BIOS क्या और यह कैसे काम करता है?

What is BIOS in computers Hindi

What is BIOS in Hindi

सीपीयू के बगल में, मदरबोर्ड पर पाया जाने वाला सबसे महत्वपूर्ण चिप BIOS है। एक फर्मवेयर डिवाइस, BIOS बूटअप पर महत्वपूर्ण सेवाएं प्रदान करता है, आपके सिस्टम के लिए हार्डवेयर स्‍टैंडर्ड और इसकी कॉन्फ़िगरेशन उपयोगिता के माध्यम से, आपके सिस्टम को कस्‍टमाइज़ करने के कई तरीके।

 

लेख-सूची

What is BIOS in Hindi:

Computer BIOSBIOS कंप्‍यूटर सिस्टिम का एक अभिन्‍न हिस्‍सा है| BIOS पीसी के फर्मवेयर का एक प्रकार है और यह पीसी के बूटींग प्रोसेस (स्‍टार्ट-अप) प्रक्रिया के दौरान इस्‍तेमाल होता है|

पीसी के ऑन होनेपर शुरू होनेवाला यह पहला सॉफ्टवेयर है। ऑपरेटिंग सिस्टम लोड करते समय, BIOS कंप्‍यूटर के सभी हार्डवेयर जैसे रॅम, प्रोसेसर, किबोर्ड, माउस, हार्ड ड्राइव आदि की पहचान करता है और इन्‍हे कन्फिग्यर करता है और इसके बाद ही कंप्‍यूटर मेमरी में ऑपरेटींग सिस्टिम लोड होती है|

 

BIOS Full Form

Full Form of BIOS is – Basic Input Output System

 

BIOS Full Form in Hindi

BIOS Ka Full Form हैं – Basic Input Output System

 

BIOS Meaning in Hindi

इसका इतलब Basic Input Output System है|

 

BIOS Kya Hai in Hindi

BIOS यह शब्‍द Basic Input/Output System का संक्षिप्त रूप हैं। यह बिल्‍ट-इन सॉफ़्टवेयर होता हैं, जो डिस्‍क से बिना प्रोग्राम्‍स को एक्‍सेस किए, यह यह निर्धारित करता है कि कंप्यूटर क्या कर सकता है।

BIOS किसी भी कंप्यूटर सिस्टम का एक महत्वपूर्ण पार्ट होता हैं। उदाहरण के लिए, पर्सनल कंप्यूटर (पीसी) पर, BIOS में किबोर्ड, डिस्प्ले स्क्रीन, डिस्क ड्राइव, सीरियल कम्युनिकेशंस और कई विविध फ़ंक्शंस को कंट्रोल करने के लिए आवश्यक कोड होता है।

 

BIOS कहां स्थित होता है?

BIOS का सॉफ्टवेयर मदरबोर्ड पर नॉन-व्‍होलॅटाइल रॉम चीप पर स्‍टोर होता है| लेकिन यह रॉम EEPROM (Electrically Erasable and Programmable Read Only Memory) होती है, मतलब इसमें स्‍टोर BIOS को अपडेट या रि-राइट कर सकते है|

Complementary metal oxide semiconductor (CMOS) में BIOS कि सभी सेटींग स्‍टोर होती है| यह CMOS चीप को बैटरी से पावर मिलती है और जब यह बैटरी निकाल के फिर सें लगा दी जाती है तो CMOS की सभी सेटिंग्स डिफ़ॉल्ट हो जाती है|

 

Function of BIOS in Hindi

BIOS के कार्य :

BIOS का मुख्य कार्य पीसी पर ऑपरेटिंग सिस्टम को बूट करना होता है।

जब कंप्यूटर ऑन होता है, तब BIOS कई सारी बातें करता है। यह इसका सामान्य अनुक्रम है:

  • कस्टम सेटिंग्स के लिए CMOS सेटअप कि जाँच|
  • इनरप्ट हैन्डलर्स और डिवाइस ड्राइव्‍हर को लोड करना|
  • Power-on self-test (POST) को पर्फॉर्म करना|
  • सिस्टिम सेटींग को डिसप्‍ले करना|
  • कौनसे डिवाइस बूट हो सकते है यह तय करना|

 

 

How To Access BIOS?

BIOS को कैसे एक्‍सेस करें?

