एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर क्या है? वे कितने टाइप के होते हैं?

2812

Application Software in Hindi | एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या हैं?

एक सॉफ्टवेयर एक प्रोग्राम है जिसमें किसी विशेष कार्य को निष्पादित करने के लिए इंस्ट्रक्शंस का एक सेट होता है। इसे मुख्य रूप से दो भागों में वर्गीकृत किया जा सकता है- एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर और सिस्टम सॉफ्टवेयर।

दूसरा भाग, सिस्टम सॉफ्टवेयर एक प्रोग्राम है जो सिस्टम पर सभी एप्लिकेशन या एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर को चलाने के लिए एक आधार प्रदान करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम सिस्टम सॉफ्टवेयर का एक प्रमुख उदाहरण है। यह लेख पहले भाग के मद्देनजर है- एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर जो सिस्टम और यूजर के बीच मध्यस्थ का काम करता है। इस सॉफ़्टवेयर के माध्यम से एक यूजर सिस्टम पर अपने संचालन को करने में सक्षम होता है।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की परिभाषा क्या हैं?

Application Software Definition in Hindi

- Advertisement -

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर एक कंप्यूटर प्रोग्राम है जो एक विशिष्ट कार्य करता है, यह शैक्षिक, व्यक्तिगत या व्यावसायिक हो सकता हैं। इसे एंड-यूज़र प्रोग्राम या प्रोडक्टिविटी प्रोग्राम के रूप में भी जाना जाता है।

एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर क्या है?

Application Software Hindi

Application Software Kya Hai In Hindi:

एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर, या संक्षिप्त रूप से ऐप, वह सॉफ़्टवेयर है जो एंड यूजर के लिए विशिष्ट कार्य करता है।

एप्लिकेशन कोई भी प्रोग्राम है, या प्रोग्राम्‍स का ग्रुप है, जो एंड यूजर्स के लिए डिज़ाइन किया गया है। एप्लीकेशन सॉफ़्टवेयर (जिसे एंड-यूजर प्रोग्राम्स भी कहा जाता है) में डेटाबेस प्रोग्राम, वर्ड प्रोसेसर, वेब ब्राउजर और स्प्रैडशीट जैसी चीजें शामिल हैं।

एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर, या बस एप्लिकेशन को अक्सर प्रोडक्टिविटी प्रोग्राम या एंड यूजर प्रोग्राम कहा जाता है क्योंकि वे यूजर्स को डयॉक्‍यूमेंट, स्प्रेडशीट्स, डेटाबेस और पब्‍लीकेशन बनाने, ऑनलाइन सर्च करने, ईमेल भेजने, ग्राफिक्स डिज़ाइन करने, बिज़नेस चलाने, और यहां तक कि गेम खेलने के लिए हैं!

एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर उस टास्‍क के लिए विशिष्ट है, जिसके लिए इसे डिज़ाइन किया गया है और वे कैलकुलेटर एप्लिकेशन के रूप में सरल या वर्ड प्रोसेसिंग एप्लिकेशन के रूप में जटिल हो सकते है।

जब आप कोई डयॉक्‍यूमेंट बनाना शुरू करते हैं, तो वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ़्टवेयर पहले ही मार्जिन, फ़ॉन्ट स्‍टाइल और साइज और लाइन स्पेसिंग आपके लिए सेट कर चुका होता है। लेकिन आप इन सेटिंग्स को बदल सकते हैं, और आपके पास कई और फॉर्मेट ऑप्‍शन उपलब्ध होते हैं।

उदाहरण के लिए, वर्ड प्रोसेसर एप्लिकेशन कलर, हेडिंग, और पिक्‍चर को एड करने या अपनी आवश्यकताओं के अनुरूप डयॉक्‍यूमेंट के अपीयरेंस को बदने के लिए डिलिट, कॉपी, मूव या चेंज करना आसान बनाता है।

कंप्यूटर एप्लीकेशन सॉफ़्टवेयर प्रोग्रामों में से प्रत्येक को एक विशेष प्रक्रिया के साथ आपकी सहायता के लिए विकसित किया गया है जो रचनात्मकता, उत्पादकता या बेहतर कम्युनिकेशन से संबंधित हो सकता है। यह आपके कार्यों को पूरा करने में आपकी मदद करता है, हो सकता है कि यह संक्षेप में नोटस् को लिखने में, आपके ऑनलाइन शोध को पूरा करने, अलार्म सेट करने, अकाउंट लॉग रखने और यहां तक ​​कि गेम खेलने के लिए भी हो।

