को कम वोल्टेज DC आउटपुट में कन्‍वर्ट करता है।

यह मदरबोर्ड और अन्य कंपोनेंट्स के लिए केबल के माध्यम से बिजली भेजता है।

[यह भी पढ़े: SMPS in Hindi: SMPS क्‍या हैं? SMPS कैसे काम करता हैं?]

Types of Computers – कंप्यूटर के प्रकार

विभिन्न प्रकार के कंप्यूटरों का वर्णन करने के लिए उपयोग किए जाने वाले बहुत सारे शब्द हैं। इनमें से अधिकांश शब्द कंप्यूटर के आकार, अपेक्षित उपयोग या क्षमता का अर्थ है। चलो सबसे स्पष्ट एक के साथ शुरू करते हैं।

A) Computer Sizes And Power

कंप्यूटर को मोटे तौर पर उनकी साइज, स्‍पीड और कंप्यूटिंग पॉवर द्वारा वर्गीकृत किया जा सकता है।

कंप्यूटर टाइपडिस्क्रिप्शन
पर्सनल कंप्यूटरमाइक्रोप्रोसेसर पर आधारित एक छोटा, सिंगल-यूजर कंप्यूटर।
वर्कस्टेशनएक शक्तिशाली, सिंगल-यूजर कंप्यूटर। एक वर्कस्टेशन एक पर्सनल कंप्यूटर की तरह है, लेकिन इसमें एक अधिक शक्तिशाली माइक्रोप्रोसेसर है और सामान्य तौर पर, एक हाई-क्‍वालिटी वाला मॉनिटर होता है।
मिनिकॉम्प्यूटरएक मल्‍टी-यूजर कंप्यूटर जो एक साथ सैकड़ों यूजर्स को सपोर्ट देने में सक्षम है।
मेनफ्रेमएक शक्तिशाली मल्‍टी-यूजर कंप्यूटर जो एक साथ कई सैकड़ों या हजारों यूजर्स को सपोर्ट करने में सक्षम है।

1) PC (Personal Computer):

एक पर्सनल कंप्यूटर एक यूजर द्वारा एक समय में उपयोग किया जाने वाला कंप्यूटर है। माइक्रो कंप्यूटर शब्द माइक्रोप्रोसेसर से संबंधित है जो डेटा और इंस्ट्रक्शंस कोड को प्रोसेस करने के उद्देश्य से एक पर्सनल कंप्यूटर के साथ प्रयोग किया जाता है। ये सबसे आम कंप्यूटर प्रकार हैं क्योंकि वे बहुत महंगे नहीं हैं।

डेस्कटॉप कंप्यूटर मोबाइल बनने के लिए नहीं बने हैं। उन्हें एक जगह से दूसरी जगह पर ले जाया सकता है, लेकिन केवल एक नए डेस्कटॉप स्थान पर और बिजली की आपूर्ति होनी चाहिए।

पोर्टेबल्स की तुलना में डेस्कटॉप कंप्यूटर बड़े और भारी होते हैं। उन्हें विशेष रूप से निर्मित केस में ले जाया जा सकता है, लेकिन केवल सपोर्ट इंजीनियर की सहायता के। मॉनिटर, कीबोर्ड और माउस एक डेस्कटॉप पर सभी अलग-अलग आइटम हैं।

2) Workstation:

यह इंजीनियरिंग एप्‍लीकेशन (CAD/CAM), डेस्कटॉप पब्लिशिंग, सॉफ्टवेयर डेवपलमेंट, और अन्य प्रकार के एप्‍लीकेशन के लिए उपयोग किए जाने वाले कंप्यूटर का एक प्रकार है, जिसमें मध्यम क्षमता की कंप्यूटिंग पॉवर और अपेक्षाकृत हाई क्‍वालिटी वाले ग्राफिक्स क्षमताओं की आवश्यकता होती है। वर्कस्टेशन आम तौर पर एक बड़ी, हाई-रिज़ॉल्यूशन वाले ग्राफिक्स स्क्रीन, बड़ी मात्रा में रैम, बिल्‍ट-इन नेटवर्क सपोर्ट और एक ग्राफ़िकल यूज़र इंटरफ़ेस के साथ आते हैं। अधिकांश वर्कस्टेशन में एक डिस्क स्टोरेज डिवाइस भी होता है जैसे डिस्क ड्राइव, लेकिन एक विशेष प्रकार का वर्कस्टेशन, जिसे डिस्कलेस वर्कस्टेशन कहा जाता है, डिस्क ड्राइव के बिना आता है। वर्कस्टेशन के लिए सबसे आम ऑपरेटिंग सिस्टम UNIX और Windows NT हैं। पर्सनल कंप्यूटर की तरह, अधिकांश वर्कस्टेशन सिंगल-यूजर कंप्यूटर हैं। हालांकि, वर्कस्टेशंस को आमतौर पर लोकल एरिया नेटवर्क बनाने के लिए एक साथ जोड़ा जाता है, हालांकि उनका उपयोग स्टैंड-अलोन सिस्टम के रूप में भी किया जा सकता है।