पीसी ऑन होने के बाद तुरंत F2, F12, Delete या Esc कि प्रेस करे| हर पीसी में BIOS यह किज अलग-अलग होती है और यह मैन्यफैक्चरर के आधार पर बदलती है|

 

Configuring BIOS

ऊपर दिए गए विधि सें जब BIOS कि सेटींग ओपन हो जाती है, और यहां कई टेक्स्ट स्क्रिन के सेट दिखांई देते है जिनमें कई सारे ऑप्शन होते है| इनमें से कुछ स्टैन्डर्ड होते है और बाकि BIOS के मैन्यफैक्चर के साथ बदलते है| BIOS सेटअप युटिलीटी स्क्रिन आम तौर पर पांच टैब में विभाजित होती है Main, Advanced, Power, Boot और  Exit और हर एक टैब में अलग-अलग ऑप्‍शन होते है|

अगर आप BIOS सेटिंग में परिवर्तन कर रहे है तो सावधानी से करें। नेविगेट करने के लिए टैब और ऐरो किज का उपयोग करें| आवश्‍यक आइटम के वैल्‍यू को बदने के लिए पेज अप और पेज डाउन किज का उपयोग करें| आखिर में यह चेंजेस सेव करने और बाहर निकलने के लिए F10 कि प्रेस करें।

 

How to Update BIOS

BIOS को कैसे अपडेट करें?

BIOS पीसी का सबसे क्रिटिकल हिस्सा है। इसलिए यदि आवश्यक हो तो ही BIOS अपडेट करें, क्योंकी यह एक जटिल प्रक्रिया है और अगर इसमे एक त्रुटि तब होती है, तो यह आपके कंप्यूटर को अनबूटेबल कर देगा| BIOS का अपडेट अक्सर कई मुद्दों को हल करता है। BIOS अपडेट करने के लिए इन चरणों का पालन करें –

1) Windows में आपके BIOS के वर्जन की जाँच करें:

कंप्यूटर के मदरबोर्ड का BIOS वर्जन का पता लगाने के लिए कई तरीके हैं।

i) आपका कंप्‍यूटर रिस्‍टार्ट करें और BIOS में जाएं। BIOS के अंदर, आपको अपने कंप्यूटर के मदरबोर्ड द्वारा इस्तेमाल किया BIOS का वर्जन मिल जाएगा।

ii) Win+R किज प्रेस करें — सर्च बार में “Msinfo32” टाईप करें और Ok को क्लिक करें| इससे System Information Windows ओपन होगी| इसमें आपको BIOS का वर्जन दिखेगा|

iii) कमांड प्रॉम्प्ट में ” systeminfo | findstr /I /c:bios ” टाईप करें|

 

2) BIOS का कोई अपडेट उपलब्ध हैं इसकी जाँच करें:

आपको अपने कंप्यूटर के मदरबोर्ड द्वारा इस्तेमाल किया BIOS का वर्जन मिलने के बाद अब समय है इसका अपडेट वर्जन उपलब्‍ध है इसका पता लगानेका| अगर आपका पीसी ब्रांडेड है, तो अपने कंप्‍यूटर निर्माता कंपनी की वेब साइट पर खोज करें और अगर पीसी ब्रांडेड नही है तो मदरबोर्ड निर्माता की साइट पर अपडेट की खोज करें| और फिर सही BIOS की अपडेट फाइल को डाउनलोड करें|

 

3) डॉक्युमेंटेशन को पढ़ें:

BIOS को अपडेट करने से पहले, आपको अपना पीसी अनबूटेबल होने से बचाने के लिए अपडेट के डॉक्युमेंटेशन फ़ाइल को ध्यान से पढ़ना चाहिए।

 

4) अपने BIOS को अपडेट करें:

BIOS को अपडेट करने के लिए, सभी प्रोग्राम्स से बाहर निकलें और exe फ़ाइल रन करें| यह इन्स्टॉल कोने के बाद पीसी रिबूट होगा और BIOS को अपडेट करेगा।

 

नोट: अधिकांश BIOS अपडेट प्रोग्राम में अपने वर्तमान BIOS वर्जन के लिए एक बैकअप का विकल्प शामिल होता हैं। अगर ऐसी सुविधा उपलब्ध है, तो अपडेट करने से पहले अपने मौजूदा BIOS वर्जन का बैकअप ले।

 

What is BIOS in computers Hindi.

What is BIOS in computers Hindi. BIOS kya hai, BIOS kaise kam karta hai, BIOS ki jankari hindi me, BIOS ko update kaise kare, Computer me BIOS kaha hota hai. what is BIOS in Hindi, BIOS kya hota hai, BIOS definition in Hindi. Basic Input Output System in Hindi. BIOS Meaning in Hindi. BIOS Full Form, BIOS Full Form in Hindi

 

5 COMMENTS

    • There are many errors in BIOS like – Boot Device Error, CPU Fan Error, CMOS Checksum Error, Boot.ini, Invalid system disk, Hard disk error etc.

  1. Sr i request u
    That computer related all information
    Mjhe btana ka kastt kr
    Mail k dwara mjhe information dete rhe

Comments are closed.