सिस्टम सॉफ़्टवेयर के विपरीत, कंप्यूटर एप्लीकेशन सॉफ़्टवेयर प्रोग्राम उनकी कार्यक्षमता में विशिष्ट हैं और वे काम करते हैं जो वे करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। उदाहरण के लिए, एक ब्राउज़र विशेष रूप से इंटरनेट ब्राउज़ करने के लिए उपयोग किया जाने वाला एक एप्लीकेशन है। इसी तरह, एमएस पावरपॉइंट विशेष रूप से प्रेजेंटेशन बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया एक एप्लिकेशन है।

एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर को गैर-आवश्यक सॉफ़्टवेयर भी कहा जाता है और इसकी अनुपस्थिति सिस्टम के कामकाज को प्रभावित नहीं करती है। हमारे स्मार्टफ़ोन पर जो भी ऐप दिखाई देते हैं, वे सभी एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर के उदाहरण हैं।

अक्सर, सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन को सिर्फ “एप्लीकेशन” के रूप में याद किया जाता है क्योंकि वे यूजर्स को अपने कार्यों को आसान और प्रभावी तरीके से करने में सुविधा प्रदान करते हैं। इन एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर के साथ कई प्रकार के ऑपरेशन किए जा सकते हैं। इनमें स्प्रेडशीट बनाना, ईमेल लिखना और गेम खेलना शामिल है। यह जानना अनिवार्य है कि प्रत्येक एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर को कुछ विशिष्ट कार्यों को करने के लिए डिज़ाइन किया गया है जैसे कि एक कैलकुलेटर केवल संख्यात्मक गणना करने के लिए है। एप्लीकेशन सॉफ़्टवेयर का एक अन्य लोकप्रिय उदाहरण Microsoft Word एप्लीकेशन हो सकता है जो सिंगल सुइट है जिसमें कई कार्य शामिल हैं। इसमें यूजर अपनी सुविधा के अनुसार सेटिंग में बदलाव भी कर सकता है।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की विशेषताएं क्या हैं?

Features of Application Software in Hindi

संबंधित कार्य के सुचारू ऑपरेशन को सुनिश्चित करने के लिए, एक एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर कई क्षमताओं के साथ अपने यूजर्स की सुविधा के लिए विकसित किया गया है।

एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर की कुछ प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

  • एक एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर विशेष रूप से टास्‍क के एक सेट को परफॉर्म करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इस प्रकार, इसे एक कुशल टूल के रूप में देखा जा सकता है, जिसका उपयोग समस्याओं के विशेष सेट को हल करने के लिए किया जाता है।
  • एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर उपलब्ध जानकारी का भारी मात्रा को जमा करते है और मैनेज करते है ताकि डेटा विज़ुअल्स को समझने में आसान बनाने के लिए इसका उपयोग किया जा सके।
  • एक एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर एक आसान इंटरफ़ेस प्रदान करता है जिसके माध्यम से यूजर्स एक विशिष्ट कार्य करने के लिए कंप्यूटर के साथ कम्‍यूनिकेट कर सके।
  • एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर डिज़ाइन करना आसान है।
  • इसके आकार के कारण इसके स्‍टोरेज के लिए अधिक स्थान की आवश्यकता होती है।
  • एंड-यूज़र्स के लिए डिज़ाइन किया गया एक एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर हाई लेवल लैग्‍वेज का उपयोग करके डेवलप किया गया है।

एप्लीकेशन सॉफ़्टवेयर के प्रकार कितने हैं?

Types of Application Software in Hindi

एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर सूची में शामिल हैं:

  • वर्ड प्रोसेसर
  • ग्राफिक्स सॉफ्टवेयर
  • डेटाबेस सॉफ्टवेयर
  • स्प्रैडशीट सॉफ़्टवेयर
  • प्रेजेंटेशन सॉफ़्टवेयर
  • वेब ब्राउज़र्स
  • एंटरप्राइज सॉफ्टवेयर
  • इनफॉर्मेशन वर्कर सॉफ्टवेयर
  • मल्टीमीडिया सॉफ्टवेयर
  • एजूकेशन और रेफरेंस सॉफ्टवेयर
  • कंटेंट एक्सेस सॉफ्टवेयर

आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर की श्रेणियां आपकी आवश्यकताओं पर निर्भर करती हैं, जिनमें से कुछ नीचे दिए गए हैं:

1. Presentation Software:

प्रेजेंटेशन सॉफ़्टवेयर आपको दृश्य जानकारी का उपयोग करके अपने विचारों को आसानी से और अच्छी स्पष्टता के साथ आगे बढ़ाने में सक्षम बनाता है। यह आपको स्लाइड के रूप में इनफॉर्मेशन डिस्‍प्‍ले करने देता है। आप टेक्‍स्‍ट, चित्र, ग्राफ़ और वीडियो जोड़कर अपनी स्लाइड को अधिक जानकारीपूर्ण और अधिक मनोरंजक बना सकते हैं। इसके तीन घटक हैं:

  • इनपुट के लिए टेक्‍स्‍ट एडिटर और टेक्‍स्‍ट फॉर्मेट
  • ग्राफिक्स, टेक्स्ट, वीडियो और मल्टीमीडिया फाइलें इंर्सट करें
  • इनफॉर्मेशन डिस्‍प्‍ले करने के लिए स्लाइड शो

2. Web Browsers:

ये सॉफ़्टवेयर एप्लिकेशन इंटरनेट ब्राउज़ करने के लिए उपयोग किए जाते हैं जो आपको पूरे वेब पर डेटा खोजने और पुनः प्राप्त करने में सक्षम बनाते हैं। सबसे लोकप्रिय हैं गूगल क्रोम और इंटरनेट एक्सप्लोरर।

3. Multimedia Software:

यह आपको चित्र बनाने या रिकॉर्ड करने और ऑडियो या वीडियो फ़ाइलों को बनाने देता है। एनीमेशन, ग्राफिक्स, इमेज और वीडियो एडिटिंग में इस सॉफ्टवेयर का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जाता है। लोकप्रिय उदाहरण VLC मीडिया प्लेयर और विंडोज मीडिया प्लेयर हैं।

4. Education and Reference Software:

यह एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर, जिसे अकादमिक सॉफ़्टवेयर भी कहा जाता है, विशेष रूप से किसी विशेष विषय के सीखने की सुविधा के लिए बनाया गया है। इस श्रेणी में विभिन्न प्रकार के ट्यूटोरियल सॉफ्टवेयर शामिल हैं। इनमें से कुछ हैं JumpStart, MindPlay और Kid Pix हैं।

5. Graphics Software:

ग्राफिक्स सॉफ्टवेयर आपको दृश्य डेटा या इमेज को एडिट करने या परिवर्तन करने की अनुमति देता है। इसमें चित्रण और पिक्‍चर एडिटर सॉफ्टवेयर शामिल हैं। एडोब फोटोशॉप और पेंटशॉप प्रो ग्राफिक्स सॉफ्टवेयर के कुछ उदाहरण हैं।

6. Spreadsheet Software:

स्प्रेडशीट सॉफ़्टवेयर का उपयोग कैल्क्युलेशन्स करने के लिए किया जाता है। इस सॉफ्टवेयर में, डेटा एक टेबल फॉर्मेट में स्‍टोर किया जाता है। इंटेरसेक्टिंग क्षेत्र, जिसे सेल्‍स कहा जाता है, को टेक्‍स्‍ट, डेट, टाइम और नंबर्स जैसे क्षेत्रों को परिभाषित करने के लिए अलग किया जाता है। यह यूजर्स को कैल्क्युलेशन्स करने के लिए फॉर्मुला और फंक्‍शन प्रदान करने की अनुमति देता है। Microsoft Excel स्प्रेडशीट सॉफ़्टवेयर का एक अच्छा उदाहरण है।

7. Database software:

डेटाबेस सॉफ़्टवेयर का उपयोग डेटाबेस बनाने और मैनेज करने के लिए किया जाता है। एक DBMS (डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम. के रूप में भी जाना जाता है, यह आपको अपना डेटा ऑर्गनाइज करने में मदद करता है। इसलिए, जब आप कोई एप्लिकेशन रन करते हैं, तो डेटा को डेटाबेस से प्राप्त किया जाता है, मॉडिफाइ किया जाता है और डेटाबेस में वापस स्‍टोर किया जाता है। Oracle, MySQL, Microsoft SQL Server, PostgreSQL, MongoDB और IBM Db2 कुछ लोकप्रिय डेटाबेस हैं।