3) Minicomputer:

यह एक मध्य आकार के कंप्यूटर है। पिछले एक दशक में, बड़े मिनिकॉमपॉइंट और छोटे मेनफ्रेम के बीच अंतर धुंधला हो गया है, हालांकि, छोटे मिनिकॉमप्वाइंट और वर्कस्टेशन के बीच अंतर है। लेकिन सामान्य तौर पर, एक मिनीकंप्यूटर एक मल्‍टीप्रोसेसिंग सिस्‍टम है जो एक साथ 200 से अधिक यूजर्स को सपोर्ट देने में सक्षम है।

4) Supercomputer:

सुपर कंप्यूटर वर्तमान में उपलब्ध सबसे तेज कंप्यूटरों में से एक के लिए एक व्यापक शब्द है। सुपर कंप्यूटर बहुत महंगे हैं और विशेष एप्‍लीकेशन के लिए कार्यरत हैं जिन्हें गणितीय गणनाओं (संख्या क्रंचिंग) की अत्यधिक मात्रा में आवश्यकता होती है। उदाहरण के लिए, मौसम की भविष्यवाणी के लिए एक सुपर कंप्यूटर की आवश्यकता होती है। सुपर कंप्यूटर वैज्ञानिक सिमुलेशन के अन्य उपयोग, (एनिमेटेड) ग्राफिक्स, द्रव गतिशील गणना, परमाणु ऊर्जा अनुसंधान, इलेक्ट्रॉनिक डिजाइन और भूवैज्ञानिक डेटा का विश्लेषण (जैसे पेट्रोकेमिकल पूर्वेक्षण में)। शायद सबसे अच्छा ज्ञात सुपर कंप्यूटर निर्माता क्रे रिसर्च है।

5) Mainframe:

मेनफ्रेम एक शब्द था जो मूल रूप से सेंट्रल प्रोसेसिंग युनिट या कमरे में भरने वाले स्टोन एज बैच मशीन के “मुख्य फ्रेम” का उल्लेख करता था। 1970 के दशक की शुरुआत में छोटे “मिनीकोम्प्यूटर” डिजाइनों के उभरने के बाद, पारंपरिक बड़ी लोहे की मशीनों को “मेनफ्रेम कंप्यूटर” और अंततः मेनफ्रेम के रूप में वर्णित किया गया था। आजकल एक मेनफ्रेम एक बहुत बड़ा और महंगा कंप्यूटर है जो एक साथ सैकड़ों, या यहां तक ​​कि हजारों यूजर्स को सपोर्ट करने में सक्षम है। एक सुपरकंप्यूटर और एक मेनफ्रेम के बीच मुख्य अंतर यह है कि एक सुपरकंप्यूटर अपनी पॉवर को कुछ प्रोग्राम को जितनी जल्दी हो सके एक्सीक्यूट करने में लगाता है, जबकि एक मेनफ्रेम अपनी पॉवर का उपयोग कई प्रोग्राम को समवर्ती रूप से एक्सीक्यूट करने के लिए करता है। कुछ मायनों में, मेनफ्रेम सुपर कंप्यूटर की तुलना में अधिक शक्तिशाली हैं क्योंकि वे एक साथ अधिक प्रोग्राम्‍स को सपोर्ट करते हैं। लेकिन सुपर कंप्यूटर एक मेनफ्रेम की तुलना में किसी एक प्रोग्राम को तेजी से एक्सीक्यूट कर सकता है। छोटे मेनफ्रेम और मिनीकंप्यूटर के बीच का अंतर अस्पष्ट है, यह वास्तव में इस बात पर निर्भर करता है कि निर्माता अपनी मशीनों को कैसे बाजार में लाना चाहता है।

B) Personal Computer Types

वास्तविक पर्सनल कंप्यूटरों को आम तौर पर साइज़ और चेसिस / केस द्वारा वर्गीकृत किया जा सकता है।

1) Tower model:

यह शब्द एक कंप्यूटर को संदर्भित करता है जिसमें एक कैबिनेट में बिजली की आपूर्ति, मदरबोर्ड और बड़े पैमाने पर स्‍टोरेज डिवाइसेस को एक दूसरे के ऊपर रखा जाता है। यह डेस्कटॉप मॉडल के विपरीत है, जिसमें इन कंपोनेंट को अधिक कॉम्पैक्ट बॉक्स में रखा जाता है। टॉवर मॉडल का मुख्य लाभ यह है कि जगह की कमी नहीं होती है, जिससे अतिरिक्त स्‍टोरेज डिवाइसेस का इंस्‍टॉलेशन आसान हो जाता है।

