एंड्रॉइड रुट के बारे में सब कुछ जिसे आपको पता होना चाहिए

Android Root Information Hindi

Android Root Information Hindiआपने “फोन को रूट” करने के बारे में सुना होगा और आपने यह भी देखा होगा कि गूगल प्‍ले पर कुछ ऐप्‍स को इंस्‍टॉल करने के लिए फोन को रूट करने कि आवश्‍यक्‍ता होती है| लेकिन यह “रूट” क्‍या है? क्‍या आपको अपने फोन को रूट करना चाहिए? फोन को रूट करने से क्‍या होता है? चलो पता करते हैं!

हम एंड्रॉइड को बहुत पसंद करते है, लेकिन अपने फोन को रूट करने से आउट ऑफ द बॉक्‍स जाकर आप बहुत कुछ कर सकते है – चाहे वह वायरलेस टिथ‍रिंग हो, ओवरक्‍लॉकिंग से स्‍पीड को बढ़ना हो या थिम्‍स से फोन को कस्टमाइज़ करना हो|

यह गाइड सिर्फ आपके एंड्रॉइड के बारें में नॉलेज को बढ़ने के लिए है| इस बात से हमेशा सावधान हो जाइए कि किसी डिवाइस को रूट करने के लिए बहुत नॉलेज और स्‍कील की जरूरत होती है| इस पोस्‍ट का कतई यह मतलब नहीं है कि हम एंड्रॉइड रूट का समर्थन करते हैं और हम आपको आपके एंड्रॉइड को रूट करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं।

 

What is Rooting?

आपका एंड्रॉइड फोन लिनक्स परमिशन और फाइल सिस्‍टम ओनरशिप का उपयोग करता है। आप एक यूजर है और आपको इन परमिशन के आधार पर कुछ बातें करने के लिए परमिशन होती है| जो ऐप्‍स आप इंस्‍टॉल करते है, उन्‍हे एक यूजर आईडी दिया जाता है और उन्‍हे भी कुछ बातें करने के लिए परमिशन होती है|

रूट, ऑपरेटिंग सिस्टम को अनलॉक करता है, जिससे आपको किसी भी फाइल, ऐप्‍स या ओएस के साथ कुछ भी करने कि परमिशन मिल जाती है| इसमें वह सभी बाते शामिल हो जाती है जो हम करना चाहते, जैसे आप अनएप्रूव्ड ऐप्‍स को इंस्‍टॉल कर सकते है, अनचाहे प्रोग्राम्‍स को डिलीट कर सकते है, ओएस को अपडेट कर सकते है, फर्मवेयर को अपडेट कर सकते है, प्रोसेसर को ओवरक्‍लॉक या अंडरक्‍लॉक कर सकते है|

संक्षेप में रूट एंड्रॉइड को हॅक करने जैसा है, ताकि आप एंड्रॉइड ओए पर पूर्ण नियंत्रण प्राप्त कर सकते हैं| आप हिडन फीचर्स को अनलॉक कर सकते है, कुछ भी एड कर सकते है, रिमूव कर सकते है, फोन के किसी भी फंक्‍शन को एक्‍सेस कर सकते है जिसका पहले आपको एक्‍सेस नही था|

 

Tech Terms Of Rooting:

अगर आपको रूटींग की प्रोसेस के बारे में अधिक जानना है, तो आपको यह टर्म्‍स कंफ्यूज कर सकते है| यहाँ सबसे महत्वपूर्ण टर्म्‍स का संक्षेप में वर्णन है| यहाँ हर एक कान्सेप्ट को विस्‍तार से परिभाषीत करने का इरादा नहीं है, लेकिन सिर्फ स्पष्टीकरण है जो समझने के लिए आसान है|

1) Bootloader:

डिवाइस को रूट करने से पहले, आपको बूटलोडर अनलॉक करना होगा। बूटलोडर कोड कि एक लाइन होता है, जो एंड्रॉइड ओएस सिस्‍टम बुट होने से पहले एक्सीक्यूट होता है| बूटलोडर को अनलॉक करने से फोन सीधे रूट नहीं होगा, लेकिन इससे आपको रूट / फ्लैश कस्टम रोम अनुमति मिल जाएगी|

 

2) Recovery :

एक बार बूटलोडर अनलॉक होने पर आपको कस्‍टम रिकवरी करने कि जरूरत होगी| रिकवरी एक सॉफ्टवेयर है, जो बैकअप, ट्वीक और फ्लैश रोम करने देता है। रिकवरी सॉफ्टवेयर के वर्जन के आधार पर आपको कुछ अतिरिक्त स्‍टेप्‍स करने पड़ सकते है|

आपके फोन कि डिफ़ॉल्ट रिकवरी ज्यादा कुछ नहीं कर सकती, लेकिन आप ClockworkMod या TWRP जैसे लोकप्रिय एंड्रॉइड रिकवरी सॉफ्टवेयर कि मदद से कस्टम रिकवरी फ्लैश कर सकते हैं|

 

3) Nandroid (Backup):

कस्‍टम रिवकरी इंस्‍टॉल होने के बाद में, आप बैकअप (Nandroid) ले सकते है|

थर्ड पार्टी रिकवरी मॉड्यूल से, आप अपने फोन का बैकअप ले सकते हैं। यह फोन कि एक सिस्‍टम इमेज होती है और यह फोन का पूर्ण बैकअप होता है|

 

4) Wipe:

फोन का बैकअप लेने के बाद, आप बिना डरे फोन को रूट कर सकते है, क्‍योकि इस बैकअप को कभी भी रिस्‍टोर किया जा सकता है| अब आप फोन को wipe कर सकते है| Wiping याने फोन से सभी यूजर डेटा को डिलीट करना, इसे फैक्‍टरी स्‍टेट में रिसेट करना|

 

5) Flashing:

फ़्लैशींग कस्‍टम रिकवरी के माध्‍यम से सॉफ्टवेयर या कोड इंस्‍टॉल करने की प्रोसेस है|

 

6) ROM:

ROM एंड्रॉइड का एक मॉडिफाइड वर्जन है। इसमें अतिरिक्त फीचर्स, अलग लूक, स्‍पीड या फिर एंड्रॉइड वर्जन होता है जिसे अबतक रिलिज नहीं किया गया|

 

7) Brick:

जब अपने फोन को बैड रूटींग या फ़्लैशींग प्रोसेस से रिकवर नहीं कर पाते, तो इसे Brick कहा जाता है| Bricking आमतौर पर तब होता है, जब आप इन्स्ट्रक्शन का सावधानी से पालन नहीं करते या डिवाइस रूट नहीं हो पाता|

 

8) Overclock / Underclock:

इसका मतलब यह है कि जब आप कस्‍टम रॉम इंस्‍टॉल करते है, तब आप फोन के प्रोसेसर की स्‍पीड को स्‍लो या स्‍पीड बढ़ा सकते है| ज्यादातर फोन कि एक निश्चित प्रोसेसर स्‍पीड होती है, लकिन अगर आप क्‍लॉक करते है, तो आप इसकी स्‍पीड को बढ़ा सकते है| Overclocking से फोन तो फास्‍ट होगा, लेकिन इसकी बैटरी लाइफ कम हो जाएगी|

 

Advantage And Disadvantage Of Rooting:

रूट करना चाहिए या नहीं यह सवाल है| किसी निष्कर्ष पर जाने से पहले आपको रूटींग के बारें में सब कुछ समझना होगा|

Advantage Of Rooting:

रूट करने पर आप हिडन फीचर्स को अनलॉक कर सकते है|

Incompatible ऐप्‍स को इंस्‍टॉल कर सकते है|

कस्‍टम रॉम और कर्नेल|

प्रिइंस्‍टॉल ऐप्‍स को रिमूव कर सकते है|

किसी ऐप्‍स के एडस् को ब्‍लॉक कर सकते है|

लेटेस्‍ट ओएस इंस्‍टॉल कर सकते है|

संक्षेप में, रूटीग आपको एंड्रॉइड का मास्‍टर बना देगा| एंड्रॉइड डिवाइस पर सब कुछ ऑटोमेट कर सकते है|

 

Disadvantages of Rooting:

रूट से Brick का खतरा रहता है, अगर फोन काम नहीं कर रहा है, तो आपका फोन bricked हो गया है|

सिक्युरिटी – अनजाने मालिसियस सॉफ्टवेयर इंस्‍टॉल करने कि हमेशा रिस्‍क रहती है|

आपके फोन कि वारंटी खत्म हो जाएगी|

रूट करने पर आप फोन में लेटेस्‍ट ओएस इंस्‍टॉल तो कर लेते है, लेकिन कई बार ऑटोमेटिक अपडेट बंद हो जाते है|

 

Should I Root My Android?

हाँ, नहीं, कह नहीं सकते| सभी तीनों जवाब पूरी तरह से सही हैं। लोगों के पास कई कारण होते है, उनके डिवाइस को रूट करने के लिए| कुछ सिर्फ इसलिए करते है, क्‍योकि वे सेाचते है कि उन्‍होने फोन को खरीदा है तो वे जा चाहे कर सकते है| अन्‍य कुछ ऐसी बाते एड करना चाहते है, जो फोन में नहीं होती| कुछ लोग उनके फोन के सॉफ्टवेयर से नफरत करते है और इसे बदलना चाहते हैं| ज्यादातर, लोगों को अपने फोन को रूट करना चाहते है, क्योंकि वे केवल उस फोन पर पहले से मौजूद अतिरिक्त ऐप्‍स से छुटकारा पाना चाहते हैं।

ऐसे कई कारण है, जिनकी वजह से कोई अपने फोन को रूट करना चाहता है|

 

How To Root My Device?

दुर्भाग्य से, यहाँ कोई आसान तरीका नहीं है, किसी को यह सिखाने का कि एंड्रॉइड को कैसे रूट किया जाए| हर एक डिवाइस के लिए रूटींग कि अगल मेथड है| अगर आपको रूट के बारें में अधिक जानना है, तो XDA Developer Forums पर जाएं|

या एक अन्य मेथड कि गूगल में अपने मॉडल फोन और रूट (उदा “HTC One E9 Root”) सर्च करें| गूड लक!

मुझे आशा है कि फोन को रूट करने के लिए यह जानकारी आपके लिए सहायक होगी| अगर आपको कुछ सवाल है, तो निचें कमेंटस् में जरूर लिखे|

 


Android Root Information Hindi

Now Is The Time For You To Know The Truth About Android Rooting

एंड्रॉइड रुट के बारे में सब कुछ जिसे आपको पता होना चाहिए

Android Root Information Hindi. This is the basic guide for Android Rooting. Here you learn What is Root, Do You need to Root your Android, What happens when you root your Android Device. Android Root Information Hindi. Android Root Information Hindi. Android Root Information Hindi.