8. Word Processing Software:

इसका उपयोग टेक्‍स्‍ट को फॉर्मेट करने और हेरफेर करने के लिए किया जाता है, इस प्रकार, मेमो, पत्र, फैक्स और डयॉक्‍यूमेंट बनाते हैं। वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर का उपयोग टेक्स्ट को फॉर्मेट और सुशोभित करने के लिए भी किया जाता है। यह आपको थिसॉरस और पर्यायवाची और विलोम से अलग कई फीचर्स प्रदान करता है। वर्ड आर्ट फीचर्स के साथ, फ़ॉन्ट ऑप्‍शन आपको अपनी पसंद के अनुसार फ़ॉन्ट कलर, इफेक्‍ट और स्‍टाइल बदलने देता है। एरर को चेक करने के लिए ग्रामर और स्‍पेलिंग-चेक ऑप्‍शन भी उपलब्ध हैं।

9. Simulation Software:

सिमुलेशन सॉफ्टवेयर का उपयोग इंजीनियरिंग, शिक्षा, परीक्षण और वीडियो गेम आदि के क्षेत्र में किया जाता है। इसका उपयोग उस वास्तविक सिस्टम पर काम करने के लिए किया जाता हैं, जो अस्वीकार्य, दुर्गम या शायद खतरनाक है। यह एक प्रोग्राम है जो आपको वास्तव में उस ऑपरेशन को किए बिना सिमुलेशन के माध्यम से अध्ययन या निरीक्षण या घटना का निरीक्षण करने देता है। सिमुलेशन के सबसे अच्छे उदाहरण रोबोटिक्स, फ्लाइट सिस्टम और मौसम के पूर्वानुमान आदि के क्षेत्र में हैं।

इनके अलावा, एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर की श्रेणी में कई अन्य हैं जो विशिष्ट उद्देश्यों की सेवा करते हैं।

10. Freeware:

जैसा कि बहुत नाम से संकेत मिलता है, यह मुफ्त उपलब्ध है। आप इसे इंटरनेट से डाउनलोड कर सकते हैं और बिना किसी शुल्क के इसका उपयोग कर सकते हैं। हालाँकि, यह सॉफ़्टवेयर आपको इसे संशोधित करने या इसे वितरित करने के लिए कोई शुल्क नहीं देता है। Adobe Reader और Skype इस सॉफ़्टवेयर के अच्छे उदाहरण हैं।

11. Shareware:

यह एक ट्राइल के आधार पर यूजर्स के लिए नि: शुल्क रूप से वितरित किया जाता है, आमतौर पर सीमित समय की पेशकश के साथ। यूजर्स को पेमेंट करने की अपेक्षा की जाती है यदि वे सॉफ़्टवेयर का उपयोग जारी रखना चाहते हैं। शेयरवेयर के कुछ उदाहरण WinZip और Adobe Acrobat हैं।

12. Productivity Software:

प्रोडक्टिविटी सॉफ्टवेयर एक प्रकार के बिज़नेस सॉफ्टवेयर है जो यूजर्स को उनकी नौकरियों को और अधिक कुशलतापूर्वक करने और काम-संबंधी टास्‍क को समय-समय पर पूरा करने में सहायता करता है। प्रोडक्टिविटी सॉफ्टवेयर इन श्रेणियों में शामिल हैं:

  • Document Creation
  • Database Management
  • Accounting
  • Collaboration

ऐप्‍लीकेशन जिसे कोई ऑर्गनाइज़ेशन अपने समग्र प्रोडक्टिविटी के लिए उपयोग करती है, कभी-कभी उसे सॉफ़्टवेयर या एप्लिकेशन स्टैक के रूप में संदर्भित किया जाता है।

13. Time Management Software

टाइम मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर एक प्रकार का बिज़नेस सॉफ्टवेयर है जो ट्रैक करता है कि किसी व्यक्ति के डिजिटल सिस्टम का उपयोग कैसे किया जाता है, उदाहरण के लिए इसमें यूजर्स कुछ ऐप्‍लीकेशन में कितना समय व्यतीत करता है इसका रिकॉर्ड रखा जाता हैं।

14. Customer Relationship Management

Customer relationship management (CRM) कंपनियों द्वारा उपयोग किए जाने वाले बिज़नेस सॉफ्टवेयर का एक प्रकार है – आम तौर पर इंटिग्रेटेड ऐप्‍लीकेशन के बंडल के माध्यम से – कस्‍टमर डेटा मांगने, समीक्षा करने, स्टोर करने और विश्लेषण करने के लिए, और कस्‍टमर इंटरैक्‍शन को मैनेज करने और सेल्‍स प्रोसेस और प्रासंगिक पार्टनर रिलेशन की सुविधा के लिए।