2) Desktop model:

एक कंप्यूटर एक डेस्क के ऊपर आराम से फिट होने के लिए डिज़ाइन किया गया है। डेस्कटॉप मॉडल कंप्यूटर व्यापक और छोटे होते हैं, जबकि टॉवर मॉडल कंप्यूटर संकीर्ण और लंबे होते हैं। उनके आकार के कारण, डेस्कटॉप मॉडल कंप्यूटर आमतौर पर तीन इंटरनल स्‍टोरेज डिवाइसेस तक सीमित होते हैं। बहुत ही छोटे डिजाइन किए गए डेस्कटॉप मॉडल को कभी-कभी स्लिमलाइन मॉडल के रूप में जाना जाता है।

3) Notebook Computer:

एक बेहद हल्का पर्सनल कंप्यूटर। नोटबुक कंप्यूटर आमतौर पर 6 पाउंड से कम वजन के होते हैं और ब्रीफकेस में आसानी से फिट होने के लिए पर्याप्त छोटे होते हैं। आकार के अलावा, नोटबुक कंप्यूटर और पर्सनल कंप्यूटर के बीच मुख्य अंतर डिस्प्ले स्क्रीन है। नोटबुक कंप्यूटर विभिन्न प्रकार की तकनीकों का उपयोग करते हैं, जिन्हें फ़्लैट-पैनल तकनीकों के रूप में जाना जाता है, एक हल्के और गैर-भारी डिस्प्ले स्क्रीन का उत्पादन करने के लिए। नोटबुक डिस्प्ले स्क्रीन की गुणवत्ता काफी भिन्न होती है। कंप्यूटिंग पॉवर के संदर्भ में, आधुनिक नोटबुक कंप्यूटर पर्सनल कंप्यूटर के लगभग बराबर हैं। उनके पास एक ही सीपीयू, मेमोरी क्षमता और डिस्क ड्राइव हैं। हालांकि, एक छोटे पैकेज में यह सब थोड़े महंगे है। नोटबुक कंप्यूटर की लागत लगभग नियमित रूप से आकार के कंप्यूटरों से दोगुनी होती है। नोटबुक कंप्यूटर बैटरी पैक के साथ आते हैं जो आपको उन्हें प्लग किए बिना उन्हें चलाने में सक्षम बनाते हैं। हालांकि, बैटरी को हर कुछ घंटों में रिचार्ज करने की आवश्यकता होती है।

4) लैपटॉप कंप्यूटर:

एक छोटा, पोर्टेबल कंप्यूटर – इतना छोटा कि वह आपकी गोद में बैठ सके। आजकल, लैपटॉप कंप्यूटर को अक्सर नोटबुक कंप्यूटर कहा जाता है।

5) Handheld Computers:

हैंडहेल्ड कंप्यूटर—जिन्हें Personal Digital Assistants (PDA) के रूप में भी जाना जाता है—छोटे, पोर्टेबल डिवाइस हैं जो यूजर्स को आकार के एक अंश पर डेस्कटॉप कंप्यूटर के समान कई सुविधाएं और क्षमताएं प्रदान करते हैं। यद्यपि “हैंडहेल्ड कंप्यूटर” और “पीडीए” शब्द अक्सर एक दूसरे के लिए उपयोग किए जाते हैं, हैंडहेल्ड बड़े होते हैं और लघु कीबोर्ड की सुविधा देते हैं, जबकि पीडीए छोटे होते हैं और डेटा एंट्री के लिए टच स्क्रीन और स्टाइलस पर निर्भर होते हैं।

1990 के दशक के उत्तरार्ध में उनकी शुरुआत के बाद से, हाथ से पकड़े जाने वाले कंप्यूटर कई पेशेवरों के लिए स्‍टैंडर्ड डिवाइस बन गए हैं, जो उन्हें पेपर डे प्लानर्स के लिए छोटे, बहुमुखी इलेक्ट्रॉनिक विकल्प प्रदान करते हैं।

PC या पर्सनल कंप्यूटर क्या हैं? वे कितने प्रकार के होते हैं?

लेटेस्ट आर्टिकल्स

अधिक एक्स्प्लोर करें

4 COMMENTS

  1. कंप्यूटर के बारे में इतनी साड़ी ज्ञानपूर्वक जानकारी देने के लिए आपका शुक्रिया। ऐसे ही और भी अच्छे अच्छे लेख लिखते रहिएगा।

  2. please anything play and give it picture please please please please please please please please please please please please

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.