अगर आपने लिंक को क्लिक करने से पहले सेफ्टी कि जाँच नहीं कि, तो आप आप मुसीबत में पड़ सकते हैं|

Check Safe Link

Check Safe Linkअतीत में आप ने ई-मेल के माध्‍यम से या वेब पर मिली किसी सस्पिशस लिंक पर क्लिक किया है जीसने आपको अनचाहें साइटस् पर रीडायरेक्‍ट किया है| अगर आपके साथ यह हुआ है, तो किसी भी लिंक को क्लिक करने से पहले सावधान रहें| इंटरनेट पर ई-मेल और वेबसाइटों के माध्‍यम सें कई असुरक्षित लिंक फैले हुए हैं| कई अनसेफ लिंक आपको सेफ लग सकते है और वे किसी बैंक, सॉफ्टवेयर या प्रतिष्ठित वेबसाइटों के हैं ऐसा दिखावा करते हैं, लेकिन सावधन रहें, वे आपकी पर्सनल इन्‍फॉर्मेशन की चोरी कर सकते है या मीलीसियश सॉफ्टवेयर को आपके पीसी पर भेज सकते है|

अगर आप ऐसे लिंक पर क्लिक करेंगे तो सबसे अच्छा एंटीवायरस और मैलवेयर सॉफ्टवेयर भी आपको प्रोटेक्‍ट नहीं कर सकते। इसलिए यहीं बेहतर हैं की क्लिक करने के बाद बहुत देर हो जाएं उससे पहले, ऐसे लिंक जो संदेह जनक लग रही है उस पर क्लिक करने से पहले वह सुरक्षित है यह चेक करें| इन ऑनलाइन टूल का उपयोग करें जो आपको लिंक या वेबसाइट जो आप ओपन करने जा रहें हैं वह सेफ है या नही यह चेक करेंगे| यह टूल्‍स फ्री में उपलब्‍ध हैं और आपको इन्‍हे इन्‍स्‍टॉल करने की जरूरत भी नही|

 

Check content of the link:

कभी कभी टेक्‍स्‍ट और उनसें जुड़े लिंक अलग अलग होते हैं| इसलिए अगर आप किसी भी लिंक के बारे में सुनिश्चित नहीं हैं, तो उस पर क्लिक करने से पहले उसकी जाँच करें। लिंक पर बिना क्लिक किएं माउस होवर करें और आपको उसका पुरा युआरएल अपने ब्रउजर के निचे स्‍टेटस बार पर मिलेगा| यदि आपको लगता हैं की यह लिंक सेफ हैं और आप इससे परिचित हैं तो फिर उस पर क्लिक करें|

 

Use a Link Scanner:

अगर आपको लगता हैं की यह टारगेट पेज अनसेफ हैं, तो इस लिंक की जाँच ऑनलाइन स्कैनिंग टूल पर करें| इंटरनेपर कई ऑनलाइन टूल्‍स उपलब्‍ध हैं जो कोई भी लिंक को क्लिक करने से पहले यह लिंक सेफ है या नहीं यह चेक करते हैं|

इसके लिए पहले इस लिंक पर राइट क्लिक करें और क्रोम में “Copy link address” या इंटरनेट एक्सप्लोरर में  “Copy shortcut” सिलेक्‍ट करें| इस युआरएल को निचें की सिक्‍युरीटी साइटस के सर्च में पेस्‍ट करें –

1) Norton SafeWeb

 

2) URL Void

 

3) TREND Micro’s Site Safety Center

 

4) Phish Tank

 

इसके साथ ही आपको यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि:

  • आपका ऑपरेटिंग सिस्टम अपटूडेट है।
  • आपके पीसी पर एंटी-वायरस सॉफ्टवेयर के साथ अच्छा एंटीमालवैयर Antimalware  है।
  • आपका फ़ायरवॉल चल रहा है।
  • आप ब्राउज़र Add-ons को इस्‍तेमाल कर सकते हैं, जो किसी भी युआरएल को चेक करके अनसेफ वेबपेज के बारे मं चेतावनी दे सकते हैं|

और इस तरह से आप किसी भी फ़िशिंग और मैलवेयर लिंक से बच सकते हैं।

 

अगर आपने लिंक को क्लिक करने से पहले सेफ्टी कि जाँच नहीं कि, तो आप आप मुसीबत में पड़ सकते हैं|

Check Safe Link

If You Don’t Check If A Link Is Safe And Click on It, You May Be In Trouble

Check Safe Link