15. Project Management Software

प्रोजेक्ट मैनेजमेंट (PM) सॉफ्टवेयर एक प्रकार का बिज़नेस सॉफ्टवेयर है जो प्रोजेक्‍ट का प्‍लान बनाने और निष्पादित करने और उन प्रोजेक्‍ट से जुड़े रिसोर्सेस को मैनेज करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

PM सॉफ्टवेयर यूजर्स को शेड्यूलिंग, टास्‍क को असाइन करने, बजट और लागत को मैनेज करने, प्रोग्रेस डयॉक्‍यूमेंट, और रिपोर्टिंग रिजल्‍ट जैसे फंक्‍शन के साथ सहायता करता है।

16. Business Application Software

बिजनेस एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर का एक सबसेट है। ये प्रोग्राम कुछ बिज़नेस टास्‍क को सुविधाजनक बनाने, सटीकता, दक्षता और संचालन की प्रभावशीलता में सुधार के लिए बनाए गए हैं।

बिजनेस एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर प्रोग्राम्स कुछ उद्देश्यों को प्राप्त करते हैं जैसे काम का समय बचाने और प्रोडक्टिविटी में वृद्धि करने के लिए।

नीचे बिजनेस एप्लिकेशन के कुछ लोकप्रिय उदाहरण हैं जिनका उपयोग आमतौर पर ऑर्गनाइज़ेशन द्वारा किया जाता है:

  • Enterprise Resource Planning
  • Customer Relationship Management
  • Project Management Software
  • Business Process Management Software
  • Word Processor
  • Spreadsheet
  • Database
  • Resource Management Software
  • Productivity Software
  • Scheduling Software
  • Time Management Software
  • Educational Software

17. Enterprise Resource Planning:

Enterprise resource planning (ERP) एक प्रकार का बिज़नेस सॉफ्टवेयर है जो आमतौर पर इंटिग्रेटेड ऐप्‍लीकेशन के बंडल के माध्यम से – विभिन्न प्रकार के बिज़नेस ऑपरेशन से प्राप्त डेटा की मांग, समीक्षा, स्टोर और कुशलतापूर्वक विश्लेषण करने के लिए होता है।

18. Communication Software:

कंप्यूटर, ऑडियो, वीडियो या चैट-आधारित माध्यम का उपयोग करके एक-दूसरे से संवाद करने के लिए कनेक्टेड कंप्यूटर को अनुमति देता है।

उदाहरण: MS Net Meeting, IRC, ICQ

19. Database Software:

टेक्‍स्‍ट इनफॉर्मेशन, मेंबरशीप, एड्रेस इत्यादि जैसे डेटा स्टोर करने के लिए प्रयुक्त होता है जो यूजर्स को तदनुसार इनफॉर्मेशन को क्रमबद्ध करने में मदद करता है।

उदाहरण: MS Access, FileMaker Pro

20. Email Programs:

यह सॉफ्टवेयर मुख्य रूप से ईमेल भेजने और प्राप्त करने के लिए उपयोग किया जाता है।

उदाहरण: MS Outlook, Netscape Messenger

21. Open Source:

इस प्रकार का सॉफ़्टवेयर सोर्स कोड के साथ उपलब्ध है जो आपको सॉफ़्टवेयर को मॉडिफाइ करने की अनुमति देता है, और यहां तक कि सॉफ़्टवेयर में फीचर्स भी जोड़ता है। ये या तो मुक्त हो सकते हैं या पेड़ हो सकते हैं। Moodle और Apache वेब सर्वर कुछ उदाहरण हैं।

22. Closed Source:

आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले अधिकांश सॉफ़्टवेयर पैकेज इसी श्रेणी के हैं। ये आमतौर पर पेड़ होते हैं और सोर्स कोड पर बौद्धिक संपदा अधिकार या पेटेंट हैं। यह आमतौर पर प्रतिबंधित उपयोग के साथ आता है।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के कार्य कौन से हैं?

Functions of an Application Software – एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के कार्य

एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर प्रोग्राम बड़ी संख्या में फ़ंक्शन को सुविधाजनक बनाने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। इनमें से कुछ में इनफॉर्मेशन का प्रबंधन, दृश्य निर्माण, डेटा में हेरफेर, संसाधनों का समन्वय और आंकड़ों की गणना करना शामिल है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के बीच क्या अंतर हैं?

Difference Between System Software and Application Software in Hindi:

सिस्टम सॉफ़्टवेयर एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर से अलग कैसे है?

सिस्टम सॉफ्टवेयर एक कंप्यूटर प्रोग्राम है जो कंप्यूटर के हार्डवेयर के साथ-साथ ऐप्‍लीकेशन प्रोग्राम और वास्तविक हार्डवेयर और ऐप्‍लीकेशन के बीच इंटरफेस चलाता है।

सिस्टम सॉफ़्टवेयर का एक उदाहरण एक ऑपरेटिंग सिस्टम है, जो कंप्यूटर पर अन्य सभी प्रोग्राम मैनेज करता है।

एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर के क्या फायदे हैं?

Advantages of Application Software in Hindi:

  1. चूंकि एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर को एक विशिष्ट उद्देश्य के लिए डिज़ाइन किया गया है, यह यूजर्स की आवश्यकताओं को आसानी से पूरा करता है।
  2. चूंकि वे आमतौर पर कस्‍टमाइज़ ऐप्‍लीकेशन होते हैं, इसलिए वायरस के हमलों की संभावना कम होती है। इसका उपयोग करने वाले यूजर एक्‍सेस को रिस्‍ट्रीक्‍ट कर सकते हैं, साथ ही साथ अपने नेटवर्क की रक्षा भी कर सकते हैं।
  3. अधिकांश एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर लाइसेंस प्राप्त होते हैं और इसलिए सुरक्षा कारणों से डेवलपर द्वारा उन्हें नियमित रूप से अपडेट किया जाता है। साथ ही, डेवलपर्स समय-समय पर उत्पन्न होने वाली किसी भी समस्या का ट्रैक भी रखते हैं।

एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर के क्या नुकसान हैं?

Disadvantages of Application Software in Hindi:

  1. विशिष्ट उद्देश्य उन्मुख सॉफ्टवेयर का विकास लागत और समय प्रभावी साबित हो सकता है। सॉफ़्टवेयर को स्वीकार्य नहीं होने पर डेवलपर्स को रिवेन्‍यू प्राप्‍त करने में बाधा का सामना करना पड़ सकता है।
  2. सिंगल पर्पज सॉफ्टवेयर को सामान्य सॉफ्टवेयर के साथ संघर्ष का सामना करना पड़ सकता है। यह कुछ व्यवसाय को प्रभावित कर सकता है।
  3. एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर विकसित करने के लिए डेवलपर और ग्राहक के बीच लगातार संचार आवश्यक है। यह पूरी प्रक्रिया में देरी करता है।
  4. चूंकि उनका उपयोग कई यूजर्स द्वारा किया जाता है, इसलिए वायरस या दुर्भावनापूर्ण सॉफ़्टवेयर से प्रभावित होने की संभावना अधिक होती है।

एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर पर अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर की आवश्यकता क्यों है?

“एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर” या “सॉफ़्टवेयर एप्लिकेशन” (या ऐप्स) एंड यूजर को सिंगल या मल्टिपल कार्य करने में सहायता करते हैं। एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर उद्यम के साथ-साथ गैर-उद्यम एप्लिकेशन में भी अपनी उपस्थिति पाते है। ऑफिस सूट सॉफ्टवेयर प्रोग्राम के एक संग्रह को संदर्भित करता है जो एक दूसरे के साथ इंटरैक्‍ट कर सकते हैं।

क्या सिस्टम को चलाने के लिए एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर जरूरी है?

एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर को चलाने के लिए सिस्टम सॉफ़्टवेयर की आवश्यकता होती है। सिस्टम के प्रभावी कामकाज के लिए सिस्टम सॉफ्टवेयर महत्वपूर्ण है। एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर सिस्टम के कामकाज के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण नहीं है।

क्या सिस्टम सॉफ्टवेयर के बिना एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर होना संभव है?

सॉफ्टवेयर के बिना कंप्यूटर काम नहीं करेगा। सिस्टम सॉफ्टवेयर जिसे ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) भी कहा जाता है, वास्तव में कंप्यूटर को चलाता है। यह सॉफ्टवेयर कंप्यूटर और उसके उपकरणों के सभी कार्यों को नियंत्रित करता है। सभी कंप्यूटर सिस्टम सॉफ्टवेयर का उपयोग करते हैं और सिस्टम सॉफ्टवेयर के बिना एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर काम नहीं करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.